आयुष्मान भारत योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन | Registration at pmjay.gov.in

Ayushman Bharat Yojana Online Registration | प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना ऑनलाइन आवेदन | pmjay.gov.in Registration Form | PMJAY Apply Online | आयुष्मान भारत योजना पात्रता | Online Registration at pmjay.gov.in |

देश के आर्थिक रूप से कमजोर एवं पिछड़े वर्ग के लोगों को स्वास्थ्य बीमा प्रदान करने हेतु भारत सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना को 14 अप्रैल 2018 में आरंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से देश के गरीब लोगों को स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा जिसका उपयोग करके अपना इलाज आसानी से करवा सकते हैं। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से आयुष्मान भारत योजना 2022 से जुड़ी पूर्ण जानकारी जैसे उद्देश्य लाभ एवं विशेषताएं पात्रता दस्तावेज एवं ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया स्पष्ट करने जा रहे हैं। Ayushman Bharat Yojana से संबंधित पूर्ण जानकारी प्राप्त करने हेतु हमारे इस लेख को विस्तार पूर्वक पढ़ें।

Table of Contents

About Ayushman Bharat Yojana

इस योजना की शुरुआत हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 14 अप्रैल 2018 को बाबा भीमराव अंबेडकर की जयंती पर किया गया था। इस योजना को आर्थिक रूप से कमजोर एवं पिछड़े वर्ग के लोगों को निशुल्क स्वास्थ्य संबंधित सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए शुरू किया गया था। आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के नाम से भी जाना जाता है। Ayushman Bharat Yojana के माध्यम से देश के सरकारी पैनल अस्पताल एवं निजी स्वास्थ्य केंद्र में मुफ्त सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी

  • इन निशुल्क सुविधाओं का उपयोग करके हमारे देश के गरीब लोग अपनी बड़ी से बड़ी गंभीर बीमारी का इलाज आसानी से करवा सकेंगे।
  • आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत लगभग 10 करोड़ से भी ज्यादा गरीब परिवारों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाएगा।
  • इस योजना को आरंभ करने का मुख्य लक्ष्य है कि गरीबों की गंभीर बीमारी के कारण होने वाली मृत्यु को रोका जा सके।
  • Ayushman Bharat Yojana के माध्यम से गरीबों की मृत्यु दरों में भी कमी आएगी।
  • अब देश के गरीब नागरिक अपनी बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज आसानी से करा सकते हैं।
आयुष्मान भारत योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन | pmjay.gov.in Registration Form

आयुष्मान भारत योजना की संक्षिप्त टिप्पणी

इस योजना के मुख्य तथ्य निम्नलिखित है:-

योजना का नामआयुष्मान भारत योजना 2022
किसके द्वारा शुरू की गईप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
आरंभ तिथि14 अप्रैल 2018
योजना के लाभार्थीदेश के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग
योजना का उद्देश्यनिशुल्क स्वास्थ्य संबंधित सुविधाएं उपलब्ध कराना
योजना का लाभगंभीर बीमारी के कारण होने वाली मृत्यु में कमी आएगी
स्वास्थ्य बीमा5 लाख रुपये
कुल बीमारियों का इलाज1350
योजना का प्रकारकेंद्र सरकार योजना
लाभार्थियों की संख्या10 लाख लाभार्थी
उपलब्ध अस्पतालसरकारी तथा निजी स्वास्थ्य केंद्र
टोल फ्री नंबर14555/ 1800111565
आवेदन का प्रकारऑफलाइन
पात्रता जांच करने की प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटpmjay.gov.in
आयुष्मान भारत योजना

आयुष्मान भारत योजना का उद्देश्य

जैसे कि हम सब जानते हैं हमारे देश में काफी ऐसे लोग हैं जो कमजोर आर्थिक स्थिति होने के कारण अपनी गंभीर से गंभीर बीमारी का इलाज आसानी से नहीं करवा सकते हैं और सही इलाज ना मिलने के कारण उनकी बीमारी से मृत्यु हो जाती है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमारे प्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा आयुष्मान भारत योजना को आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से देश के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग एवं पिछड़े वर्ग के लोगों को 5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाएगा। जिससे वह अपने गंभीर से गंभीर बीमारी का इलाज निशुल्क करवा सके तथा एक अच्छा जीवन प्राप्त कर सकें।

  • आयुष्मान भारत योजना का मुख्य उद्देश्य है कि देश के आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को निशुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए।
  • जिससे देश के गरीब लोग अपना इलाज आसानी से निशुल्क करा सकें।
  • PM Ayushman Bharat Yojana के माध्यम से आर्थिक रूप से कमजोर गरीब परिवारों के मृत्यु दरों में भी कमी आएगी।
  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के माध्यम से गरीब परिवारों कि स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं को दूर किया जा सकेगा।

आयुष्मान भारत योजना लिस्ट

आयुष्मान भारत योजना की योग्यता (ग्रामीण क्षेत्र के लिए)

इस योजना का लाभ लेने हेतु ग्रामीण क्षेत्र के लिए योजना की पात्रता / योग्यता निम्नलिखित है:-

  • यदि परिवार में कोई बड़ा ना हो(16-59 वर्ष आयु) या कोई दिव्यांग हो या परिवार की मुखिया महिला हो तो वह इस योजना का लाभ लेने योग्य है |
  • अनुसूचित जाति जनजाति वाले तथा कच्चे मकान में रहने वाले
  • दिहाड़ी मजदूर और भूमिहीन व्यक्ति
  • भीख मांगने वाले कानूनी रूप से आदिवासी और मुक्त बंधुआ
  •  तथा ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले आदि इस योजना के लिए आवेदन के पात्र हैं |

आयुष्मान भारत योजना की योग्यता (शहरी क्षेत्र के लिए)

इस योजना का लाभ लेने हेतु शहरी क्षेत्र के लिए योजना की पात्रता / योग्यता निम्नलिखित है:-

  • इसके अंतर्गत कंस्ट्रक्शन साइट पर काम करने वाले मजदूर पेंटर, प्लंबर,वेल्डर, राजमिस्त्री, कुली आदि इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं |
  • इसके अलावा सिक्योरिटी गार्ड, लगाने वाले दुकानदार, घरेलू कार्य करने वाले, कूड़ा चुगने वाले, मोची, फेरीवाले तथा अन्य मजदूर व्यक्ति |
  • सफाई कर्मचारी, हैंडीक्राफ्ट, रिक्शा चालक, टेलर, ड्राइवर आदि इस योजना के लिए आवेदन के पात्र हैं | 

आयुष्मान भारत योजना (ABY) का फीचर Paytm app पर किया गया शामिल

आयुष्मान भारत योजना का फीचर पेटीएम ऐप पर शामिल कर दिया गया है अब पेटीएम यूजेस इसका लाभ उठा सकते हैं | इसके लिए उन्हें अपनी पात्रता की जांच करनी होगी तथा साथ ही अपने नजदीक के निजी और सरकारी अस्पतालों के बारे में जानना होगा | डिजिटल पेमेंट और वित्तीय सेवा कंपनी ने पेटीएम के मालिक 197 कम्युनिकेशन लिमिटेड में पेटीएम ऐप को आयुष्मान भारत योजना के साथ शामिल कर दिया है | पेटीएम ने यह कदम हेल्थ सेक्टर में डिजिटल ट्रांसफॉरमेशन को उच्च स्तर देने के लिए उठाया है | 

PM-JAY आयुष्मान हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर

  • सरकार द्वारा फरवरी 2018 में उप केंद्रों तथा प्राथमिक केंद्रों को बदल कर हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर बनाए जाएंगे |
  • वैलनेस केंद्रों के माध्यम से स्वास्थ्य सुविधाएं जनता तक पहुंचाई जाएंगी |
  • इसमें जच्चा बच्चा स्वास्थ्य तथा गैर संचारी रोगों का उपचार किया जाएगा |
  • वैलनेस सेंटर द्वारा देश के नागरिकों के जीवन स्तर को सुधारा जाएगा |
  • इसके अंतर्गत फ्री दवाइयां एवं डायग्नोस्टिक सेवा भी है |
  • आयुष्मान हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर के द्वारा लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं आसानी से उपलब्ध हो सकती है |
  • हेल्थ एवं वैलनेस सेंटर के द्वारा अपने क्षेत्र के सभी लोगों की प्राथमिक स्वास्थ्य सुविधाएं  दी जाती है |

आयुष्मान भारत योजना द्वारा पर्याप्त नागरिकों के लिए कुछ मुख्य सुविधाएं

  • पूर्व अस्पताल में भर्ती 
  • चिकित्सा परीक्षा, उपचार व परामर्श
  • चिकित्सा उपभोग वस्तुएं
  • गहन तथा गैर गहन देखभाल
  • आवास तथा भोजन सेवाएं
  • नैदानिक और लेबोरेटरी जांचें 
  • उपचार के दौरान होने वाली कॉन्प्लिकेशन का ट्रीटमेंट
  • प्री एक्जिस्टिंग डिजीज कवर करना
  • चिकित्सा प्रत्यारोपण सेवा
  • अस्पताल में भर्ती होने के बाद 15 दिन तक का पोस्ट हॉस्पिटलाइजेशन कवर करना

PM-JAY से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी

योजना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी निम्नलिखित है इसे ध्यान पूर्वक पढ़ें:-

