आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड 2022: ऑनलाइन कैसे निकाले/ बनवाएं/ डाउनलोड करे

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड ऑनलाइन अप्लाई | Ayushman Bharat Golden Card Online Download | आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड लिस्ट | Ayushman Bharat Golden Card Online Apply |

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा देश के नागरिकों के लिए आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड की शुरुआत की गई है। इस कार्ड के माध्यम से भारत का कोई भी नागरिक किसी भी निजी एवं सरकारी अस्पताल में इलाज मुफ्त करवा सकता है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड 2022 से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे की योजना का उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज़, आवेदन की प्रक्रिया स्पष्ट करने जा रहे हैं।‌ Ayushman Bharat Golden Card 2022 से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको हमारा आर्टिकल अंत तक विस्तार पूर्वक पढ़ना होगा।

Table of Contents

Ayushman Bharat Golden Card

इस कार्ड की शुरुआत भारत सरकार द्वारा की गई है आयुष्मान कार्ड का लाभ केवल वही लाभार्थी उठा सकते हैं जिनका नाम आयुष्मान भारत लाभार्थी सूची में आएगा। Ayushman Bharat Golden Card का लाभ देश का प्रत्येक नागरिक उठा सकता है। इस कार्ड के द्वारा जो नागरिक पीड़ित हो और उसे अपना इलाज किसी सरकारी एवं निजी अस्पताल में कराना हो तो वह इस कार्ड का उपयोग कर कर मुफ्त में अपना इलाज करवा सकता है। देश के आर्थिक रूप से कमजोर लाभार्थी इस कार्ड के द्वारा 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज करवा सकता है।

  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए नागरिक को पहले आयुष्मान भारत लाभार्थी सूची में अपना नाम दर्ज कराना होगा।
  • आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी को किसी प्रकार का पंजीकरण कराना आवश्यक नहीं है।
  • इच्छुक लाभार्थी अपने नजदीकी जन सेवा केंद्र में जाकर इस कार्ड को बनवा सकता है।
आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड 2022

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड के मुख्य तथ्य

इस योजना के मुख्य तथ्य निम्नलिखित हैं:-

योजना का नामआयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड
किसके द्वारा शुरू की गईभारत सरकार
योजना का उद्देश्यदेश के नागरिकों का मुफ्त में इलाज करवाना
योजना का लाभभारत के नागरिक‌ मुफ्त में अपना इलाज करा सकेंगे
योजना के लाभार्थीदेश के नागरिक
सूची का नामआयुष्मान भारत लाभार्थी सूची
निर्धारित राशि5 लाख रुपये
टोल फ्री नंबर14555
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटwww.pmjay.gov.in

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड का उद्देश्य

जैसा कि आप सब जानते हैं कि हमारा भारत एक विकासशील देश है। हमारे भारत में कई सारे लोग ऐसे हैं जिनके आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है। आर्थिक स्थिति अच्छी न होने के कारण यह लोग अपना जीवन सही तरीके से व्यतीत नहीं कर पाते। यदि कोई बीमार हो जाता है तो वह अपनी आर्थिक स्थिति के कमजोर होने के कारण अपना इलाज किसी बड़े अस्पताल में नहीं करवा पाता। इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार द्वारा Ayushman Bharat Golden Card का शुभारंभ किया गया है। 

  • इस कार्ड के माध्यम से भारत की जनता को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। 
  • आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड का प्रयोग किसी भी अस्पता‌ल‌ में किया जा सकता है।
  • इस वित्तीय सहायता से वह अपना इलाज किसी बड़ा अस्पताल में चाहे वह निजी हो या फिर सरकारी सरलता पूर्वक करवा सकेंगे। 

