|PMJAY List| आयुष्मान भारत योजना लिस्ट 2022: PM Jan Arogya Yojana List

PM Jan Arogya Yojana List | आयुष्मान भारत योजना लिस्ट | Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana Beneficiary List | आयुष्मान भारत योजना लिस्ट कैसे देखें | PM-JAY Check Beneficiary List | Ayushman Bharat Jan Arogya List |

केंद्र सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना सूची को ऑनलाइन पोर्टल पर जारी कर दिया गया है देश के जो इच्छुक नागरिक अपना नाम प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY) में खोजना चाहते हैं उन्हें इस योजना की अधिकारिक वेबसाइट (pmjay.gov.in) पर जाकर अपने नाम की जांच करनी होगी। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से आयुष्मान भारत योजना लिस्ट में नाम कैसे देखें, पूरी प्रक्रिया स्पष्ट करने जा रहे हैं। Ayushman Bharat Yojana List से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने हेतु हमारे इस लेख को विस्तार पूर्वक पढ़ें।

Table of Contents

About Ayushman Bharat Yojana List

आयुष्मान भारत योजना लिस्ट को केंद्र सरकार द्वारा इस योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जारी कर दिया गया है। इस सूची में जिन नागरिकों का नाम शामिल होगा उन्हें केंद्र सरकार द्वारा 5 रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाएगा। देश के गरीब नागरिक स्वास्थ्य बीमा का उपयोग करके अपनी बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज आसानी से करा सकते हैं। यदि आपने भी प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आवेदन किया है तथा आप अपना नाम Ayushman Bharat Yojana List मैं खोजना चाहते हैं तो आपको इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपने नाम की जांच करनी होगी।

  • देश के लोगों को अपना नाम खोजने के लिए कहीं जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी वह घर बैठे ही इंटरनेट के माध्यम से इसकी अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना नाम खोज सकते हैं।
  • जिन नागरिकों नाम Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana Beneficiary List में आएगा उन्हें सरकार द्वारा निशुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई।
  • इस योजना के माध्यम से देश के गरीब लोगों की मृत्यु दर में कमी आएगी
  • Ayushman Bharat Yojana List मैं जिन लोगों का नाम शामिल होगा अपना इलाज निशुल्क करा सकते हैं।
आयुष्मान भारत योजना लिस्ट 2022: Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana Beneficiary List

आयुष्मान भारत योजना लिस्ट के मुख्य तथ्य

इस योजना के तहत मुख्य तथ्य कुछ इस प्रकार है:-

योजना का नामआयुष्मान भारत योजना लिस्ट 2022
किसके द्वारा जारी की गईकेंद्र सरकार द्वारा
आरंभ तिथि14 अप्रैल 2018
योजना के लाभार्थीदेश के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग
योजना का उद्देश्यनिशुल्क स्वास्थ्य संबंधित सुविधाएं उपलब्ध कराना
योजना का लाभगंभीर बीमारी के कारण होने वाली मृत्यु में कमी आएगी
स्वास्थ्य बीमा5 लाख रुपये
कुल बीमारियों का इलाज1350
योजना का प्रकारकेंद्र सरकार योजना
लाभार्थियों की संख्या10 लाख लाभार्थी
उपलब्ध अस्पतालसरकारी तथा निजी स्वास्थ्य केंद्र
टोल फ्री नंबर14555/ 1800111565
आवेदन का प्रकारऑफलाइन
पात्रता जांच करने की प्रक्रियाऑनलाइन
सूची देखने की प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटpmjay.gov.in
आयुष्मान भारत योजना लिस्ट

आयुष्मान भारत योजना

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना लिस्ट का उद्देश्य

जैसे कि हम सब जानते हैं कि Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana Beneficiary List को केंद्र सरकार द्वारा ऑनलाइन जारी कर दिया गया है। इस सूची को ऑनलाइन जारी करने के निम्नलिखित उद्देश्य कुछ इस प्रकार है

  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य लिस्ट को ऑनलाइन जारी करने का मुख्य उद्देश्य है कि देश के नागरिकों को अपना नाम देखने के लिए विभिन्न सरकारी कार्यालयों के चक्कर नहीं काटने पड़े
  • वह घर बैठे ही इंटरनेट के माध्यम से अपना नाम इस सूची में खोज सकते हैं।
  • आयुष्मान भारत योजना का मुख्य उद्देश्य है के देश के गरीब नागरिको के समय की बचत हो एवं उनका पैसा बर्बाद ना हो।
  • इस योजना के अंतर्गत मिलने वाले स्वास्थ्य बीमा के माध्यम से देश के गरीब नागरिक अपनी बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज निशुल्क करा सकते हैं।

उत्तर प्रदेश के 2874 अस्पताल सूचीबद्ध हुए

प्रदेशभर के गरीब लोगों को स्वास्थ्य देखभाल पहुंचाने हेतु केंद्र सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराया जाता है ताकि वह अपना इलाज आसानी से करवा सकें। हाल ही में ही उत्तर प्रदेश के मेडिकल हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर के सचिव प्रांजल यादव के अध्यक्षता में एक ऑनलाइन मीटिंग की गई। इस मीटिंग के दौरान बताया गया कि इस योजना के तहत लोगों को गुणवत्तापूर्ण इलाज प्राप्त हो रहा है एवं प्रदेश भर के 2874 अस्पताल सूचीबुध हो चुके हैं।

आयुष्मान भारत योजना का दायरा बढ़ाया जाएगा 

21 अक्टूबर 2021 को नीति आयोग के सदस्य डॉ पीके पॉल द्वारा बताया गया कि केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई आयुष्मान भारत योजना का दायरा बढ़ाया जाएगा। इस प्रक्रिया के लिए पीएम- जय ने अन्य सरकारी योजनाओं को अपनाना शुरू कर दिया है। इस प्रक्रिया पर राज्य सरकारों ने विकास के लिए कई संभावनाओं पर विचार किया है। नीति आयोग के सदस्य द्वारा बताया गया कि स्वास्थ्य क्षेत्र के बुनियादी ढांचे को मजबूत किया जाएगा और हेल्थ केयर पर अपना बजट बढ़ाया जाएगा। साथ ही साथ डॉक्टर द्वारा बताया गया कि वह सभी संस्थान जिन्होंने इस योजना में भाग्य नहीं लिया है उन सभी को साझेदारी करनी चाहिए।