  • प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत सितंबर 2018 को देश के प्रत्येक गरीब नागरिक तक स्वास्थ्य सुविधा पहुंचाने के लिए किया था |
  • आयुष्मान भारत योजना को भारत के लगभग सभी राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों में लागू किया जाएगा|
  • केवल NCT दिल्ली, उड़ीसा और पश्चिम बंगाल में इस योजना को लागू नहीं किया गया है |
  • यह विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है जिसका लाभ पूरे विश्व भर में पोर्टेबल है |
  • विभिन्न राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेश की सरकारों द्वारा जुलाई तक लगभग 23000 अस्पतालों को सूची में शामिल किया जाएगा |
  • इस योजना के अंतर्गत covid-19 के कारण माता पिता को खो देने वाले सभी बच्चों को लाभ दिया जाएगा |
  • तथा बच्चों के प्रीमियम का भुगतान पीएम केयर्स फंड द्वारा किया जाएगा |
  • सरकार की ओर से 1669 प्रक्रिया तथा 26 अलग-अलग विशेषताओं द्वारा उपचार किया जाएगा |
  • इस योजना के तहत लगभग ₹50000 का स्वास्थ्य बीमा सरकार द्वारा दिया जाएगा |
  • आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से रोगी को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सुविधा प्रदान की जाएगी |
  • इसके अंतर्गत सरकार द्वारा कीमोथेरेपी, रेडियोथैरेपी , सर्जिकल ऑंकोलॉजी तथा कैंसर का उपचार भी किया जाएगा |

योजना संचालन पर 24600 करोड़ रुपए की राशि का खर्च

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा आयुष्मान भारत योजना का संचालन यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज प्राप्त करने के लिए किया गया, यह विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना हे | इस योजना के अंतर्गत अब तक 2 करोड़ व्यक्तियों के इलाज पर 24600 करोड़पति धनराशि का खर्च हो चुकी है | इस योजना के लिए प्राइवेट तथा गवर्नमेंट 24000 अस्पतालों की सूची बनाई गई है | इसमें 918 हेल्थ बेनिफिट तथा 1669 प्रक्रियाएं हैं | यह योजना 33 राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेश में लागू की जा रही है | आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत यूरोलॉजी, रेडिएशन, कार्डियोलॉजी, कार्डियोथोरेसिक, हड्डी रोग, वैस्कुलर सर्जरी और कोविड-19 आदि रोगों का उपचार किया जाता है |

आयुष्मान भारत योजना का तेलंगाना में भी शुभारंभ

तेलंगाना सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना को तेलंगाना में भी लागू किया जाएगा इसके अंतर्गत  सभी रोगियों को ₹50000 का स्वास्थ्य बीमा दिया जाएगा तथा कोविड-19 का उपचार भी किया जाएगा | तेलंगाना सरकार ने यह फैसला दिसंबर में ही ले लिया था |  तथा इसके लिए 18 मई को हस्ताक्षर किया गया है | इस योजना द्वारा लगभग 10.74 करोड़ गरीबों को इलाज प्रदान किया जाएगा

हरियाणा के आशा वर्करों को प्राप्त होगा आयुष्मान भारत योजना का लाभ

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन हरियाणा सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना के तहत आशा वर्करों को शामिल करने का निर्णय लिया गया है। हरियाणा सरकार द्वारा निर्णय के लिए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय को कार्यान्वित करने हेतु 248.11 लाख रुपये की राशि का प्रस्ताव भेजा गया। केंद्र सरकार द्वारा इस परियोजना को कार्यान्वित करने के लिए इस राशि को मंजूर किया गया। अब हरियाणा सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना का लाभ आशा वर्करों को भी मुहैया कराया जाएगा ताकि उन्हें भी स्वास्थ्य पैकेज प्राप्त हो सके एवं वह अपना इलाज आसानी से बिना किसी आर्थिक संकट के करवा सकें।

आयुष्मान भारत योजना में जोड़ी गई सुविधाओं की सूची

हाल ही में ही केंद्र सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना का दायरा बढ़ाया गया। इस योजना का दायरा बढ़ाते हुए केंद्र सरकार द्वारा कुछ अन्य सुविधाएं जोड़ी गई है। सरकार द्वारा इस योजना के तहत जोड़ी गई सुविधाओं की सूची कुछ इस प्रकार है:-

  • केंद्र सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना को गवर्निंग पैनल से भी जोड़ा गया है। अब तमाम राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों में कबड्डी चैनल पर लोगों को 500000 रुपये तक के अनस्पेसिफाइड सर्जिकल पैकेज प्रदान किए जाएंगे।
  • विभिन्न राज्यों द्वारा हेल्थ बेनिफिट पैकेज की कीमतें तय की गई है और गोल्डन कार्ड धारकों को गैस सूची प्रदान की गई है ताकि वह अपने क्षेत्र के हिसाब से पैकेज को सेलेक्ट कर सके।
  • इस योजना का दायरा बढ़ाने का मकसद है कि ऐसे करोड़ों भारतीयों को मेडिकल सुविधाएं प्रदान की जाए जिनकी आर्थिक स्थिति कमजोर है।
  • साथ ही साथ नेशनल हेल्थ अथॉरिटी द्वारा मेडिकल प्रोसीजर ओ को भी इस योजना के तहत शामिल किया गया है ताकि लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना ना करना पड़े।

3 एकड़ जमीन वाले किसानों को प्राप्त होगा बीमा कवर

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा बताया गया कि हरियाणा के 3 एकड़ वाले किसानों को भी आयुष्मान भारत योजना के तहत शामिल करने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री जी के द्वारा बताया गया कि इस योजना के तहत 1.80 लॉक रुपए वार्षिक आमदनी वालों कवर किया जाएगा। साथी साथ बताया गया कि कृषि बागवानी पशुपालन मछली पालक क्षेत्र से संबंधित किसानों को भी इस योजना के तहत शामिल करने का निर्णय लिया गया है। सरकार द्वारा इस योजना के तहत किसानों को जोड़ने का मुख्य लक्ष्य है कि किसानों को आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया जाए और उनकी आय को दोगुना करने में सहयोग दिया जाए।

उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले के 13297 लोगों को मिला उपचार

आयुष्मान भारत योजना देश के गरीब लोगों के लिए एक वरदान साबित हो रही है। सूत्रों के मुताबिक पता चला है कि इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में लगभग 13297 लोगों को मुफ्त इलाज का उपचार प्राप्त हुआ है। इन सभी लोगों को इस योजना के तहत उपचार प्रदान करने पर लगभग 147625196 रुपए का खर्च आया है। उत्तर प्रदेश के किस जिले में उपचार के लिए लगभग 18 प्राइवेट व 24 सरकारी अस्पताल सूचीबद्ध है। केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के तहत वर्ष 2011 की सूची के लाभार्थियों को शामिल किया गया है जिन्हें लगभग 1350 बीमारियों का उपचार प्राप्त होता है।

आरोग्य सेतु ऐप से जनरेट होगी यूनिक हेल्थ आईडी

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लोगों को 14 अंकों का एक यूनिक नंबर प्राप्त करना होता है जिससे उन्हें आसानी से इलाज प्राप्त होता है। हाल ही में ही केंद्र सरकार द्वारा बताया गया है कि देश के लोग आरोग्य सेतु एप का उपयोग कर यूनिक हेल्थ आईडी का निर्माण करने में सक्षम रहेंगे। अब तक लगभग 20 करोड़ से अधिक लोगों ने आरोग्य सेतु का उपयोग कर आयुष्मान भारत हेल्थ आईडी घर बैठे ही जनरेट कर पाए हैं। यदि आप भी अपने हेल्थ आईडी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप घर बैठे ही आसानी से आरोग्य सेतु ऐप का उपयोग कर कर सकते हैं।

अस्पतालों मैं अब मुफ्त में करवा सकते हैं कोरोना वायरस का इलाज

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि देश में कोरोनावायरस संक्रमण का प्रकोप अभी भी बना हुआ है। और ऐसे में यदि किसी व्यक्ति को खोलो ना हो जाता है तो वह अपना इलाज मुफ्त में आयुष्मान भारत योजना के तहत अस्पतालों में करवा सकता है। यह इलाज प्राप्त करने के नियम व्यक्ति के पास आयुष्मान गोल्डन कार्ड होना अनिवार्य है। गोल्डन कार्ड धारक अपना इलाज मुफ्त में करवा सकते हैं उन्हें 500000 तक का हेल्थ इंश्योरेंस लोहिया कराया जाएगा। पहले इस योजना के तहत अन्य बीमारियों को शामिल किया गया था परंतु हाल ही में ही केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत कोरोनावायरस संक्रमण को भी शामिल कर लिया गया है।

मिलिट्री जवानों को प्राप्त होगा आयुष्मान भारत योजना का लाभ

हाल ही में ही केंद्र सरकार द्वारा मिलिट्री जवानों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ने का निर्णय लिया गया है। चिकित्सा पदाधिकारी द्वारा बताया गया है कि इस योजना के तहत भारत सरकार द्वारा मिलिट्री व पारा मिलिट्री के जवानों को लाभान्वित किया जाएगा। इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा की गई है। इस योजना को शुरू करने का मुख्य लक्ष्य है कि देश के आर्थिक रूप से कमजोर व पिछड़े वर्ग के लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जा सके जिससे वे अपने गंभीर से गंभीर बीमारी का इलाज निशुल्क कर सकें।

बिहार में बिना गोल्डन कार्ड के भी प्राप्त होंगी स्वास्थ्य सुविधाएं

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि देश के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने हेतु केंद्र सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से आयुष्मान गोल्डन कार्ड का उपयोग कर देश के लोग अपना इलाज मुफ्त में कहीं भी करवा सकते हैं। बिहार राज्य में अब तक 3400000 परिवारों के आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बन चुके हैं एवं स्वास्थ्य विभाग के अनुसार लगभग 1 करोड से अधिक लाभ परिवारों को इस योजना के तहत स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त हो चुकी हैं। सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है कि इन सभी जरूरतमंद लोगों को बिना गोल्डन कार्ड के भी तत्काल इलाज की सुविधा मुहैया कराई जाएगी।

प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी आयुष्मान भारत से जुड़ेंगें