अब घर बैठे बन सकता है आयुष्मान गोल्डन कार्ड

देश के व सभी लोग जो आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनवाना चाहते हैं उन्हें अब वसुधा केंद्र और पंचायत कार्यालय के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। सरकार द्वारा इस सुविधा के लिए एक आधिकारिक पोर्टल को लांच किया गया है। अब देश के सभी लोग आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए इस वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। आवेदन के बाद में घर बैठे ही आयुष्मान गोल्डन कार्ड को डाउनलोड कर उसकी सुविधाओं का लाभ प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही साथ विद्यासागर जी के द्वारा बताया गया है कि इस पोर्टल के माध्यम से वह सभी लोग अपना नाम भी देख सकते हैं जिनके आयुष्मान गोल्डन कार्ड बन चुके हैं। 

आयुष्मान गोल्डन कार्ड से होगा कोरोना का मुफ्त इलाज

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि देश के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं सरल और मुफ्त तरीके से मुहैया कराने हेतु केंद्र सरकार द्वारा आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड की शुरुआत की गई है। इस कार्ड के माध्यम से लोगों को 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज प्राप्त होगा। हाल ही में ही केंद्र सरकार द्वारा बताया गया है कि इस योजना के तहत देश के गरीब वंचित और कमजोर लोग अपना कोरोनावायरस संक्रमण का इलाज मुफ्त में करवा सकते हैं। वह सभी व्यक्ति जो कोरोनावायरस संक्रमण से गुजर रहे हैं वह इस गोल्डन कार्ड का उपयोग कर अपना इलाज आसानी से अस्पतालों में करवा सकेंगे।

लाभार्थियों को प्राप्त होगा कैशलेस उपचार

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने हेतु लाभार्थी को किसी भी प्रकार का पंजीकरण एवं नामांकन कराने की आवश्यकता नहीं है। लाभार्थी सीधा सूचीबद्ध अस्पताल में जाकर अपना कैशलेस उपचार प्राप्त कर सकता है। प्रत्येक अस्पताल में एक आरोग्य मित्र मौजूद होता है जो कि इस योजना का लाभ उन लोगों तक पहुंचाता है जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं। आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन का उद्देश्य स्वास्थ्य परिस्थितिकी तंत्र के भीतर स्वास्थ्य डेटा की इंटर ऑपरेबिलिटी को सक्षम करने वाला एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म बनाना है। जिसके माध्यम से प्रत्येक नागरिक का इलेक्ट्रॉनिक स्वास्थ्य रिकॉर्ड बनाया जा सकेगा। लाभार्थी को केवल उस आरोग्य मित्र के पास जाकर अपने प्रस्ताव रखना होगा एवं वह उन्हें कैशलेस उपचार प्राप्त करवा देगा।

कैंसर, मधुमेह, हृदय रोग और स्ट्रोक की रोकथाम के लिए आर्थिक सहायता

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड के अंतर्गत कैंसर, मधुमेह, हृदय रोग और स्ट्रोक की रोकथाम के लिए भी आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। राष्ट्रीय कार्यक्रम के अंतर्गत राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों को 561178.07 लाख रुपए प्रदान किए गए है। साथ ही साथ इस योजना के अंतर्गत एक महत्वपूर्ण कदम और उठाया गया है। इस योजना के अंतर्गत उन सभी लोगों की स्क्रीनिंग की जाएगी जो 30 वर्ष से ऊपर है एवं उक्त रक्तचाप, कैंसर जैसी बीमारियों से पीड़ित है। एनपीसीडीसीएस के तहत सामान्य एनसीडी का इलाज सुनिश्चित करने के लिए जिला स्तर पर 677 एनसीडी क्लीनिक, 187 जिला कार्डियक केयर यूनिट, 266 जिला डे केयर सेंटर और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र स्टार पर 5392 एनसीडी क्लीनिक स्थापित किए गए हैं।