  • डॉ पॉल द्वारा बताया गया कि इस योजना के तहत मौजूदा बजट 4.5 प्रतिशत है जिसे बढ़ाकर 8% करना होगा।
  • और साथ ही साथ ज्यादा से ज्यादा जिला अस्पतालों को मेडिकल कॉलेज में बदलने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

झारखंड के निजी अस्पतालों से प्राप्त होंगी मुफ्त दवाइयां

इस योजना के तहत झारखंड राज्य के लोगों को जो दवाइयां सरकारी या निजी अस्पतालों में प्राप्त नहीं हुई है उन्हें व निजी मेडिकल स्टोर से मुफ्त में खरीदने में सक्षम रहेंगे। इस बात की जानकारी राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के सीईओ डॉ आर एस वर्मा जी के द्वारा प्रदान की गई। साथ ही साथ बताया गया कि झारखंड के प्रत्येक जिले में ड्रग इंस्पेक्टर के माध्यम से दवा दुकानों के साथ समझौता किया जाएगा। जिससे लोगों को अपनी आगे की दवाइयां खरीदने में कोई कठिनाई नहीं आएगी। साथ ही साथ सीईओ द्वारा बताया गया कि इस कार्यक्रम को सफलता से लागू करने के लिए सरकार ने झारखंड को चुना है जिससे वह आगे अस्पतालों को प्रोत्साहित कर सकें।

जन आरोग्य योजना के तहत झारखंड के तीन लाख परिवार जोड़े जाएंगे

झारखंड राज्य के स्वास्थ्य पर मुख्य सचिव अरुण कुमार जी के द्वारा आयुष्मान भारत योजना के तहत तीन लाख नए परिवारों को जोड़ने का निर्णय लिया गया। स्वास्थ्य मंत्री द्वारा बताया गया कि फिलहाल राज्य में लगभग 57 लाख परिवारों को इस योजना का लाभ प्राप्त हो रहा है। इसके साथ ही साथ स्वास्थ्य मंत्री द्वारा एक प्रोजेक्ट भी तैयार किया जा रहा है जिसमें अन्य बीमारियों को जोड़ने का निर्णय लिया जा रहा है। उसके पश्चात हर महीने एक स्वास्थ्य सर्वे किया जाएगा जिसके तहत डॉक्टरों की पोस्टिंग के दौरान प्राथमिकता दी जाएगी। इस योजना के तहत डॉक्टरों के पोस्टिंग के लिए एक सूची तैयार की जाएगी।

वाराणसी में नए लोगों को आयुष्मान भारत योजना मैं जोड़ा जाएगा

आयुष्मान भारत योजना के तहत राज्य के 66059 लाभार्थियों को इस योजना से जोड़ा जा चुका है और अब तक लगभग 2.89 लाख गोल्डन कार्ड बनवाए जा चुके हैं। परंतु लंबे अरसे से इस योजना के तहत दायरा बढ़ाने की मांग की जा रही है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा जोरों शोरों से तैयारी की जा रही है। वाराणसी में 2 अक्टूबर से आयुष्मान भारत योजना के तहत नए लोगों को जोड़ा जाएगा। अब तक इस योजना के तहत राज्य के 90 फ़ीसदी लाभार्थी परिवारों को कवर किया जा चुका है। इस प्रक्रिया के बाद उम्मीद है कि राज्य के 100 फ़ीसदी लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाने में सक्षम रहेंगे।

आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन का हुआ शुभारंभ


हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 27 सितंबर 2021 को आयुष्मान भारत योजना डिजिटल मिशन का शुभारंभ किया गया। इस योजना के माध्यम से देश के नागरिकों को डिजिटल हेल्थ आईडी कार्ड प्रदान किया जाएगा। इस हेल्थ आईडी में व्यक्ति की संपूर्ण जानकारी उपलब्ध होगी। व्यक्तियों द्वारा इस आईडी कार्ड का उपयोग करके पुराने रिकॉर्ड को देखने की जरूरत नहीं पड़ेगी। पहले इस परियोजना को केवल कुछ ही राज्यों में आरंभ किया गया था। परंतु सरकार द्वारा अब उसे पूरे देश में लागू कर दिया गया है। इसके माध्यम से डॉक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ को भी फायदा होगा।

गुजरात में हुआ आयुष्मान मेगा ड्राइव का शुभारंभ

23 सितंबर 2021 को गुजरात राज्य सरकार द्वारा आपके द्वार आयुष्मान मेगा ड्राइव का शुभारंभ किया गया है। इसमें गड्राइव के माध्यम से राज्य के नागरिकों को आयुष्मान भारत योजना से संबंधित सभी जानकारी प्रदान की जाएगी। सभी जानकारी प्रदान करने के साथ ही साथ अधिकारी द्वारा घर-घर जाकर उन व्यक्तियों को एनरोल भी किया जाएगा। सरकार द्वारा इस ड्राइव के माध्यम से राज्य के लगभग 8000000 परिवार को एंनरोल करने का निर्णय लिया गया है।‌ आयुष्मान भारत योजना के तहत आवेदन करने हेतु अब लोगों को सरकारी कार्यालयों के चक्कर काटने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। 

  • सरकार द्वारा सभी व्यक्तियों का एनरोलमेंट करने की व्यवस्था तैयार की गई है।
  • इस ग्रुप के माध्यम से पैसे व समय दोनों की बचत होगी।