बिहार सरकार के अपर सचिव राजीव रोशन जी एवं जिला अधिकारी उप विकास आयुक्त जी के द्वारा बताया गया कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के लाभार्थियों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा जाएगा। इन सभी लाभुकों को स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत 5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही साथ अधिकारी द्वारा निर्देश दिए गए हैं कि लाभार्थियों का चयन ग्राम सभा से सत्यापन एवं अपीलीय समिति के निष्पादन से होगा। इस योजना के प्रति लोगों को जागरूक करने एवं जोड़ने के निर्देश दिए गए हैं।

अब तक 2 करोड़ 60 लाख से अधिक मरीजों का हुआ मुफ्त इलाज

हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा शुक्रवार यानी 10 जनवरी 2022 को बताया गया कि सस्ती और सर्व भौमिक स्वास्थ्य सेवाओं के लिए एक वैश्विक मानक स्थापित किया गया है जिसका नाम आयुष्मान भारत योजना है। इस योजना के तहत देश भर के अस्पतालों में 2 करोड़ 60 लाख से अधिक रोगियों को मुफ्त इलाज प्राप्त हुआ। आयुष्मान भारत के बिना यह अनुमान लगाया गया था कि गरीबों और जरूरतमंद लोगों को एक ही चिकित्सा के लिए लगभग 50,000 से 60,000 करोड़ों रुपये का भुगतान करना पड़ता था। परंतु इस योजना के माध्यम से अब मरीजों को किसी कीमत के कीमोथेरेपी रेडियोथेरेपी और सर जी सहित सभी लाभ प्राप्त हो रही हैं।

सीएपीएफ कर्मियों और उनके परिवार को प्राप्त हुए 35 लाख स्वास्थ्य कार्ड

केंद्रीय मंत्री नित्यानंद राय ने बुधवार को बताया कि केंद्र सरकार ने सीएपीएफ कर्मियों और उनके परिवार वालों को लगभग 35 लाख आयुष्मान स्वास्थ्य हेल्थ कार्ड प्रदान किए। अब सीएपीएफ कर्मी देश भर में लगभग 24000 अस्पतालों में कैशलेस उपचार का लाभ उठा सकते हैं। इतने सारे आयुष्मान सीएपीएफ कार्डों का वितरण एक बड़ी उपलब्धि है। सरकार द्वारा इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि इन बलों के कर्मियों और उनके परिवारों के लिए अच्छी स्वास्थ्य सेवा सुनिश्चित की जा सके। ‌

उत्तर प्रदेश के मान्यता प्राप्त पत्रकारों को भी प्राप्त होगा लाभ

यूपी के सूचना निदेशक द्वारा बताया गया है कि जिला और प्रदेश स्तर के मान्यता प्राप्त पत्रकारों को भी प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना का लाभ मुहैया कराया जाएगा। इस योजना के माध्यम से इन सभी पत्रकारों को 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज प्रदान किया जाएगा। इस निर्णय में मान्यता प्राप्त पत्रकारों के सभी वर्गों को शामिल किया गया है। सूचना निदेशक द्वारा बताया गया है कि जिला स्तर के मान्यता प्राप्त पत्रकारों और उनके परिवार के लोगों को अब चिकित्सा सुविधा मुफ्त में मुहैया कराई जाएगी।

शासकीय और अशासकीय अस्पतालों को आयुष्मान भारत से जोड़ा गया

मध्यप्रदेश के इंदौर जिले में कोरोना के निशुल्क इलाज के लिए सरकार द्वारा 50 शासकीय और अशासकीय अस्पतालों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा गया। मंगलवार यानी 28 दिसंबर 2021 को अपर कलेक्टर अभय बेडेकर ने बताया कि इस योजना के पहले चरण में कोरोनावायरस के लिए 3235 पलंग आरक्षित अस्पतालो को जोड़ा गया। इस चरण में इंदौर के 50 से अधिक पलंग क्षमता वाले 37 अशासकीय अस्पतालों को जोड़ा जाएगा। साथ ही साथ यह भी बताया कि बाकी 1475 पलंग 13 शासकीय अस्पतालों में कोरोनावायरस का इलाज किया जाएगा। 

झारखंड के राशन कार्ड धारकों को भी प्राप्त होगा लाभ

झारखंड के खाद्य सुरक्षा द्वारा बताया गया कि राज्य के प्रत्येक राशन कार्ड धारकों को आयुष्मण भारत जन आरोग्य योजना के तहत बीमा का लाभ मुहैया कराया जाएगा। इस बात की जानकारी मंत्री परिषद की स्वीकृति के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रदान की गई। झारखंड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सुनील जी के द्वारा कैबिनेट की प्रत्याशा की स्वीकृति में ही 25 नवंबर को इस बात की जानकारी दी गई थी। साथ ही साथ इस प्रक्रिया के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा आयुष्मण भारत के कार्यान्वयन के लिए बीमा कंपनियों को भी निर्देश जारी किए गए हैं। अब राज्य का प्रत्येक व्यक्ति बीमा योजना का लाभ प्राप्त कर सकेगा।

अलीगढ़ की राशन की दुकानों पर बनेंगे गोल्डन कार्ड

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में शामिल अंत्योदय परिवारों को अब आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए कहीं भटकते की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। अब आसानी से अपने राशन कार्ड दिखा कर राशन की दुकानों से आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनवा सकते हैं। आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से लाभार्थियों को प्रधानमंत्री डिजिटल पत्र या परिवार रजिस्टर की नकल दिखाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। साथ ही साथ जन सेवा केंद्र संचालकों को निर्देश दिए गए हैं कि वे दुकानों पर विभिन्न प्रकार के शिविर लगाए और गोल्डन कार्ड बनवाने की प्रक्रिया शुरू करें। इस योजना के तहत वर्ष 2018 से लेकर वर्ष 2022 तक लगभग 2.5 लाख गोल्डन कार्ड बनाए गए हैं।

14 करोड से अधिक स्वास्थ्य आईडी निशुल्क उत्पन्न हुई

स्वास्थ्य राज्य मंत्री भारती प्रवीण पवार ने शुक्रवार को लोकसभा को बताया कि सरकार ने प्रत्येक नागरिक के लिए एक मुफ्त स्वास्थ्य आईडी बनाने का प्रावधान किया है और दिसंबर के पहले सप्ताह तक 14 करोड़ से अधिक ऐसे आईडी बनाए गए हैं। पवार के द्वारा कहा गया कि स्वास्थ्य आईडी का निर्माण स्वैच्छिक है। हालांकि एनएचसी नागरिक की अधिकतम भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए स्वास्थ्य आदि के उपयोग और लाभ के बारे में जागरूकता पैदा कर रहा है। आयुष्मान भारत योजना केंद्र सरकार द्वारा 23 सितंबर 2018 को सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना पहचाने गए लाभार्थियों के लिए आरंभ की गई थी जिसके तहत लोगों को 5 लाख रुपये तक का स्वास्थ्य कवरेज मुहैया कराया जाता है।

मदुराई जिले के 1.68 लाख लोगों को मिला लाभ

मदुराई जिले के कलेक्टर वी विष्णु जी के द्वारा बताया गया कि केंद्र के आयुष्मान भारत योजना के तहत जिले के कुल 1.68 लाख रोगियों को 290 करोड़ रुपये स्वास्थ्य बीमा के रूप में प्राप्त हुए। साथिया साथ कलेक्टर जी के द्वारा बताया गया कि इस योजना के तहत लगभग राज्य के 10 फुट सरकारी अस्पताल और 21 निजी अस्पतालों के माध्यम से गरीब लोगों को इलाज मुहैया कराया गया है। इन सभी अस्पतालों से मुफ्त में इलाज प्रदान करने हेतु चिकित्सा खर्च का पूरा करने के लिए सरकार द्वारा लगभग 290 करोड रुपए वितरित किए गए थे।

2 वर्ष में 8.3 लाख कोविड-19 का इलाज हुआ


पिछले 2 वर्ष में आयुष्मान भारत योजना के तहत कोविड-19 के इलाज के लिए लगभग 8.3 लॉक अस्पताल में दाखिले को अधिकृत किया गया। इस विषय से संबंधित जानकारी मंगलवार यानी 30 नवंबर 2021 को राज्य सभा की ओर से प्रदान की गई।  इन 8.3 लाख में से लगभग 4.7 लाख को आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत सूची वृद्ध निजी अस्पतालों में अधिकृत किया गया। साथ ही साथ अधिकारी द्वारा बताया गया कि इस योजना के लाभ पूरे देश में पोटेबल है इसलिए लाभार्थियों के लिए शहरी ग्रामीण विभाजन का रखरखाव नहीं किया जाता है। यदि आप भी इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको जल्द से जल्द इस योजना के तहत आवेदन करना होगा।

15 दिसंबर तक राशन डीलर भी बनाएंगे गोल्डन कार्ड

जन सेवा केंद्र संचालक कंप्यूटर ऑपरेटर स्वास्थ्य विभाग द्वारा एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है। यह अभियान 15 दिसंबर 2021 तक चलाया जाएगा जिसके तहत वे सभी लाभार्थियों आयुष्मान भारत योजना के तहत पंजीकृत हैं वह अपना गोल्डन कार्ड बनवा सकते हैं। साथ ही साथ विभाग द्वारा बताया गया है कि अब उत्तर प्रदेश के लोग अपना आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड राशन डीलर के द्वारा भी बनवा सकते हैं। बताया गया है कि आयुष्मान भारत योजना के लाभ के लिए सभी राशन डीलरों को एक पत्र भेजा जाएगा ताकि प्रत्येक लाभार्थी का गोल्डन कार्ड बन सके। मुरादाबाद जिले के डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह के द्वारा निर्देश जारी किए गए हैं कि शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही नहीं की जाए। 

  • जिस दिन शिकायत की जाएगी उसी दिन उन्हें समस्या का हल प्रदान किया जा सके।
  • इस प्रक्रिया से संबंधित पूरी व्यवस्था तहसीलदार की देखरेख में की जाएगी ताकि लोगों को किसी भी प्रकार की कठिनाई का सामना ना करना पड़े।