आयुष्मान पखवाड़ा कार्यक्रम के माध्यम से किया गया आग्रह

जैसे कि आप सब जानते हैं कि इस योजना का लाभ पूरे भारत में कोई भी व्यक्ति उठा सकता है। हरियाणा में आयुष्मान पकवाड़ा नामक एक कार्यक्रम आयोजित किया गया है जिसके अंतर्गत देश के नागरिकों को इस बारे में जागरूक कर आ जा रहा है कि वह भी अपना आयुष्मान कार्ड बनवा लेता कि वह भी इस सफल योजना का लाभ उठा सकें। यह कार्यक्रम 20 सितंबर को आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम को 15 सितंबर से 30 सितंबर तक राज्य के नागरिकों के लिए आयोजित किया जा रहा है।

जम्मू एवं कश्मीर में पिछले 6 महीने में बनवाए गए 19 लाख कार्ड

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना‌ द्वारा देश के प्रत्येक राज्य में लाभ पहुंचाया जा रहा है। इसी प्रकार जम्मू एवं कश्मीर में पिछले 6 महीने में अब तक 1900000 कार्ड बनवाए जा चुके हैं। इस बात की जानकारी भारत सरकार की नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के माध्यम से प्रदान की गई है। इस योजना को 26 दिसंबर 2020 को हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा जम्मू कश्मीर में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना सेहत के नाम से आरंभ किया गया था। इस योजना का लाभ जम्मू कश्मीर के सभी नागरिक उठा सकते हैं चाहे वह सरकारी नौकर हो या पेंशनर हो। अस्पताल में भर्ती होने के 3 दिन पहले एवं 15 दिन बाद तक के खर्च का प्रावधान इस योजना के अंतर्गत निर्धारित किया गया है।

आम आदमी पार्टी द्वारा हुआ 900000 लाभार्थियों का सत्यापन

आम आदमी पार्टी द्वारा एक अभियान की शुरुआत की जा रही है। इस अभियान का नाम आयुष्मान अभियान है। यह अभियान आयुष्मान भारत आरोग्य कार्ड योजना के अंतर्गत शुरू किया जा रहा है। आम आदमी पार्टी द्वारा इस अभियान के माध्यम से लोगों को आयुष्मान कार्ड बनवाने हेतु जागरूक किया जाएगा। इस कार्ड के फायदे बताए जाएंगे ताकि वह भी जल्द से जल्द अपना कार्ड बनवा ले।

इस समय यह अभियान पंजाब, जम्मू-कश्मीर, हरियाणा, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, उत्तराखंड तथा अन्य केंद्र शासित प्रदेशों में संचालित किया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों का सत्यापन किया जाता है जिससे कि उनके आयुष्मान कार्ड बनने की प्रक्रिया शुरू की जाती है।

आयुष्मान भारत कार्ड कार्ड बनवाना हुआ फ्री

अबला भारती आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बिना किसी राशि खर्च किए बनवा सकते हैं। इस कार्ड को बनवाना अब निशुल्क कर दिया गया है।इस योजना के अंतर्गत भारत सरकार द्वारा पात्रता कार्ड को फ्री कर दिया है। जिसके लिए ₹30 शुल्क का भुगतान करना पड़ता था। इस फैसले से गरीब परिवारों को काफी राहत मिलेगी। आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी पात्रता कार्ड बनवाने के लिए सामान्य सेवा केंद्र से संपर्क करते थे और ग्रामीण स्तर के ऑपरेटर को ₹30 का भुगतान करते थे।जिसके बाद उन्हें कार्ड प्राप्त होता था। लेकिन अब यह कार्ड प्राप्त करना पूरी तरह से फ्री है। लेकिन यदि आपको डुप्लीकेट कार्ड बनवाना है या आपको कार्ड को दोबारा से प्रिंट करना है तो आपको ₹15 का भुगतान करना होगा। यह कार्ड लाभार्थियों को बायोमेट्रिक ऑथेंटिकेशन के बाद प्रदान किया जाएगा।