आयुष्मान भारत दिवस का आयोजन 30 अप्रैल 2021 को हुआ

केंद्र सरकार द्वारा देश के गरीब लोगों को स्वास्थ्य संबंधित सुविधाएं प्रदान करने हेतु आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत 31 अप्रैल 2021 को आयुष्मान भारत दिवस का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम को आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य है कि देश के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान की जा सके। इस योजना का लाभ देश के लगभग 10 करोड लाभार्थियों को प्रदान किया जाएगा। इन 10 करोड़ भारतीयों में से आठ करोड़ भारतीय ग्रामीण क्षेत्र के हैं और बाकी के दो करोड़ लाभार्थी शहरी क्षेत्र के रहने वाले हैं।

झारखंड के 24 निजी अस्पतालों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा गया

झारखंड की एंपैनल कमेटी द्वारा 11 सितंबर 2021 को आयुष्मान भारत योजना के तहत 24 निजी अस्पतालों को शामिल करने का निर्णय लिया गया है। अब राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के परिवार ₹500000 तक का इलाज निजी अस्पतालों में एकदम निशुल्क करा सकते हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा रांची जिले के छह, हजारीबाग के पांच, देवघर के तिन, पूर्वी सिंहभूम के दो, रामगढ़ के दो, सिमडेगा के दो, गोड्डा के एक, धनबाद के दो अस्पताल शामिल किए गए है। सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना के तहत शामिल निजी अस्पतालों की सूची निम्नलिखित है:-

अनुराग मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटलदेवघर
रांची आई हॉस्पिटलरांची
श्रेया हॉस्पिटल फॉर चाइल्ड केयररांची
बाबा झुमराज ऑर्थो क्लिनिकदेवघर
डॉ अभिषेक चाइल्ड केयर हॉस्पिटलपूर्वी सिंहभूम
सुपर स्पेशलिटी आई केयररांची
शिवम हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटरसिमडेगा
होपवेल हॉस्पिटलरांची
प्रॉमिस हेल्थ केयररांची
बेरलिया नर्सिंग होमरामगढ़
कलावंती हॉस्पिटलहीराबाग
अपेक्स हॉस्पिटलहजारीबाग
विजन हाउस आई फाउंडेशनरांची
आयुष्मान हॉस्पिटल एंड अनुराग एडवांस पीडियाट्रिक सेंटरहजारीबाग
राज हॉस्पिटलसिमडेगा
सकेत ऑर्थो स्पाइन केयर एंड मल्टी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटलपूर्वी सिंहभूम
सूरज नर्सिंग होमरांची
आरोग्यं हेल्थ केयररामगढ़
दृष्टि आई हॉस्पिटलहजारीबाग
जीवन रेखा नर्सिंग होमधनबाद

मध्यप्रदेश में आयुष्मान भारत योजना के तहत शामिल हुए डेंगू और चिकनगुनिया के इलाज

मध्यप्रदेश में अब आयुष्मान भारत योजना के तहत डेंगू और चिकनगुनिया के इलाज को शामिल करने का निर्णय लिया गया है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री जी के द्वारा कहा गया कि अब आम आदमी डेंगू और चिकनगुनिया का इलाज इस योजना के तहत एंपेनल्ड निजी अस्पतालों में करवा सकते हैं। यह निर्णय प्रदेश में डेंगू और चिकनगुनिया के मामले तेजी से बढ़ते हुए देख लिया गया है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्देश दिए गए हैं कि इस प्रक्रिया के नियम व नष्ट करने और फॉगिंग काम करने का मिशन मोड जारी करने के लिए एक तेजी से अभियान चलाया जाए। इस बात की घोषणा मुख्यमंत्री जी के द्वारा हाल ही में हुई टीकाकरण महा अभियान की समीक्षा में की गई।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल होंगे नए लोग

केंद्र सरकार द्वारा देश के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को प्रतिवर्ष ₹500000 तक का मुफ्त इलाज मुहैया कराने हेतु आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से देश के वे सभी लोग जो आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण अपना इलाज नहीं करवा पाते हैं उन्हें आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाएगी ताकि वह इलाज प्राप्त कर सकें। इस योजना के तहत सरकार द्वारा 2011 में हुई सामाजिक आर्थिक जातीय जनगणना को शामिल किया गया था। परंतु हाल ही में ही सरकार द्वारा इस योजना के तहत 2011 के बाद विभाग एवं जन्म के माध्यम से आए नए सदस्यों को भी जोड़ने का निर्णय लिया गया है। 

  • इन लाभार्थियों को जोड़ने के लिए लोगों को जन्म प्रमाण पत्र एवं विवाह प्रमाण पत्र देना होगा।
  • लाभार्थियों को शामिल करने के बाद उन्हें अपना सेवा केंद्र में जाकर पहचान पत्र बनवाना होगा जिससे उन्हें निजी व सरकारी अस्पतालों में लाभ प्रदान किया जाएगा।

श्रमिकों को प्राप्त होगा आयुष्मान भारत योजना का लाभ

उत्तर प्रदेश के मुख्य कार्यपालक अधिकारी संगीता सिंह द्वारा उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के पंजीकृत लाभार्थियों को आयुष्मान भारत योजना के तहत शामिल करने का निर्णय लिया गया है। राज्य के पंजीकृत श्रमिकों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। इसके लिए 6 सितंबर 2021 से जिला मुख्यालय पर विशेष कैंप आयोजित किए जाएंगे। यह अभियान 12 सितंबर तक चलाया जाएगा इस बीच सभी पंजीकृत श्रमिकों एवं उनके परिवार वालों को आयुष्मान कार्ड मुहैया कराई जाएंगे। 

  • Ayushman  Bharat Yojana के तहत श्रमिकों को आरंभ करने की घोषणा यूपी के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा पूर्व में ही कर दी गई थी।
  • 6 सितंबर से विशेष अभियान के तहत श्रमिकों और उनके परिवार वालों के गोल्डन कार्ड बनाए जाएंगे और उन्हें लाभान्वित किया जाएगा।