बाहर के डॉक्टर करेंगे महात्मा गांधी मेमोरियल में इलाज


झारखंड के जमशेदपुर जिले में उपलब्ध महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज में मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं दिलाने के विभिन्न प्रयास किए जा रहे हैं। इस प्रक्रिया के लिए एमजीएम अध्यापक डॉ अरुण कुमार ने एक मैनेजमेंट कमेटी का गठन किया। इस कमेटी की जल्द से जल्द एक बैठक की जाएगी। और साथ ही साथ अध्यक्ष जी के द्वारा बताया गया है कि अगर मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं दिलाने के लिए बाहरी चिकित्सा ओं की भी मदद लेनी पड़ेगी तो वह हर हालत में मदद प्राप्त करेंगे। और बाहर के डॉक्टरों को उनके एवज के हिसाब से उन्हें फीस दी जाएगी। आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से जिले के गरीब लोगों को बेहतर इलाज की सुविधाएं प्राप्त होंगी एवं वह आत्मनिर्भर बन सकेंगे।

उत्तराखंड के 27112 कैंसर रोगियों को मिला निशुल्क इलाज


हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना के तहत अब उत्तराखंड के लोगों को निशुल्क कैंसर का इलाज प्राप्त हो रहा है। योजना के तहत राज्य के लगभग 27112 कैंसर रोगियों को मुफ्त उपचार की सुविधा प्राप्त हुई है। जिसके लिए सरकार द्वारा लगभग 50 करोड रुपए की राशि का व्यय रखा है। अब तक उत्तराखंड में 44 लाख लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाए गए हैं। साथ ही साथ सरकार द्वारा बताया गया है कि 1.33 लाख मरीजों की डायलिसिस की गई है। यह योजना कैंसर रोगियों के लिए एक वरदान साबित हुई है।

15 नवंबर तक निशुल्क बनेंगे आयुष्मान गोल्डन कार्ड


हरियाणा के एसडीएम भूपेंद्र सिंह के द्वारा बताया गया कि शादी के अमृत महोत्सव के तहत स्वास्थ विभाग द्वारा लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड श्री बनवाने का शुभ अवसर प्रदान कर रहा है। इस योजना के तहत लाभार्थी 15 नवंबर तक आयुष्मान भारत पखवाड़े के तहत फ्री कार्ड बनवा सकते हैं। निशुल्क कार्ड बनवाने के लिए पात्र लाभार्थियों को अस्पतालों सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों तथा सूची बुध प्राइवेट अस्पतालों में आधार कार्ड व राशन कार्ड की फोटो कॉपी लेकर जाना होगा। साथ ही साथ एसडीएम द्वारा बताया गया कि अब आते नागरिक आयुष्मान भारत योजना के तहत ना केवल सरकारी अस्पतालों एवं सूचीबद्ध प्राइवेट अस्पतालों में भी 5 लाख तक का कैशलेस मेडिकल बीमा प्राप्त कर सकते हैं।

यूपी से 7852 परिवारों को आयुष्मान भारत से जोड़ा जाएगा


उत्तर प्रदेश के सीएम और डॉक्टर सुनील शर्मा द्वारा बताया गया है कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से 7852 बीपीएल राशन कार्ड परिवारों को जोड़ा जाएगा। इस प्रक्रिया के लिए एक विशेष अभियान का संचालन किया जाएगा जिसमें सभी लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाए जाएंगे। इस योजना के तहत नोएडा जिले में 28000 से अधिक लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाए जाएंगे। तथा साथ ही साथ आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों की संख्या बढ़ाने के लिए तेजी से प्रयास किया जा रहा है। अब तक इस योजना का लाभ एक लाख से अधिक लाभार्थियों को प्राप्त हो चुका है और जल्द ही जिले के बकाया परिवारों को जोड़ा जाएगा

उत्तराखंड के गोल्डन कार्ड धारकों को मिलेंगी तीन नई सुविधाएं

आज यानी 1 नवंबर 2021 से आयुष्मान भारत योजना के तहत गोल्डन कार्ड धारकों को तीन नई सुविधाएं प्राप्त होंगी। इन तीन नई सुविधाओं में अब लोग किडनी प्रत्यारोपण निशुल्क कर सकते हैं। और साथ ही साथ सरकार द्वारा इस योजना के तहत चार सौ बीमारियों के इलाज के पैकेज में बढ़ी हुई दरें लागू की गई हैं। यह नई दरें नवंबर से लागू की जाएंगी। इस योजना के तहत राशन कार्ड धारकों का भी आसानी से अब गोल्डन कार्ड बन सकेगा। इस योजना के तहत अब तक 44 लाख से अधिक लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बन चुके हैं। इन लाभार्थियों में से लगभग 3.60 लाख लाभार्थियों का सूचीबद्ध अस्पतालों में मुफ्त इलाज हो चुका है।

उत्तराखंड में बने गोल्डन कार्ड और लाभार्थी की सूची

इस योजना के तहत उत्तराखंड राज्य में बने गोल्डन कार्ड और लाभार्थियों की सूची कुछ इस प्रकार है:-

जिलाकार्डलाभार्थीव्यय राशि
अल्मोड़ा2.37 लाख74399.44
बागेश्वर1.01 लाख32933.32
चमोली1.8 लाख1013814.31
चंपावत0.97 लाख33824.35
देहरादून9.54 लाख108338157.19
हरिद्वार7.26 लाख5692089.86
नैनीताल4.08 लाख3171529.35
पौड़ी3.24 लाख2756334.67
पिथौरागढ़1.82 लाख86597.44
रुद्रप्रयाग1.09 लाख57099.90
टिहरी2.91 लाख2135731.75
यूएस नगर6.67 लाख4311147.88
उत्तरकाशी1.69 लाख1037716.81

आयुष्मान भारत योजना का दायरा बढ़ाया जाएगा 

21 अक्टूबर 2021 को नीति आयोग के सदस्य डॉ पीके पॉल द्वारा बताया गया कि केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई आयुष्मान भारत योजना का दायरा बढ़ाया जाएगा। इस प्रक्रिया के लिए पीएम- जय ने अन्य सरकारी योजनाओं को अपनाना शुरू कर दिया है। इस प्रक्रिया पर राज्य सरकारों ने विकास के लिए कई संभावनाओं पर विचार किया है। नीति आयोग के सदस्य द्वारा बताया गया कि स्वास्थ्य क्षेत्र के बुनियादी ढांचे को मजबूत किया जाएगा और हेल्थ केयर पर अपना बजट बढ़ाया जाएगा। साथ ही साथ डॉक्टर द्वारा बताया गया कि वह सभी संस्थान जिन्होंने इस योजना में भाग्य नहीं लिया है उन सभी को साझेदारी करनी चाहिए।

  • डॉ पॉल द्वारा बताया गया कि इस योजना के तहत मौजूदा बजट 4.5 प्रतिशत है जिसे बढ़ाकर 8% करना होगा।
  • और साथ ही साथ ज्यादा से ज्यादा जिला अस्पतालों को मेडिकल कॉलेज में बदलने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

निजी दवा दुकानों से अब मुफ्त में मिलेंगे दवाइयां

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के सीईओ डॉ आर एस शर्मा द्वारा बुधवार यानी 20 अक्टूबर 2021 को बताया गया कि आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभार्थियों को जो दवाइयां सरकारी या निजी अस्पतालों में प्राप्त नहीं हुई है वह यह दवाइयां निजी मेडिकल स्टोर से मुफ्त में खरीद सकते हैं। इस प्रक्रिया के लिए झारखंड के प्रत्येक जिले में ड्रग इंस्पेक्टर से समझौता किया गया है। डॉ आर एस वर्मा द्वारा बताया गया कि उन्होंने इस कार्यक्रम के लिए झारखंड को सबसे पहले चुना है और अन्य अस्पतालों को इस योजना के प्रति प्रोत्साहित कर रहे हैं। इस प्रक्रिया के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा अस्पताल इस योजना से जुड़ सकेंगे एवं प्रोत्साहित हो सकेंगे।

ट्रांसजेंडरों को भी प्राप्त होगा आयुष्मान भारत योजना का लाभ


जैसे कि हम सभी जानते हैं कि देश के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने हेतु सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना का संचालन किया गया था। इस योजना के तहत प्रति परिवार को प्रति वर्ष 500000 रुपये का मेडिकल प्रदान किया जा रहा है। सरकार द्वारा इस योजना के तहत ट्रांसजेंडर लोगों को शामिल करने का निर्णय लिया गया है। इस विषय से संबंधित सरकार द्वारा एक नई योजना बनाई जाएगी जिसमें हेल्थ कवर और हेल्थ इंटरवेंशन शामिल किए जाएंगे। सरकार द्वारा ट्रांसजेंडर व्यक्तियों द्वारा अभिषेक सर्जरी और चिकित्सा सहायता को कवर किया जाएगा।

झारखंड के तीन लाख परिवारों को मिलेगा आयुष्मान योजना का लाभ

2 अक्टूबर 2021 को एसोसिएशन ऑफ प्लास्टिक सर्जन ऑफ इंडिया बिहार एंड झारखंड की ओर से आयोजित हुए कार्यक्रम के दौरान स्वास्थ्य अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार जी के द्वारा बताया गया कि झारखंड के तीन लाख परिवारों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री द्वारा बताया गया राज्य के लगभग 57 लाख परिवारों को इस योजना का लाभ प्राप्त हो रहा है। ‌ इसके साथ ही साथ प्रोजेक्ट भी तैयार किया जा रहा है ताकि उन बीमारियों को शामिल किया जाए जिन बीमारियों का इलाज प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत नहीं हो पा रहा है। 