एनएचए का सीएससी से समझौता

इस योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी को आयुष्मान कार्ड से पहले पीवीसी कार्ड बनवाना अनिवार्य है। पीवीसी कार्ड बनवाने का मकसद यह है कि इस कार्ड के द्वारा अधिकारियों को लाभार्थी की पहचान करने में सरलता होगी। नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के द्वारा सीएससी से समझौता किया गया है कि जब आयुष्मान कार्ड जारी होगा तो पहली दफा में वह एन एच ए को रु 20 देगी। इस समझौते से यह फायदा होगा कि हमारे देश में आयुष्मान कार्ड बनने की गति तेज होगी। समझौते का एक उद्देश्य यह भी है कि इस योजना के अंतर्गत पीवीसी आयुष्मान कार्ड तैयार किया जा सके। यह समझौता भारत सरकार द्वारा किया गया एक महत्वपूर्ण समझौता है।

किसी और के नाम कार्ड जारी होने पर यहां दर्ज कराएं शिकायत

यदि किसी लाभार्थी का कार्ड किसी और लाभार्थी के नाम से जारी कर दिया जाता है तो वह इस चीज की शिकायत दर्ज कर सकता है। शिकायत दर्ज करने हेतु लाभार्थी को दिया गया चरणों का पालन करना होगा:-

  • शिकायत करने के लिए आपके पास कोई प्रमाणित दस्तावेज उपलब्ध होना अनिवार्य है जैसे कि प्रधानमंत्री जी का पत्र या प्लास्टिक कार्ड। टोल फ्री नंबर 180018004444 तथा 14555 है।
  • इसके अलावा योजना से संबंधित दस्तावेज लेकर लाभार्थी जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय भी जा सकता है। कार्यालय में लाभार्थी को डिस्ट्रिक्ट इंप्लीमेंटेशन यूनिट के पास अपनी शिकायत दर्ज करानी होगी। इस तरह की शिकायतें आने पर मामले की जांच की जाएगी एवं दस्तावेजों का सत्यापन किया जाएगा।
  • सत्यापन के बाद शिकायत शासन को भेज दि जाएगी। शासन स्तर से अनुमति प्राप्त होने के बाद लाभार्थी द्वारा सूचीबद्ध चिकित्सालय या जन सेवा केंद्र के माध्यम से आयुष्मान कार्ड बनवा सकता।

आयुष्मान भारत योजना सूचीबद्ध अस्पतालों से संबंधित जानकारी

जैसा कि आप सब जानते हैं कि इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए लाभार्थी को किसी भी प्रकार के नामांकन की एवं पंजीकरण की आवश्यकता नहीं है क्योंकि यह योजना एक पात्रता आधारित योजना है। भारती किसी भी सूचीबद्ध अस्पताल में जाकर भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को अस्पताल में अपना आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, मनरेगा जॉब कार्ड अथवा सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त फोटो पहचान पत्र ले जाना होगा। जिसके माध्यम से लाभार्थी की पात्रता सुनिश्चित की जाएगी। सूचीबद्ध अस्पतालों की सूची भी हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके प्राप्त की जा सकती है।

आम आदमी पार्टी द्वारा सत्यापित लाभार्थियों की संख्या

आम आदमी पार्टी द्वारा किए गए सत्यापन की संख्या निम्नलिखित हैं:-

राज्य का नामसंख्या
छत्तीसगढ़6 लाख
मध्य प्रदेश1,23,488
उत्तर प्रदेश80,377
पंजाब38,488
उत्तराखंड7,460
हरियाणा8,247
बिहार16,070