निजी अस्पतालों में क्लेम सेटलमेंट की प्रक्रिया में आएगी तेजी

केंद्र सरकार द्वारा देश स्वास्थ्य सेवाओं को सुधारने एवं गरीबों को बेहतर इलाज की सुविधाएं उपलब्ध कराने हेतु आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया गया है। हाल ही में ही केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत बड़े बदलाव किए गए हैं। केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत प्राइवेट अस्पतालों की भागीदारी को सुनिश्चित करने के लिए क्लेम सेटेलमेंट की प्रक्रिया को तेज करने के लिए नए मॉडल तैयार किए जा रहे हैं। जिससे निजी अस्पतालों में मरीज के बिल का भुगतान की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। इन बदलावों को करने का मुख्य उद्देश्य है कि देश के ज्यादा से ज्यादा निजी अस्पताल इस योजना के तहत शामिल होने के लिए प्रोत्साहित हो।

  • Ayushman Bharat Yojana के माध्यम से निजी अस्पतालों मैं मरीजों की संख्या बढ़ेगी और उन्हें काफी लाभ प्राप्त होगा।
  • साथ ही साथ देश के प्रत्येक मरीज को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल पाएंगे जिससे वह अपनी बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज आसानी से कर सकते हैं।

आयुष्मान भारत योजना के तहत 2 करोड़ लाभार्थी हुए लाभान्वित

केंद्र सरकार द्वारा देश के गरीब लोगों को निशुल्क इलाज मुहैया कराने हेतु शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना के तहत लगभग दो करोड़ लाभार्थी को लाभ प्राप्त हो चुका है। सरकार द्वारा बताया गया है कि देश भर में आयुष्मान भारत योजना के तहत 1.99 करोड़ गरीब लोगों को अस्पताल में इलाज प्राप्त हुआ है। जिसके लिए सरकार ने 24,683 करोड रुपए की राशि का वहन किया है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के आंकड़ों के अनुसार पता चला है कि आयुष्मान भारत योजना के तहत लगभग 16.20 करोड पात्र लाभार्थियों को सत्यापित किया गया है और उन्हें आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड से भी लाभान्वित किया जा चुका है।

  • इन सभी लाभार्थियों को 918 स्वास्थ्य लाभ पैकेज प्रदान किए जाएंगे जिसके तहत कोरोनावायरस का निशुल्क इलाज और टेस्ट भी शामिल होंगे।
  • सूत्रों के अनुसार पता चला है कि अब तक इस योजना के अंतर्गत 23000 सार्वजनिक और निजी अस्पताल शामिल हैं।
  • देश के बाद सभी लोग जिन्होंने इस योजना के तहत आवेदन किया है और अपने नाम की जांच करना चाहते हैं तो उन्हें जल्द से जल्द अपना नाम आयुष्मान भारत योजना लिस्ट में खोजना होगा।

कोविड-19 प्रभावित 18 वर्ष के बच्चों को मिलेगा आयुष्मान भारत योजना का लाभ

जैसे कि हम सभी जानते हैं हमारे देश में काफी ऐसे बच्चे हैं जिन्होंने कोरोनावायरस संक्रमण के चलते अपने माता-पिता एवं कानूनी अभिभावकों को खोया है। और ऐसे में उनका कोई कर्ताधर्ता इस दुनिया में नहीं बचा है। इसीलिए केंद्र सरकार द्वारा 18 वर्ष तक के सभी बच्चों को आयुष्मान भारत योजना के तहत शामिल करने का निर्णय लिया गया है। इस बात की जानकारी बुधवार को केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर जी के द्वारा ट्वीट करके प्रदान की गई है। मंत्री द्वारा बताया गया है कि केंद्र सरकार द्वारा कोविड-19 से प्रभावित बच्चों को 5 लाख रुपये तक का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा।

  • इस योजना के अंतर्गत कोरोनावायरस से प्रभावित बच्चों को मुफ्त स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।
  • इस योजना के माध्यम से कोरोनावायरस से प्रभावित बच्चों को संकट की स्थिति में सुरक्षा कवच प्रदान किया जाएगा।

प्रधानमंत्री कोरोना केयर फंड योजना

बिहार के निजी नर्सिंग होम को किया जाएगा आयुष्मान भारत योजना में शामिल

हाल ही में हुई कार्यशाला मैं डॉक्टर के एन मिश्रा सिविल सर्जन डॉ संजीव कुमार सिन्हा और अधीक्षक डॉ मणि भूषण शर्मा द्वारा आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत जिलों के निजी नर्सिंग होम के संचालकों और चिकित्सकों कोई योजना के अंतर्गत शामिल करने का निर्णय लिया गया है। अब राज्य के गरीब परिवार इस योजना के अंतर्गत अपना इलाज निजी अस्पतालों में करवाने में सक्षम रहेंगे। राज्य के गरीब लोगों को अपना इलाज करवाने के लिए विभिन्न सरकारी अस्पतालों में जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। वह अब अपने नजदीकी निजी नर्सिंग होम में जाकर मुफ्त में अपना इलाज करा सकते हैं। अधिकारियों द्वारा इस योजना के अंतर्गत निजी नर्सिंग होम को शामिल करने के लिए सभी कागजातों से संबंधित जानकारी प्रदान की गई।

  • अधिकारी द्वारा बताया गया कि Ayushman Bharat Yojana में शामिल निजी नर्सिंग होम को काफी लाभ प्राप्त होगा।
  • इसके साथ-साथ सलाहकार ने कॉमन सर्विस सेंटर में तेजी से आयुष्मान भारत कार्ड बनाने की सलाह दी।
  • ताकि इस योजना का लाभ राज्य के प्रत्येक गरीब परिवार उठा सकें।

जम्मू कश्मीर के गांवों में शुरू हुआ आयुष्मान अभियान

जम्मू कश्मीर के लोगों को आयुष्मान भारत योजना के प्रति जागरूक करने के लिए स्टेट हेल्थ एजेंसी द्वारा आयुष्मान अभियान को शुरू किया गया है। इस अभियान के अंतर्गत प्रत्येक गांव के 11 ब्लॉक में लोगों को आयुष्मान भारत योजना के प्रति प्रोत्साहित किया जाएगा। ‌और उनके अंतर्गत आयुष्मान भारत कार्ड बनवाने की उत्साह दिलाई जाएगी। यह अभियान स्टेट हेल्थ एजेंसी द्वारा 15 जुलाई 2021 को शुरू किया गया था और खत्म 19 जुलाई 2021 को होगा। इस बीच जिले में प्रत्येक परिवारों को Ayushman Bharat Yojana के प्रति जागरूक कर आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए उत्साह दिया जाएगा।