  • साथ ही साथ स्वास्थ्य सुविधाओं को और बेहतर बनाने के लिए सरकार द्वारा 40,000 शहीदों को जोड़ने की तैयारी की जा रही है। 
  • इसके पश्चात हर 3 महीने में एक स्वास्थ्य सर्वे किया जाएगा जिसके तहत एक पॉलिसी तैयार की जाएगी और उस पॉलिसी के हिसाब से डॉक्टरों को पोस्टिंग प्राप्त होगी।

2  अक्टूबर से वाराणसी के नए लोगों को आयुष्मान भारत योजना से जोड़ा जाएगा


जैसे कि हम सभी जानते हैं कि देश के लोगों को गोल्डन कार्ड एवं ₹500000 तक का निशुल्क इलाज प्रदान करने हेतु केंद्र सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया गया है। वाराणसी मैं अब तक 66059 लाभार्थियों को आयुष्मान भारत योजना  का लाभ प्रदान किया जा चुका है। वहीं अब तक 2.89 लाख आयुष्मान कार्ड बनाए जा चुके हैं। परंतु लंबे समय से इस योजना के दायरे बढ़ाने की मांग की जा रही है। 2 अक्टूबर 2021 से आयुष्मान भारत योजना के तहत नए लोगों को जोड़ा जाएगा। इस प्रक्रिया की तैयारी स्वास्थ्य विभाग द्वारा जोरों शोरों से की जा रही है।

आयुष्मान भारत योजना का हुआ विस्तार

23 सितंबर 2021 को आयुष्मान भारत योजना के 3 साल पूर्ण हो चुके हैं। सरकार द्वारा इस योजना के विस्तार का निर्णय लिया गया है। आयुष्मान भारत योजना के विस्तार के लिए सरकार द्वारा अस्पताल हेल्प डेस्क किओस्क, लाभार्थी सुविधा एजेंसी, पीएमकेवीवाई कमांड सेंटर, और यूनिट एचईसी अतिरिक्त सेवाएं शुरू की गई है। साथ ही साथ इस योजना के तहत राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण एक कार्यान्वयन एजेंसी किस तरह कार्य करेगी। जिसके माध्यम से लाभार्थियों को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। पिछले 3 वर्षों से अब तक लगभग देश के 2.20 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को इस योजना का लाभ प्रदान किया गया है।

  • इस योजना के विस्तार करने से भारत सरकार का लक्ष्य है कि डिजिटल प्रौद्योगिकी का लाभ प्रदान कर सेवाओं को सुचारू मजबूत और कुशल बनाया जाए।
  • इस योजना का लाभ अब परिवारों में शादी करके आई नई नवेली बहू को भी बिना किसी कार्य डॉक्यूमेंट माध्यम से प्रदान किया जाएगा।

आरोग्य मंथन 3.0 का हुआ शुभारंभ


केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडवीया द्वारा 23 सितंबर 2021 को इस योजना के तहत आरोग्य मंथन 3.0 का शुभारंभ किया गया। यह वर्ष आयुष्मान भारत दिवस के रूप में मनाया गया है। इस आरोग्य मंथन को 23 सितंबर 2021 से लेकर 25 सितंबर 2021 तक मनाया जाएगा। इसके अलावा Ayushman Bharat Yojana के तहत सर्वेक्षण प्रदर्शन करने वाले राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशों को पुरस्कार भी प्रदान किया जाएगा। साथ ही साथ इस योजना के विस्तार पर कुछ अन्य सुविधाएं जोड़ी गई हैं जिससे लोगों को इस योजना का लाभ बेहतर तरीके से मुहैया कराया जा सके।

झारखंड के लगभग 24 निजी अस्पताल आयुष्मान भारत योजना में हुए शामिल

राज्य सरकार द्वारा झारखंड के लगभग 24 निजी अस्पतालों को आयुष्मान भारत योजना के तहत जोड़ दिया गया है। इस बात का निर्णय राज्य की एंपेनल्ड कमेटी द्वारा 11 सितंबर 2021 लिया गया था। स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताया गया है कि रांची जिले के छह, हजारीबाग के पांच, देवघर के तिन, पूर्वी सिंहभूम के दो, रामगढ़ के दो, सिमडेगा के दो, गोड्डा के एक, धनबाद के दो अस्पताल शामिल किए गए हैं।  अब राज्य के प्रत्येक आम आदमी को बेहतर चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जाएगी। साथ ही साथ निजी अस्पतालों से जुड़ने पर गरीबों को 5 लाख की मुफ्त स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ प्राप्त होगा। आयुष्मान भारत योजना के तहत जुड़े निजी अस्पतालों की सूची कुछ इस प्रकार है:-

  • अनुराग मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल, देवघर
  • आई हॉस्पिटल, रांची
  • श्रेया हॉस्पिटल फॉर विमेन एंड चाइल्ड, रांची
  • बाबा झुमराज ऑर्थो क्लिनिक, देवघर
  • डॉ अभिषेक चाइल्ड केयर हॉस्पिटल, पूर्वी सिंहभूम
  • शिवम हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर, सिमडेगा
  • होपवेल हॉस्पिटल, रांची
  • प्रॉमिस हेल्थ केयर, रांची
  • बेरेलिया नर्सिंग होम, रामगढ़
  • कलावंती हॉस्पिटल, हजारीबाग
  • अपेक्स हॉस्पिटल, हजारीबाग
  • विजन हाउस आई, फाउंडेशन 
  • आयुष्मान हॉस्पिटल एंड अनुराग एडवांस डिस्ट्रिक्ट सेंटर, हजारीबाग
  • राज हॉस्पिटल, सिमडेगा
  • सूरज नर्सिंग होम, रांची
  • आरोग्य हेल्थ केयर, रामगढ़
  • दृष्टि आई हॉस्पिटल, हजारीबाग
  • डॉक्टर विनस आई एंड डेंटल हॉस्पिटल, हजारीबाग
  • जीवन रेखा नर्सिंग होम, धनबाद

एमपी में आयुष्मान भारत योजना के तहत डेंगू और चिकनगुनिया का इलाज होगा शामिल

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा 17 सितंबर को एक टीकाकरण महा अभियान की समीक्षा के दौरान घोषणा की गई के आयुष्मान भारत योजना के तहत मध्यप्रदेश में डेंगू और चिकनगुनिया का इलाज भी शामिल किया जाएगा। की व्यवस्था सूचीबद्ध अस्पतालों में की जाएगी। इसकी रोकथाम के लिए जल स्रोत में दवा का छिड़काव लारवा नष्ट करना और फागिंग का काम मिशन मोड से किया जाएगा।। साथ ही साथ सरकार द्वारा बताया गया कि आवश्यकता के अनुसार आपूर्ति टिके लोगों को प्राप्त होते रहेंगे। मुख्यमंत्री जी द्वारा कहा गया कि कुछ जिलों में डेंगू और चिकनगुनिया के मामले सामने आए हैं तो इसके लिए एक नियंत्रण प्रयास किया जाए और जागरूकता अभियान चलाया जाए।

  • मुख्यमंत्री जी द्वारा कहा गया है कि प्रतिदिन कम से कम 1000000 व्यक्ति को टीके लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया जाए। 
  • और संभव हो सके तो मतदाता सूची को आधार बनाकर जनसहयोग से टीका लगवाने के नियम व्यक्तियों को केंद्र पर लाने का काम किया जाए।

नए लोगों को किया जाएगा आयुष्मान भारत योजना में शामिल

हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 2018 में असहाय परिवारों को मुफ्त में इलाज मुहैया कराने हेतु आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया गया था। इस योजना का लाभ उन लाभार्थियों को प्रदान किया जाएगा जो आर्थिक तंगी होने के कारण अपनी बीमारियों का इलाज करवाने में असमर्थ रहते हैं। Ayushman Bharat Yojana के तहत 2011 में हुए सामाजिक आर्थिक जातीय जनगणना के लाभार्थियों को शामिल करने का निर्णय लिया गया था। परंतु हाल ही में ही सरकार द्वारा इस योजना के तहत कुछ बदलाव किए गए हैं। अब 2011 के बाद विभाग अथवा जन्म के माध्यम से आए किसी नए सदस्य को भी प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत शामिल किया जाएगा।

  • लाभार्थी अपना आयुष्मान भारत कार्ड किसी भी सेवा केंद्र पर जाकर पहचान पत्र दिखाकर बनवा सकते हैं।
  • साथ ही साथ वे निजी अस्पतालों एवं सरकारी अस्पतालों में भी यह कार्ड मुफ्त में बनवा सकते हैं।

आयुष्मान भारत योजना के तहत श्रमिक होंगे लाभान्वित 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा आयुष्मान भारत योजना के तहत श्रमिकों को लाभान्वित कराए जाने की घोषणा की गई थी। 4 सितंबर 2021 को मुख्य कार्यपालन अधिकारी संगीता सिंह जी द्वारा उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड में पंजीकृत श्रमिकों एवं उनके परिवार वाले सदस्यों को जोड़ने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए 6 सितंबर से लेकर 12 सितंबर तक एक विशेष अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान के कल्याण बोर्ड के पंजीकृत श्रमिकों को आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड मुहैया कराए जाएंगे। इन कार्ड का उपयोग करके श्रमिक आयुष्मान भारत योजना के तहत विभिन्न सरकारी व निजी अस्पतालों में अपना इलाज मुफ्त में प्राप्त करने में सक्षम रहेंगे।

  • अब राज्य के मेहनत व मजदूरी करने वाले श्रमिकों को भी इस योजना का लाभ मुहैया कराया जाएगा और उनके आयुष्मान कार्ड बनवाए जाएंगे।
  • 6 सितंबर से ही जिला मुख्यालय पर विशेष कैंप का आयोजन किया जाएगा जिसमें विभिन्न श्रमिक अपना आवेदन Ayushman  Bharat Yojana में करने में सक्षम रहेंगे।