Benefits Of Ayushman Bharat Golden Card

इस योजना के लाभ निम्नलिखित हैं:-

  • यह योजना भारत सरकार द्वारा आर्थिक रूप से अक्षम लोगों के लिए शुरू की गई है।
  • Ayushman Bharat Golden Card की सहायता से भारत के नागरिक अपना उपचार मुफ्त में करवा सकते हैं।
  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी अपना इलाज किसी भी सरकारी एवं निजी अस्पताल में करवा सकता है।
  • लाभार्थी ₹500000 तक का इलाज मुफ्त में करवा सकता है।
  • यह कार्ड लाभार्थी अपने किसी भी नजदीकी जन सेवा केंद्र में जाकर बना सकता है।
  • भारत सरकार द्वारा यह योजना उन लोगों के लिए शुरू की गई है जो आर्थिक रूप से असमर्थ है।
  • इस योजना का लाभ देश का प्रत्येक नागरिक उठा सकता है।
  • आम आदमी पार्टी द्वारा आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड के अंतर्गत 900000 लोगों का सत्यापन किया गया।
  • इस समय यह अभियान पंजाब, जम्मू-कश्मीर, हरियाणा,मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, छत्तीसगढ़, बिहार, उत्तराखंड तथा अन्य केंद्र शासित प्रदेशों में संचालित किया जा रहा है। 
  • इस अभियान के अंतर्गत ग्रामीण एवं पिछड़े हिस्सों में रहने वाले लाभार्थियों को आयुष्मान योजना की जानकारी प्रदान की जा रही है। 

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड की विशेषताएं

इस योजना की विशेषताएं निम्नलिखित हैं:-

  • इस अभियान के अंतर्गत 25 मार्च 2021 को 9.42 लाख आयुष्मान लाभार्थियों का सत्यापन किया गया है। 
  • आम आदमी पार्टी द्वारा पहली बार इस योजना के अंतर्गत 1 दिन में इतने लोगों का सत्यापन किया गया है।
  • केवल छत्तीसगढ़ से ही 6 लाख से ज्यादा लाभार्थियों का सत्यापन किया गया है।
  • आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड के अंतर्गत लाभार्थियों को ₹500000 तक का हेल्थ इंश्योरेंस कवर प्रदान किया जाता है। 
  • नेशनल हेल्थ अथॉरिटी ने सीएससी के साथ समझौता किया है। जिसके अंतर्गत यह तय किया गया है कि पहली बार आयुष्मान कार्ड जारी होने पर नेशनल हेल्थ अथॉरिटी सीएससी को ₹20 का भुगतान करेगी।
  • इस योजना को हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा वर्ष 2018 में राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण मिशन के अंतर्गत  शुरू की गयी है।
  • देश के गरीब नागरिक इन सभी बीमारियों का इलाज योजना के तहत अपना गोल्डन कार्ड बनवाकर  निजी और सरकारी हॉस्पिटलों में जाकर  मुफ्त में करवा सकते है  
  •  इस योजना के तहत पहले 1350 उपचार जैसे सर्जरी ,मेडिकल डे केयर ट्रीटमेंट ,डायग्रोस्टिक आदि पैकेज  को शामिल किया गया था लेकिन अब इसमें 19 अन्य आयुर्वेदिक ,होम्योपैथिक ,योग ,यूनानी उपचार पैकेज को शामिल कर लिया गया है।
  • योजना के तहत सालाना  देश के लगभग  10 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को स्वास्थ्य बीमा मिल रहा है |
  • Ayushman Bharat Golden Card को लाभार्थी सीएससी केंद्र और यूटीआईआईटीएसएल केंद्र से भी निशुल्क प्राप्त किया जा सकता है।

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड की पात्रता

वह सभी व्यक्ति को इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं तो उन्हें नीचे दिए गए पात्रता मानदंड को पूरा करना होगा:-

  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने हेतु लाभार्थी को भारत का मूल निवासी होना अनिवार्य है।
  • लाभार्थी गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करता हो।
  • सरकार द्वारा तय किए गए मापदंडों के अनुसार ही आपको इस योजना का लाभ मिलेगा।

Important Documents

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड के अंतर्गत आवेदन करने हेतु मुख्य दस्तावेज निम्नलिखित है:-