  • स्टेट एजेंसी के अधिकारियों के साथ-साथ आशा वर्कर भी लोगों को इस योजना के प्रति जागरूक कर पंजीकरण कराने का प्रयास कर रहे हैं।
  • इस अभियान का मुख्य उद्देश्य है कि लोगों को स्वास्थ्य और चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सके ताकि उन्हें स्वास्थ्य सुविधा लेने में किसी प्रकार की कठिनाई का सामना ना हो।

आयुष्मान भारत योजना से लाभान्वित हुए 8646 लोग

केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से देश के गरीब व्यक्तियों को ₹500000 तक का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया जाता है। अब तक देश के काफी लोगों ने इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त किया है। परंतु हाल ही में विभिन्न सूत्रों के माध्यम से पता चला है कि पूर्णिया जिले में लगभग 8646 लोगों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ मुहैया कराया गया है। इस विषय पर जिला के आईटी मैनेजर अजीत कुमार जी के द्वारा बताया गया है कि इस योजना के अंतर्गत लगभग 151498 लोगों को गोल्डन कार्ड उपलब्ध कराए जा चुके हैं।

  • ना केवल सरकारी अस्पतालों में बल्कि जिला के निजी अस्पतालों में भी लोगों को बराबर का इलाज प्राप्त हुआ है जिससे राज्य के लोग काफी खुश हैं।
  • सूत्रों के अनुसार पूर्णिया जिले के लगभग 1600 लोगों को सूचीबद्ध निजी अस्पतालों में इलाज प्राप्त हुआ है।

संजीवनी बनी आयुष्मान भारत योजना

जैसे कि हम सभी जानते हैं केंद्र सरकार द्वारा शुरू किए गए आयुष्मान भारत योजना भारत सरकार की एक बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है। इस योजना के अंतर्गत देश के विभिन्न आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों ने विभिन्न प्रकार के लाभ प्राप्त किए हैं। इस योजना के अंतर्गत देश के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को निशुल्क चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जाती हैं और केवल उन्हीं लोगों को शामिल किया जाता है जो सामाजिक आर्थिक जनगणना 2021 की सूची के अनुसार पात्रभारती हैं। Ayushman Bharat Yojana में विभिन्न राज्यों में करोड़ों लोगों को लाभ पहुंचाया है।

  • यदि बात बिहार की की जाए तो अब तक इस योजना के अंतर्गत बिहार के 4320 कार्ड धारकों को इस योजना का लाभ प्राप्त हुआ है।
  • और इस सुविधा के लिए बिहार सरकार द्वारा लगभग 6.55 करोड रुपए का खर्च वहन किया गया है।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना

गुरुग्राम जिले में लगभग 3.60 करोड़ रुपए हुए खर्च

कोरोनावायरस संक्रमण की दूसरी लहर को देखते हुए आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पिछले वर्ष की तुलना में लगभग 45 फ़ीसदी मरीजों में बढ़ोतरी हुई है और उनका इलाज हुआ है। यदि देखा जाए तो 31 दिसंबर 2020 में जिले के लगभग 3466 लोगों का इलाज हुआ था परंतु वर्ष 2021 में लाभार्थियों की संख्या बढ़कर 6299 तक पहुंच गई है। पिछले वर्ष तक 3466 लोगों के इलाज में सरकार द्वारा 2 करोड़ 36 लाख रुपए का खर्च वहन किया गया था। परंतु अब इसकी संख्या बढ़कर 3 करोड़ 60 लाख तक पहुंच चुकी है।

9500 लोगों का हुआ इलाज

जैसे की हम सभी जानते हैं केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई अन्य योजनाओं में से आयुष्मान भारत योजना एक बहुत ही महत्वकांक्षी योजना है। इस योजना के अंतर्गत देश के सामाजिक आर्थिक जनगणना 2021 के पात्र लाभार्थियों को शामिल किया जाता है और उन्हें 500000 प्रति परिवार निशुल्क इलाज मुहैया कराया जाता है। अब तक प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आयुष्मान कार्ड धारकों की संख्या 2.50 लाख से ऊपर है। हाल ही में ही योजना के नोडल अधिकारी डॉक्टर आरके सिंह ने बताया है कि इस योजना के अंतर्गत लगभग 9500 लोगों ने इलाज कराया है। और उनके इलाज में सरकार का 10.33 करोड़ खर्च आया है।

आयुष्मान भारत योजना में शामिल सभी प्राइवेट अस्पताल

स्वास्थ्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने 7 जुलाई बुधवार के दिन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिए गए हैं कि मरीजों को अब राज्य के सभी निजी अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। इस निर्णय से लोगों के आयुष्मान भारत योजना से जुड़ी परेशानियों को दूर किया जा सकेगा। डॉ रावत ने निजी अस्पतालों को बेहतर व प्रभावी बनाने के लिए यह सुझाव दिए हैं। अब राज्य के लोगों को इलाज व जांचों से जुड़ी सभी परेशानियों को दूर करने के लिए निजी अस्पतालों को Ayushman Bharat Yojana के अंतर्गत शामिल करने का निर्णय लिया है।

आयुष्मान भारत योजना मैं शामिल दांतों का इलाज

जैसे कि हम सभी जानते हैं केंद्र सरकार द्वारा देश के गरीब लोगों को स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान करने हेतु आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा विभिन्न इलाजो को शामिल किया गया है। अब हाल ही में भारत सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत दांतों के इलाज को शामिल करने का प्रयास चल रहा है। इस प्रक्रिया को पूरा करने के लिए भारत सरकार के राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने दांतों के इलाज को शामिल करने के सुझाव डेंटल काउंसलिंग ऑफ इंडिया से मांगे हैं। इस सुझाव के लिए भारत सरकार के नेशनल हेल्थ अथॉरिटी द्वारा डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया को पत्र लिखा गया है।