आयुष्मान भारत योजना में किए गए महत्वपूर्ण बदलाव

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि देश के गरीब लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने हेतु केंद्र सरकार द्वारा PM Ayushman Bharat Yojana का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के तहत प्राइवेट अस्पतालों के लिए कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किए गए हैं। सरकार द्वारा इस योजना के तहत प्राइवेट अस्पतालों के लिए क्लेम सेटलमेंट की प्रक्रिया को तेज करने के लिए नए मॉडल तैयार किए गए हैं। इन मॉडल का उपयोग करके अस्पतालों के भुगतान को तुरंत सेटल किया जाएगा ता के देश के ज्यादा से ज्यादा निजी अस्पताल इस योजना में भाग लेने के लिए उत्साहित हो।

  • केंद्र सरकार द्वारा निजी अस्पतालों की भागीदारी आयुष्मान भारत योजना में सुनिचित करवाने के लिए यह महत्वपूर्ण बदलाव किये गए हैं
  • इन बदलाव के बाद निजी अस्पतालों में मरीज़ो की संख्या बढ़ेग। 

2 करोड़ लोगों को मिला आयुष्मान भारत योजना का लाभ

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि देश के गरीब लोगों को मुफ्त में इलाज मुहैया कराने हेतु आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ किया गया है। अब तक इस योजना के तहत 2 करोड़ गरीब परिवारों को इलाज प्राप्त हो चुका है। जिसके लिए सरकार द्वारा लगभग 26,683 करोड रुपए की राशि का वहन किया गया है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के आंकड़ों के अनुसार पता चला है कि दो करोड़ के अलावा लगभग 16.20 करोड़ पात्र लाभार्थियों का इस योजना के तहत सत्यापन किया जा चुका है और उन सभी व्यक्तियों को आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड भी प्रदान किए जा चुके हैं।

  • सरकार द्वारा बताया गया है कि इस योजना के तहत 918 स्वास्थ्य लाभ पैकेज शामिल है जिनमें कोरोना का इलाज और कोरोना के टेस्ट निशुल्क है।
  • आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के साथ अब तक 23000 सर्वजनिक और निजी अस्पताल जुड़ चुके हैं।

मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस के इलाज के लिए नई योजना का शुभारंभ

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा कोरोनावायरस संक्रमण को देखते हुए एक नई योजना को लागू करने का निर्णय लिया गया है। इस योजना के माध्यम से राज्य के व्यक्ति अपना इलाज निशुल्क करवा सकेंगे। इस योजना के अंतर्गत आयुष्मान भारत योजना के निजी अस्पतालों को पैकेज प्रदान किया जाएगा। जिससे राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 अनुबंधित किया जाए। इस बात की घोषणा मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा 6 मई 2021 को एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से की गई थी। सरकार द्वारा कोविड-19 के इलाज के लिए शुरू की गई योजना के अंतर्गत सिटी स्कैन दवाइयां ऑक्सीजन परामर्श शुल्क आदि प्रदान की जाएंगी।

मध्यप्रदेश के संक्रमित नागरिकों को मिला आयुष्मान भारत योजना में इलाज

जैसे कि हम सभी जानते हैं केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत देश के आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को ₹500000 तक का मुफ्त इलाज मुहैया कराया जाता है। सूत्रों के अनुसार पता चला है कि मध्य प्रदेश मैं लगभग 2 करोड़ 42 लाख आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बन चुके हैं। देखा जाए तो इस संख्या के अनुसार राज्य की 88% जनसंख्या कवर हो चुकी है। इन सभी लोगों को कोरोनावायरस संक्रमण का निशुल्क इलाज प्रदान किया जाएगा। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा 5 मई 2021 को आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 68 निजी अस्पतालों को 3 महीने के लिए एंपैनल किया गया है।

  • अस्पतालों को अस्थाई रूप से एंपैनल करने का मुख्य उद्देश्य है कि निजी अस्पतालों में संक्रमित नागरिकों को निशुल्क इलाज मुहैया कराया जाए।
  • मध्य प्रदेश का प्रत्येक सिला अब निजी अस्पतालों में अपना इलाज कराने में सक्षम रहेगा।

मध्य प्रदेश सरकार प्रदान करेगी डायग्नोस्टिक की आर्थिक सहायता

कोरोनावायरस का इलाज होने पर संक्रमित व्यक्तियों को एडवांस डायग्नोस्टिक की आवश्यकता पड़ती है और इसके लिए लगभग 5000 रुपये का भुगतान करना पड़ता। इसी चीज को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के नागरिकों को इलाज करवाने के लिए एडवांस डायग्नोस्टिक के लिए 5000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। आयुष्मान भारत योजना को लागू होने के बाद मध्य प्रदेश में लगभग 60915 बैग उपलब्ध कराए जाएंगे। जिसमें से लगभग 27159 बेड शासकीय अस्पतालों में उपलब्ध होंगे और 3675 बेड अनुबंधित अस्पतालों में मुहैया कराए जाएंगे। इस योजना के अंतर्गत अनुबंधित निजी अस्पतालों में उपलब्ध कराए जाएंगे।

18 वर्ष तक के कोविड-19 प्रभावित बच्चों को मिलेगा 5 लाख रुपये का बीमा

हाल ही में ही ट्वीट के माध्यम से केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर जी के द्वारा बताया गया है कि केंद्र सरकार द्वारा कोविड-19 से प्रभावित 18 वर्ष तक के सभी बच्चों को आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख रुपये तक का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा। संसद के मानसून सत्र के दौरान केंद्रीय मंत्री द्वारा बताया गया है कि इस योजना से लगभग 13 करोड़ से अधिक परिवार लाभान्वित हो सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत प्रदान जाने वाले बीमा के तहत प्रीमियम का भुगतान पीएम केयर्स के द्वारा किया जाएगा। मंत्री द्वारा बताया गया कि पीएम के द्वारा उन बच्चों को मदद प्रदान की जाएगी जिन्होंने अपने माता पिता को खोया है।

  • इस निर्णय के माध्यम से संकट की स्थिति में बच्चों को बच्चों को सुरक्षा कवच प्रदान किया जाएगा।
  • इसके बाद सभी कोरोनावायरस से प्रभावित बच्चे जिन्होंने अपने माता पिता को खोया है उन्हें किसी भी प्रकार की तंगी का सामना नहीं करना पड़ेगा।

पीएम केयर्स फॉर चिल्ड्रन योजना

आयुष्मान भारत योजना

निजी अस्पताल भी शामिल होंगे आयुष्मान भारत योजना में

प्राची डॉ केएन मिश्रा सिविल सर्जन डॉ संजीव कुमार सिन्हा और अधीक्षक डॉ मणि भूषण शर्मा द्वारा 28 जुलाई 2021 को आयोजित कार्यशाला मैं जिलों के सभी निजी नर्सिंग होम को शामिल करने का निर्णय लिया गया है। अब बिहार के सभी निजी नर्सिंग होम के संचालकों और चिकित्सकों को आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत शामिल किया जाएगा ताकि गरीबों को निजी व सरकारी अस्पतालों में बिना किसी कठिनाई के लाभ प्राप्त हो सके। कार्यशाला को संबोधित करते हुए उपलब्ध अधिकारियों द्वारा अस्पतालों के चिकित्सकों को शामिल करने के लिए दस्तावेजों की जानकारी प्रदान की गई।

  • आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत शामिल नर्सिंग होम को अब काफी लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • और साथ ही साथ सरकार द्वारा कॉमन सर्विस सेंटर को आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनाने की प्रक्रिया को तेज करने की सलाह दी गई।

गांव गांव में होगा आयुष्मान अभियान शुरू

जम्मू कश्मीर की स्टेट हेल्थ एजेंसी द्वारा गांव के सभी लोगों को आयुष्मान भारत योजना से जुड़े लाभ प्रदान करने हेतु आयुष्मान अभियान की शुरुआत की गई है। यह अभियान प्रत्येक जिले के प्रत्येक ब्लॉक में शुरू किया गया है। इस अभियान को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य है कि लोगों को आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। गांव का प्रत्येक व्यक्ति इस अभियान के तहत पंजीकरण करा सकता है। सरकार द्वारा इस अभियान को 15 जुलाई को शुरू किया गया था और यह अभियान आज यानी 19 जून को खत्म होगा। स्टेट हेल्थ एजेंसी द्वारा शुरू किए गया आयुष्मान अभियान के अंतर्गत लोगों को आयुष्मान भारत योजना के लिए जागरूक किया जाता है।

  • इसके साथ-साथ आशा वर्कर्स लोगों को इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण कराने के लिए जागरूक करती हैं।
  • इस योजना के प्रति जागरूक करने का मुख्य उद्देश्य है कि लोगों को स्वास्थ्य और चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराई जा सके।

लोगों को मिला आयुष्मान भारत योजना का लाभ

जैसे की हम सभी जानते हैं केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत देश के गरीब लोगों को मुफ्त में इलाज मुहैया कराया जाता है। अब तक इस योजना का लाभ देश के सैकड़ों लोगों को प्राप्त हो चुका है। हाल ही में विभिन्न सूत्रों के माध्यम से पता चला है कि पूर्णिया जिले में आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत लगभग 8646 लोगों को लाभ पहुंचाया गया है। साथ ही साथ जिला आईटी मैनेजर अजीत कुमार जी के द्वारा बताया गया है कि अब तक इस योजना के अंतर्गत 151498 लोगों को गोल्डन कार्ड मुहैया कराया जा चुका है।

  • अब तक इस जिले में आयुष्मान भारत योजना को काफी कामयाबी हासिल हुई है।
  • इस जिले में निजी अस्पतालों में भी बराबर का इलाज प्रदान किया जा रहा है।
  • लगभग राज्य के 1600 लोगों को सूचीबद्ध अस्पतालों में इलाज प्राप्त हुआ है।