  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड 2022 बनवाने की प्रक्रिया

इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने हेतु लाभार्थी को दिए गए चरणों का पालन करना अनिवार्य है:-

जनसेवा केंद्र द्वारा

लाभार्थी अपने नजदीकी जन सेवा केंद्र में जाकर भी आयुष्मान कार्ड बनवा सकता है जिसके लिए उसे दिए गए चरणों का पालन करना अनिवार्य है:-

  • सर्वप्रथम आवेदक को अपने नज़दीकी जनसेवा केंद्र जाना होगा जन सेवा केंद्र वाले आपका नाम आयुष्मान भारत योजना की सूची में देखेंगे |
  • अगर आपका नाम आयुष्मान भारत योजना सूची में उपलब्ध होगा तो उन्हें गोल्डन कार्ड दिया जायेगा |
  • इसके बाद आपको अपने सभी दस्तावेज़ों जैसे आधार कार्ड ,राशन पत्रिका ,पंजीकृत मोबाइल नंबर आदि को जन सेवा केंद्र के एजेंट को ले जाकर दे दे |
  • जिससे एजेंट आपका सफल पंजीकरण करेगा और आपको पंजीकरण आईडी प्रदान करेगा |
  • फिर जनसेवा केंद्र  वाले आपको 10 से 15 दिनों में आयुष्मान कार्ड प्रदान करेंगे और आपको गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए 30 रूपये की फीस देनी होगी |

पंजीकृत और निजी हॉस्पिटलों के द्वारा

लाभार्थी अपना कार्ड पंजीकृत एवं निजी अस्पतालों द्वारा भी बना सकता है। जिसके लिए उसे दिए गए चरणों का पालन करना होगा:-

  • सर्वप्रथम आपको अपने नज़दीकी निजी या सरकारी अस्पतालों में अपने दस्तावेज़ों जैसे आधार कार्ड ,राशन पत्रिका ,पंजीकृत मोबाइल नंबर आदि  के साथ जाना होगा |
  • इसके बाद आपका नाम जन आरोग्य योजना की सूची में जाँचा जायेगा |
  • इस सूची में नाम आने के बाद ही आपको आयुष्मान कार्ड प्रदान किया जायेगा |

आयुष्मान गोल्डन कार्ड के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनवाना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • आयुष्मान गोल्डन कार्ड के लिए आवेदन करने हेतु आपको नेशनल हेल्थ अथॉरिटी के आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
आयुष्मान गोल्डन कार्ड के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Register/ Sign In के विकल्प पर क्लिक करना है।
आयुष्मान गोल्डन कार्ड के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा।
  • इस पेज पर आपको For Registration Click Here के विकल्प पर क्लिक करना है।
आयुष्मान गोल्डन कार्ड के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर और आधार नंबर दर्ज करना है।
  • दर्ज करने के बाद आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आपके सामने आवेदन पत्र खुलकर आएगा।
  • इस पत्र में पूछी गई सभी जानकारी आपको ध्यान पूर्वक दर्ज करनी है।
  • सभी जानकारियां दर्ज करने के बाद आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आप आयुष्मान गोल्डन कार्ड के लिए आवेदन कर सकते हैं।

आयुष्मान गोल्डन कार्ड डाउनलोड करने की प्रक्रिया

वह व्यक्ति जो गोल्डन कार्ड डाउनलोड करना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • गोल्डन कार्ड डाउनलोड करने हेतु आपको नेशनल हेल्थ अथॉरिटी की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको Download Your Ayushman Card के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Download Card के विकल्प पर क्लिक करना है।
आयुष्मान गोल्डन कार्ड डाउनलोड करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना है।
  • दर्ज करने के बाद साइन इन के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आपके सामने आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड खुलकर आएगा।
  • इस कार्ड को आप डाउनलोड के बटन पर क्लिक कर डाउनलोड कर सकते हैं।

Leave a Comment