  • इस पत्र में भारत सरकार ने डीसीआई से कौन-कौन से इलाज शामिल किए जाने के सुझाव मांगे हैं।
  • Ayushman Bharat Yojana के अंतर्गत डेंटल इलाज के कुछ पैकेज को शामिल करने का प्रयास किया जा रहा है।
  • जल्द ही डेंटल ह्यूमन रिसोर्स द्वारा आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत इलाज को शामिल करने के सुझाव दिए जाएंगे।
प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना लिस्ट का उद्देश्य

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत पंजीकृत लाभार्थी

PMJAY का सफलतापूर्वक कार्यान्वयन देखने हेतु राष्ट्रीय मंत्री श्री हर्षवर्धन जी के द्वारा राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण का दौरा किया गया। स्वास्थ्य मंत्री के अनुसार अब तक प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत 1.4 करोड़ लोगों को लाभ पहुंचाया जा चुका है। तथा इस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा 17,500 करोड़ रुपए का खर्च आया है। स्वास्थ्य मंत्री द्वारा यह भी बताया गया है कि आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत प्रति मिनट 14 भर्तियां होती हैं जिसका कार्य सरकार ने लगभग 24653 अस्पतालों को सौंपा है। स्वास्थ्य मंत्री द्वारा बताया गया कि आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 6 केंद्र प्रशासित प्रगति पर है जो कि कुछ इस प्रकार है।

  • अंडमान निकोबार
  • दादर नगर हवेली और दमन दिउ
  • चंडीगढ़
  • लद्दाख
  • लक्ष्यदीप
  • एवं पुडुचेरी
प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत पंजीकृत लाभार्थी

आयुष्मान भारत योजन का लाभ लगभग 1 करोड़ लाभार्थियों को

हमारे देश के प्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा ट्वीट के माध्यम से जानकारी प्रदान की गई कि अब तक आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत लगभग एक करोड़ लाभार्थियों को लाभ पहुंचाया जा चुका है। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना एक बहुत ही कल्याणकारी योजनाओं में से एक है क्योंकि इस योजना का लाभ देश के गरीब परिवारों को केवल अपने राज्य में नहीं बल्कि पूरे देश में प्रदान किया जाएगा।

  • देश के जो बकाया नागरिक अभी तक इस योजना के अंतर्गत पंजीकृत नहीं है उन्हें जल्द से जल्द आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत आवेदन करना होगा।
  • आवेदन करने के बाद वह केंद्र सरकार द्वारा 500000 का स्वास्थ्य बीमा प्राप्त कर सकते हैं।
  • जिससे उन्हें अपनी बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज कराने में किसी भी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा
आयुष्मान भारत योजन का लाभ लगभग 1 करोड़ लाभार्थियों को

30 अप्रैल 2021 से आयोजित होगा आयुष्मण भारत दिवस

हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 25 सितंबर 2018 को देश के गरीब परिवारों को ₹500000 तक का मुफ्त इलाज प्रदान करने हेतु आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से देश के प्रत्येक गरीब व्यक्ति को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। पाली में ही हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 30 अप्रैल 2021 से आयुष्मान भारत योजना को आयुष्मान भारत दिवस के रूप में आयोजित किया जा रहा है। इस आयोजन के दौरान देश के कोने-कोने तक सभी लाभार्थियों को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी‌।

  • आयुष्मान भारत आयोजन का मुख्य उद्देश्य है कि देश के करीब 10 करोड़ परिवारों को स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाए।
  • भारत के 10 करोड़ परिवारों में ग्रामीण इलाकों के आठ करोड़ परिवारों को और शहरी इलाकों के 2.33 करोड़ परिवारों को शामिल किया गया है।

Statistics Of Ayushman Bharat Yojana

इस योजना से संबंधित संख्यिकी कुछ इस प्रकार है:-

Hospitals Admitted1,48,78,296
E-Card Issued12,88,61,366
Hospitals Empanelled24,082

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत उपलब्ध सुविधाएं

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत उपलब्ध सुविधाएं कुछ इस प्रकार है

  • बुजुर्ग रोगियों के लिए आपातकालीन चिकित्सा
  • मानसिक रोगी का इलाज
  • दांतों की देखभाल
  • प्रसूति के दौरान महिलाओं के लिए सुविधाएं
  • बच्चे के स्वास्थ्य की पूरी सुविधा
  • बुजुर्ग बच्चे महिला के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान
  • प्रसूति के दौरान महिलाओं को 9000 रुपये तक की छूट।
  • नवजात एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाएं
  • टीवी के मरीज का इलाज
  • मरीज के भर्ती होने से पहले तथा बाद के इलाज के खर्च

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत रोग लिस्ट

सरकार द्वारा इस योजना के तहत रोग सूची कुछ इस प्रकार है:-

  • आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत दवाई की लागत कैंसर दिल की बीमारी किडनी और लीवर की बीमारी चिकित्सा सर्जरी चिकित्सा और डे केयर उपचार डायबिटीज समेत 1350 बीमारियों का खर्चा सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत नागरिकों को आयुष्मान गोल्डन कार्ड उपलब्ध कराया जाएगा जिसका उपयोग करके वह अपना इलाज देश के किसी भी अस्पताल में मुफ्त में करा सकते हैं
  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि देश के आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाए जिससे वह अपने बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज आसानी से करा सकें