आयुष्मान भारत योजना में हुआ 11.38 करोड़ का खर्च

जैसे कि हम सभी जानते हैं केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत देश के गरीब लोगों को मुफ्त में इलाज मुहैया कराया जाता है। इस योजना के अंतर्गत अब तक 7879 लाभार्थियों को उपचार दिया गया है और इस उपचार पर सरकार द्वारा लगभग 11.38 करोड़ रुपए का खर्च किया गया है। इस योजना के अंतर्गत उन सभी लाभार्थियों को शामिल किया जाता है जो आर्थिक जनगणना 2011 की सूची में शामिल होते हैं। इस योजना के माध्यम से देश के बहुत से लोगों को चिकित्सा के खर्चों से राहत प्राप्त हुई है और वह आत्मनिर्भर बने हैं।

PM Swasthya Suraksha Yojana

2833 मरीजों के इलाज पर 3.60 करोड रुपए हुए खर्च

कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरे लहर मैं लगभग आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 45 फ़ीसदी मरीजों की बढ़ोतरी हुई है। देखा जाए तो 31 दिसंबर 2020 तक आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत गुरुग्राम जिले में 3466 लोगों का इलाज हुआ था लेकिन अब उसकी संख्या बढ़कर 6299 हो चुकी है। 31 दिसंबर तक पंजीकृत लाभार्थियों के इलाकों में लगभग दो करोड़ का खर्च आया था। परंतु कोरोनावायरस की दूसरी लहर के कारण पिछले छह माह में लगभग 2833 मरीजों की बढ़ोतरी हुई है और उनके इलाज पर 36000000 रुपये से ज्यादा की धनराशि खर्च की गई है।

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत 6 माह के आंकड़े

योजना के तहत 6 माह के आंकड़े कुछ इस प्रकार हैं:-

विषयआंकड़े
योजना के तहत कुल कार्ड4336
मरीजों का इलाज2833
शासकीय अस्पतालों में इलाज306
निजी अस्पतालों में इलाज2513
इलाज में खर्च30608391

निजी अस्पतालों में मरीज करवा सकेंगे इलाज

7 जुलाई 2021 को स्वास्थ्य विभाग का कामकाज संभालने वाले डॉक्टर धन सिंह रावत जी के द्वारा बताया गया कि अब राज्य के सभी निजी अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना का लाभ लोगों को प्रदान किया जा सकेगा। पहले लोगों को आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था जिसे अब डॉ रावत ने निर्देश देकर सभी समस्याओं को दूर करने का निर्णय लिया है। यह निर्णय आयुष्मान भारत योजना को एक बेहतर और प्रभावी बनाने के लिए किया गया है। इस योजना के अंतर्गत यह सुविधा प्रदान करने का मुख्य लक्ष्य है कि लोगों को बेहतर इलाज की सुविधा प्रदान की जा सके।

  • जल्द ही उच्च स्तरीय बैठक में बुलाकर सूची में लोगों के नाम ना होने पर बाइलॉज से जुड़ी सभी परेशानियों को दूर किया जाएगा।
  • पदाधिकारी द्वारा घोषणा की गई है कि करो कि हम भावित तीसरे लहर को देखते हुए सभी अस्पतालों को सतर्क रहना चाहिए और निजी अस्पतालों को भी इसके सुझाव देने चाहिए।

आयुष्मान भारत योजना के तहत दंत चिकित्सा उपचार

केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत देश के गरीब लोगों को स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराया जाता है। इस योजना के अंतर्गत अब तक विभिन्न प्रकार के इलाजो को शामिल किया गया है। परंतु हाल ही में ही सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत दंत चिकित्सा को शामिल करने का निर्णय लिया गया है। जल्द ही आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत लोगों को दातों का इलाज प्रदान किया जाएगा। इस प्रक्रिया के बारे में भारत सरकार के राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा डेंटल हाउसिंग ऑफ इंडिया से सुझाव के लिए एक पत्र भेजा गया है।

  • डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा लगातार डेंटल ट्रीटमेंट को इस योजना के अंतर्गत शामिल करने के प्रयास चल रहे हैं।
  • ताकि आम लोगों को अपना डेंटल इलाज करवाने गए किसी भी प्रकार की कठिनाई का सामना ना करना पड़े।
  • जल्द ही डीसीआई और एनएच के द्वारा एक मीटिंग तैयार की जाएगी जिसमें डेंटल पैकेजो को लेकर काफी सुझाव दिए जाएंगे |

प्रधानमंत्री कोरोना केयर फंड योजना

सीएपीएफ स्वास्थ्य बीमा योजना

हमारे देश के माननीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी के द्वारा सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर सीएपीएफ स्वास्थ्य बीमा योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से देश के पुलिसकर्मियों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाएगा। सीआरपीएफ स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ देश के सीआरपीएफ असम राइफल एवं राष्ट्रीय सुरक्षा बोर्ड के 28 लाख पुलिसकर्मियों को प्रदान किया जाएगा। Ayushman CAPF Health Insurance Yojana के अंतर्गत देश के पुलिसकर्मी अपना इलाज 24,000 अस्पतालों में निशुल्क करवा सकते हैं।

  • आयुष्मान सीएपीएफ स्वास्थ्य बीमा योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत आरंभ किया गया है।
  • इस शुभ अवसर पर गृहमंत्री द्वारा साथ केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के कर्मियों को स्वास्थ्य कार्ड भी उपलब्ध कराया गया है।
  • कार्ड उपलब्ध कराते समय हमारे गृह मंत्री द्वारा पुलिस कर्मियों को कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई करने के लिए उत्साहित किया गया।
  • तथा उनके द्वारा सभी पुलिसकर्मियों को सफलतापूर्वक विजय प्राप्त करने पर बधाई प्रदान की गई।
आयुष्मान सीएपीएफ स्वास्थ्य बीमा योजना

PMJAY SEHAT Health Insurance Scheme

हमारे प्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा कश्मीर के नागरिकों को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ प्रदान करने हेतु सेहत स्वास्थ्य बीमा योजना का शुभारंभ किया गया है। पहले जम्मू कश्मीर के सभी नागरिक किसी कारणवश आयुष्मान भारत योजना का लाभ नहीं उठा पा रहे थे। इस योजना का लाभ प्रदेश के केवल छह लाख परिवारों को ही प्रदान किया जा रहा था। इसी चीज को मद्देनजर रखते हुए सरकार द्वारा इस योजना को पूरे प्रदेश के लिए आरंभ किया गया है। अब जम्मू कश्मीर के लगभग 21 लाख परिवारों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

  • प्रदेश केवल सबकी लोग जो आयुष्मान भारत योजना का लाभ नहीं उठा पाए हैं उन्हें सेहत स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • SEHAT Health Insurance Scheme योजना के अंतर्गत लगभग कश्मीर के 299 सरकारी अस्पताल एवं 35 निजी अस्पताल पंजीकृत है।
  • प्रदेश के लोग अपना इलाज कराने के लिए देश के किसी भी एंपेनल्ड हॉस्पिटल में जा सकते हैं एवं अपना निशुल्क इलाज करा सकते हैं।
PMJAY SEHAT Health Insurance Scheme

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अस्पताल सूची

जैसे कि हम सब जानते हैं केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत देश के गरीब परिवारों को स्वास्थ्य बीमा प्रदान किया जाएगा जिसका उपयोग करके वह अपना इलाज आसानी से निशुल्क करा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत देश के गरीब परिवारों को सरकारी अस्पतालों में दाखिला एवं इलाज एकदम निशुल्क कराया जाएगा। सरकार द्वारा प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY) के अंतर्गत 1350 पैकेज शामिल किए गए हैं जिसके तहत की नींव थेरेपी मासिक सर्जरी जीवन रक्षक इला जो को शामिल किया गया है

  • देश के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के अंतर्गत आवेदन कराना चाहते हैं उन्हें अपने नजदीक के जन सेवा केंद्र में जाकर पंजीकरण कराना होगा
  • PMJAY के तहत जन सेवा केंद्र में आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनवाए जा रहे हैं
  • जिसका उपयोग करके आप सरकारी एवं निजी अस्पतालों में 500000 तक का मुफ्त इलाज करा सकते हैं
PMJAY Free Covid 19 Test

PMJAY Free Covid 19 Test

देश के आर्थिक रूप से कमजोर व्यक्ति अब अपना कोविड-19 इलाज कराना चाहते हैं उन्हें अस्पताल सूची की जांच आधिकारिक वेबसाइट पर कर सकते हैं। आयुष्मान भारत योजना सरकारी अस्पतालों के साथ निजी अस्पतालों में भी निशुल्क सर्जरी उपलब्ध कराती है। इस योजना के माध्यम से अन्य बीमारियों की सर्जरी के साथ-साथ कोविड-19 का इलाज भी निशुल्क करा सकते हैं। इस योजना के शामिल सर्जरी कुछ इस प्रकार है

  • घुटने की रिप्लेसमेंट
  • कोरोनेरी बाईपास
  • अन्य महंगी सर्जरी
  • कोरोनावायरस

कोरोना वैक्सीन रजिस्ट्रेशन

PMJAY Free Covid 19 Test

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत शामिल रोग

सरकार द्वारा इस योजना के तहत शामिल किए गए रोग निम्नलिखित है:-

  • कोरोनरी आर्टरी
  • प्रोस्टेट कैंसर
  • स्कल बेस सर्जरी
  • डबल वाल्व रिप्लेसमेंट
  • करॉटिड एनजीओ प्लास्टिक
  • पलमोनरी वाल्व रिप्लेसमेंट
  • Larynygopharyngectomy
  • टिशयु एक्सपेंडर

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत न आने वाले रोग

इस योजना के तहत ना आने वाले लोग कुछ इस प्रकार हैं:-

  • ड्रग रिहैबिलिटेशन
  • फर्टिलिटी संबंधित प्रक्रिया
  • कॉस्मेटिक संबंधित प्रक्रिया
  • ओपीडी
  • अंग प्रत्यारोपण
  • व्यक्तिगत निदान
प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत न आने वाले रोग