Central Government Scheme

PMJAY 2022 Benefits & Features

इस योजना के तहत लाभ एवं विशेषताएं कुछ इस प्रकार है:-

  • आयुष्मान भारत योजना लिस्ट में अपना नाम देखने के लिए लोगों को कहीं जाने की आवश्यकता नहीं है।
  • देश के नागरिक घर बैठे ही इंटरनेट का उपयोग करके अपना नाम इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर देख सकते हैं।
  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना लिस्ट में जिन लोगों का नाम शामिल होगा उन्हें स्वास्थ्य संबंधित सुविधाएं निशुल्क उपलब्ध कराई जाएंगी।
  • इस योजना का लाभ देश के सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना 2011 में शामिल लोगों को प्रदान किया जाएगा जिसमें से ग्रामीण क्षेत्र के 8.03 करोड़ परिवार शामिल है तथा शहरी क्षेत्र के 2.33 करोड़ परिवार शामिल है।
  • आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत लोग PMJAY Hospital List अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आसानी से देख सकते हैं
  • इस योजना के अंतर्गत निर्धारित पात्रता के अनुसार SECC डेटाबेस में उपलब्ध सभी परिवारों को शामिल किया गया है।
  • आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत केवल सरकार द्वारा सूचीबद्ध अस्पतालों में ही अपना इलाज कराया जा सकता है।
Ayushman Bharat Yojana Eligibility Criteria

Ayushman Bharat Yojana Eligibility Criteria

सरकार द्वारा निर्धारित की गई पात्रता निम्नलिखित है:-

ग्रामीण क्षेत्र के लिए

ग्रामीण क्षेत्र के लिए पात्रता निम्नलिखित है:-

  • इस योजना का लाभ उठाने हेतु ग्रामीण क्षेत्र में नागरिक का अपना कच्चा मकान होना चाहिए
  • परिवार के मुखिया एक महिला होनी चाहिए।
  • परिवार में कोई व्यक्ति विकलांग होना चाहिए
  • असहाय एवं भूमिहीन होना चाहिए
  • परिवार का व्यक्ति मजदूरी करता हो
  • आयुष्मान भारत योजना में शामिल व्यक्ति बेघर भीख मांगने वाला या बंधुआ मजदूर होना चाहिए

शहरी क्षेत्र के लिए

शहरी क्षेत्र के लिए पात्रता निम्नलिखित है:-

  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत व्यक्ति कूड़ा कचरा उठाते हो फेरीवाला हो मजदूर होमगार्ड की नौकरी करने वाला हो वहीं सफाई कर्मी हो टेलर हो ड्राइवर हो दुकान में काम करने वाला हो रिक्शा चलाने वाला हो होली का काम करने वाला हो पेंटर कंडक्टर मिस्त्री एवं धोबी हो।
  • इस योजना के अंतर्गत लोगों की मासिक आय 10000 से कम होनी चाहिए।

आयुष्मान भारत योजना ऑनलाइन आवेदन

आयुष्मान भारत योजना लिस्ट देखने की प्रक्रिया

देश से जो इच्छुक लाभार्थी अपना नाम लिस्ट में खोजना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए का चरणों का पालन करना है:-

Ayushman Bharat Jan Arogya List

  • Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana Beneficiary List देखने हेतु आपको प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
आयुष्मान भारत योजना लिस्ट देखने की प्रक्रिया (PMJAY Hospital List)
  • वेबसाइट पर जाते हैं आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Am I Eligible के विकल्प पर क्लिक करना है।
आयुष्मान भारत योजना लिस्ट देखने की प्रक्रिया
आयुष्मान भारत योजना लिस्ट देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर एवं कैप्चा कोड दर्ज करना है।
  • दर्ज करने के बाद आपको Generate OTP के बटन पर क्लिक करना है
  • क्लिक करने के बाद आपको अपने मोबाइल में से उठी पर दर्ज करना है
  • इस प्रकार आप लॉग इन कर पाएंगे
  • लॉग इन करने के बाद आप अपने परिवार के पात्रता की जांच कर सकते हैं
  • इसके बाद आपको दो विकल्प दिखाई देंगे
  • पहले विकल्प में आपको अपना राज्य चुनना है
  • दूसरे विकल्प में आपको तीन श्रेणियां दिखाई देंगी जैसे राशन कार्ड मोबाइल नंबर और नाम
  • इन तीनों में से आप किसी एक का चयन कर सकते हैं
  • चयन करने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना है
  • इसके पश्चात अगर आप ऑफलाइन माध्यम से सीएससी केंद्र में जाकर अपने पात्रता की जांच करना चाहते हैं तो आप अपने सभी दस्तावेजों के साथ वहां जा सकते हैं
  • वहां जाने के बाद एजेंट के पास अपने दस्तावेज जमा कर आयुष्मान भारत योजना लिस्ट में अपना नाम देख सकते हैं

आयुष्मान भारत योजना मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

वह व्यक्ति जो मोबाइल ऐप डाउनलोड करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • मोबाइल ऐप डाउनलोड करनी है तो आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • होम पेज पर आपको Download App के बटन पर क्लिक करना है
आयुष्मान भारत योजना मोबाइल ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • इस पेज पर आप इंस्टॉल के बटन पर क्लिक करके एफ को अपने डिवाइस में डाउनलोड कर सकते हैं

PM-JAY ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया

व्यक्तियों को नीचे दिए गए चरणों के माध्यम से ग्रीवेंस दर्ज करना है:-

  • ग्रीवेंस दर्ज करने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Grievance Portal के विकल्प पर क्लिक करना है
PM-JAY ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा
  • इस पेज पर आपको Register Your Grievance AB-PMJAY के विकल्प पर क्लिक करना है
PM-JAY ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया
PM-JAY ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने ग्रीवेंस फॉर्म खुलकर आएगा।
  • इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे Grievance By, Beneficiary Details तथा Grievance Details दर्ज करना है
  • संपूर्ण जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक करना है
  • इस प्रकार आप ग्रीवेंस दर्ज कर पाएंगे

PM-JAY ग्रीवेंस स्टेटस चेक करने की प्रक्रिया

देश के वह सभी व्यक्ति जो ग्रीवेंस स्टेटस चेक करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • ग्रीवेंस स्टेटस चेक करने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Grievance Portal के विकल्प पर क्लिक करना है
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा
  • इस पेज पर आपको Track Your Grievance के विकल्प पर क्लिक करना है
PM-JAY ग्रीवेंस स्टेटस चेक करने की प्रक्रिया
  • इस प्रकार आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • आपको अपना UGN नंबर दर्ज करना है
  • दर्ज करने के बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आपके सामने ग्रीवेंस स्टेटस खुलकर आ जाएगा

PMJAY एंपेनल्ड अस्पताल ढूंढने की प्रक्रिया

लाभार्थी जो एंपेनल्ड अस्पतालों की सूची देखना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • एंपेनल्ड अस्पताल ढूंढने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Find Hospital के विकल्प पर क्लिक करना है
PMJAY एंपेनल्ड अस्पताल ढूंढने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपसे पूछे गए सभी जानकारी जैसे State, District, Hospital Type, Speciality, Hospital Name, Empanelment Type तथा Captcha Code दर्ज करना है।
  • संपूर्ण जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Search के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आपके सामने एंपेनल्ड हॉस्पिटल की सूची खुलकर आ जाएगी

डी एंपेनल्ड हॉस्पिटल देखने की प्रक्रिया

लाभार्थी जो डी इंपैनल्ड अस्पतालों की सूची देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • डी एंपेनल्ड हॉस्पिटल देखने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको De Empanelled के विकल्प पर क्लिक करना है।
डी एंपेनल्ड हॉस्पिटल देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको डी एंपेनल्ड हॉस्पिटल की सूची प्राप्त हो जाएगी।

हेल्थ बेनिफिट पैकेजेस देखने की प्रक्रिया

देश के वह सभी व्यक्ति जो हेल्थ बेनिफिट पैकेज देखना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • हेल्थ बेनिफिट पैकेजेस देखने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Health Benefit Packages के विकल्प पर क्लिक करना है।
हेल्थ बेनिफिट पैकेजेस देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको विभिन्न प्रकार के पैकेजेस प्राप्त होंगे।
  • आप अपनी आवश्यकता अनुसार इच्छुक विकल्प का चयन कर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

क्लेम एडजडिकेशन देखने की प्रक्रिया

लाभार्थी जो क्लेम एडजडिकेशन देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • क्लेम एडजडिकेशन देखने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Claim Adjudication के विकल्प पर क्लिक करना है।
क्लेम एडजडिकेशन देखने की प्रक्रिया
  • करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको कई सारे विकल्प प्राप्त होंगे।
  • आपको इन विकल्प पर अपनी आवश्यकता अनुसार क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद पीडीएफ फाइल खुल कर आएगी।
  • इस फाइल में आप संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • एवं इसे डाउनलोड के बटन पर क्लिक कर डाउनलोड भी कर सकते हैं।

स्टैंडर्ड ट्रीटमेंट गाइडलाइंस देखने की प्रक्रिया

देश के वह सभी व्यक्ति जो स्टैंडर्ड ट्रीटमेंट गाइडलाइंस देखना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • स्टैंडर्ड ट्रीटमेंट गाइडलाइंस देखने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Standard Treatment Guidelines के विकल्प पर क्लिक करना है।
स्टैंडर्ड ट्रीटमेंट गाइडलाइंस देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको गाइडलाइंस के विकल्प प्राप्त होंगे।
  • आप अपनी आवश्यकता अनुसार इच्छुक गाइडलाइन के विकल्प पर क्लिक कर सकते हैं।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने पीडीएफ फाइल खुलकर आएगी।
  • इस फाइल में आप संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • एवं इसे डाउनलोड के बटन पर क्लिक कर डाउनलोड भी कर सकते हैं।

जन औषधि केंद्र ढूंढने की प्रक्रिया

लाभार्थी जो जन औषधि केंद्र ढूंढना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • जन औषधि केंद्र ढूंढने आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Jan Aushadhi Kendra के विकल्प पर क्लिक करना है।
जन औषधि केंद्र ढूंढने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको List Of Jan Aushadhi Kendra के विकल्प पर क्लिक करना है।
जन औषधि केंद्र ढूंढने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने पीडीएफ फाइल खुलकर आएगी।
  • इस फाइल में आप लिस्ट प्राप्त कर सकते हैं।
  • एवं इसे डाउनलोड के बटन पर क्लिक कर डाउनलोड भी कर सकते हैं।

PMJAY फीडबैक दर्ज करने की प्रक्रिया

देश के वह लाभार्थी जो फीडबैक दर्ज करना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • फीडबैक दर्ज करने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Feedback के विकल्प पर क्लिक करना है
PMJAY फीडबैक दर्ज करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने फीडबैक फॉर्म खुलकर आएगा
  • इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे Name, Email, Mobile Number, Remarks, Category तथा Captcha Code दर्ज करना है
  • संपूर्ण जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Request For OTP के बटन पर क्लिक करना है
  • आपके मोबाइल पर प्राप्त ओटीपी खाली बॉक्स में दर्ज करना है
  • दर्ज करने के बाद आप फिर दर्ज कर पाएंगे

Helpline Number

इस योजना से संबंधित संपर्क सूत्र कुछ इस प्रकार है:-

  • Toll Free Call Centre Number- 14555/ 1800-111-1565
  • Address:- 3rd, 7th, 9th Floor/ Tower-B Jeevan Bharati Building, Connaught Place, New Delhi- 110001
States/UTs at a glanceयहां क्लिक करें
Status of implementation in statesयहां क्लिक करें
States/UTs officialsयहां क्लिक करें
PM-JAY public dashboardयहां क्लिक करें
PM-JAY hospital Performanceयहां क्लिक करें
Dashboardयहां क्लिक करें
De-empanelled hospitalsयहां क्लिक करें
Empanelment and Qualityयहां क्लिक करें
Covid-19यहां क्लिक करें
Hospital Empanelment Moduleयहां क्लिक करें
Health Benefit Packagesयहां क्लिक करें
Claim Adjudicationयहां क्लिक करें
Standard Treatment Guidelinesयहां क्लिक करें
JanAushadhi Kendraयहां क्लिक करें

Leave a Comment