आयुष्मान भारत योजना का कार्यान्वयन

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत देश के लोगों को सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना 2011 के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के 8.03 करोड़ परिवार और शहरी क्षेत्र के 2.33 परिवारों को शामिल किया गया है। जिसके तहत लगभग देश के 3.07 करोड़ लाभार्थियों को आयुष्मान गोल्डन कार्ड जारी किए गए हैं। आयुष्मान गोल्डन कार्ड का उपयोग करके देश के लोग अब अपना इलाज निजी अस्पतालों में निशुल्क करा सकते हैं।

  • यदि आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले अपनी पात्रता की जांच करनी होगी।
  • पात्रता की जांच करने हेतु आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अगर आप अधिकारिक वेबसाइट के हिसाब से पात्र माने जाते हैं तो आपको जल्द से जल्द प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
आयुष्मान गोल्डन कार्ड

Ayushman Bharat Yojana Benefits & Features

सरकार द्वारा शुरू की गई योजना के लाभ एवं विशेषताएं निम्नलिखित हैं:-

  • आयुष्मान भारत योजना को हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 14 अप्रैल 2018 को आरंभ किया गया था।
  • इस योजना को बाबा भीमराव अंबेडकर जयंती के शुभ अवसर के लिए गरीबों एवं पिछड़े वर्ग के परिवारों के लिए शुरू किया गया
  • PM-JAY के माध्यम से गरीब एवं पिछड़े वर्ग के परिवारों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाएगा।
  • इस योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के नाम से भी जाना जाता है।
  • आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत प्रदान किए जाने वाला 5 लाख रुपये का है।
  • इसके साथ-साथ देश के गरीब परिवारों को सरकारी एवं निजी स्वास्थ्य केंद्रों में मुफ्त इलाज उपलब्ध कराया जाएगा।
  • PMJAY का लाभ देश के लगभग 10 करोड़ गरीब परिवारों को प्रदान किया जाएगा
  • गृह मंत्री द्वारा आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत सभी सशक्त पुलिस कर्मियों को स्वास्थ्य बीमा प्रदान करने के लिए आयुष्मान सीएपीएफ स्वास्थ्य बीमा योजना को आरंभ किया गया है।
  • तथा जम्मू-कश्मीर के नागरिक जिन्हें प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ नहीं प्राप्त हुआ था उन्हें सेहत स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से देश के गरीब लोग अपने बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज आसानी से निशुल्क करा सकते हैं।
  • देश के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें अपने नजदीकी सीएससी केंद्र में जाकर आवेदन करना होगा ‌
  • इस योजना के अंतर्गत उन परिवारों को शामिल किया जाएगा जो 2011 में सूचीबद्ध है
  • दवाइयों की लागत चिकित्सा एवं 1350 बीमारियों का इलाज प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत प्रदान किया जाएगा
  • आयुष्मान भारत योजना का संचालन स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा किया गया है
आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पात्रता की जांच करने की प्रक्रिया

PM Ayushman Bharat Yojana Important Documents

आवेदन के लिए कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेज इस प्रकार हैं:-

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पात्रता की जांच करने की प्रक्रिया

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पात्रता की जांच करने की प्रक्रिया

योजना के तहत पात्रता की जांच करने हेतु नीचे दिए गए चरणों का पालन करें:-

  • पात्रता की जांच करने हेतु प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पात्रता की जांच करने की प्रक्रिया
  • वेबसाइट पर जाते हैं आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Am I Eligible के विकल्प पर क्लिक करना है।
आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पात्रता की जांच करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर एवं कैप्चा कोड दर्ज करना है।
  • दर्ज करने के बाद आपको Generate OTP के बटन पर क्लिक करना है
  • क्लिक करने के बाद आपको अपने मोबाइल में से उठी पर दर्ज करना है
  • इस प्रकार आप लॉग इन कर पाएंगे
  • लॉग इन करने के बाद आप अपने परिवार के पात्रता की जांच कर सकते हैं
  • इसके बाद आपको दो विकल्प दिखाई देंगे
  • पहले विकल्प में आपको अपना राज्य चुनना है
  • दूसरे विकल्प में आपको तीन श्रेणियां दिखाई देंगी जैसे राशन कार्ड मोबाइल नंबर और नाम
  • इन तीनों में से आप किसी एक का चयन कर सकते हैं
  • चयन करने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना है
  • इसके पश्चात अगर आप ऑफलाइन माध्यम से सीएससी केंद्र में जाकर अपने पात्रता की जांच करना चाहते हैं तो आप अपने सभी दस्तावेजों के साथ वहां जा सकते हैं
  • वहां जाने के बाद एजेंट के पास अपने दस्तावेज जमा करके पात्रता की जांच करने को बोल सकते हैं
आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत पात्रता की जांच करने की प्रक्रिया

प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत आवेदन की प्रक्रिया

देश के जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत आवेदन करने हेतु आपको अपने नजदीकी जन सेवा केंद्र में जाना होगा
  • वहां जाने के बाद आपको अपने सभी दस्तावेजों का सत्यापन कराना होगा
  • एजेंट द्वारा आपके दस्तावेजों की जांच की जाएगी
  • तथा यह सुनिश्चित किया जाएगा कि आप को इस योजना के अंतर्गत स्वीकृत करना है कि नहीं
  • आप के दस्तावेजों की संपूर्ण जांच के 10 से 15 दिन के बाद आपको आयुष्मान गोल्डन कार्ड प्रदान किया जाएगा
  • इस प्रकार आपका आवेदन हो जाएगा

आयुष्मान भारत योजना एप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

इस योजना की मोबाइल एप्लीकेशन डाउनलोड करने हेतु नीचे दिए गए चरणों का पालन करें:-

  • आयुष्मान भारत योजना एप डाउनलोड करने हेतु अपने मोबाइल के प्ले स्टोर में जाए
  • वहां जाने के बाद आपको सर्च बॉक्स में आयुष्मान भारत योजना दर्ज करना है
  • दर्ज करने के बाद आपको शर्ट के बटन पर क्लिक करना है
  • इस प्रकार आपके सामने एक सूची खुलकर आएगी
  • इस सूची में से आपको सबसे ऊपर वाले विकल्प का चयन करना है।
  • चयन करने के बाद आपके सामने एक नया फिर खुल कर आएगा
  • इसे आप इंस्टॉल के बटन पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं।

PM-JAY ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया

देश के वह सभी व्यक्ति जो ग्रीवेंस सर्च करना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • ग्रीवेंस दर्ज करने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Grievance Portal के विकल्प पर क्लिक करना है
PM-JAY ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा
  • इस पेज पर आपको Register Your Grievance AB-PMJAY के विकल्प पर क्लिक करना है
PM-JAY ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया
PM-JAY ग्रीवेंस दर्ज करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने ग्रीवेंस फॉर्म खुलकर आएगा।
  • इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे Grievance By, Beneficiary Details तथा Grievance Details दर्ज करना है
  • संपूर्ण जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक करना है
  • इस प्रकार आप ग्रीवेंस दर्ज कर पाएंगे

हॉस्पिटल ढूंढने की प्रक्रिया

वह व्यक्ति जो हॉस्पिटल ढूंढना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • हॉस्पिटल ढूंढने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Find Hospital के विकल्प पर क्लिक करना है।
हॉस्पिटल ढूंढने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा।
  • इस पेज पर आपसे पूछे कि सभी जानकारी दर्ज करनी है जैसे State, District, Hospital Type, Speciality, Hospital Name, Empanelment Type तथा Captcha Code
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको सर्च के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आपके सामने हॉस्पिटल सूची खुलकर आ जाएगी।

डी एंपेनल्ड हॉस्पिटल देखने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो डी एंपेनल्ड हॉस्पिटल देखना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • डी एंपेनल्ड हॉस्पिटल देखने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको De-Empaneled के विकल्प पर क्लिक करना।
डी एंपेनल्ड हॉस्पिटल देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको डी एमपैनल्ड अस्पताल की सूची प्राप्त हो जाएगी।

क्लेम एडजडिकेशन देखने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो क्लेम एडजडिकेशन देखना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • क्लेम एडजडिकेशन देखने हेतु आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Claim Adjudication के विकल्प पर क्लिक करना है।
क्लेम एडजडिकेशन देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको विभिन्न प्रकार की गाइडलाइंस प्राप्त होंगी।।
  • आप अपनी आवश्यकता अनुसार इच्छुक विकल्प का चयन कर सकते हैं।
  • चयन करने के बाद आपके सामने पीडीएफ फाइल खुलकर आएगी
  • इस फाइल में आप संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

कोविड-19 वैक्सीनेशन हॉस्पिटल देखने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो कोविड-19 वैक्सीनेशन हॉस्पिटल देखना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • कोविड-19 वैक्सीनेशन हॉस्पिटल देखने हेतु आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको COVID Vaccination Hospital के विकल्प पर क्लिक करना है।
कोविड-19 वैक्सीनेशन हॉस्पिटल देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा।
  • इस पेज पर आपको राज्य और जिले का चयन करना है।
  • चयन करने के बाद आपको सर्च के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने हॉस्पिटल की सूची खुलकर आ जाएगी।

कोविड-19 वैक्सीनेशन पेमेंट देखने की प्रक्रिया

वह व्यक्ति जो कोविड-19 वैक्सीनेशन पेमेंट देखना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • कोविड-19 वैक्सीनेशन पेमेंट देखने हेतु आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको COVID Vaccination Payment के विकल्प पर क्लिक करना है।
कोविड-19 वैक्सीनेशन पेमेंट देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने दो विकल्प खुलकर आएंगे जैसे
  • New Payment Acknowledgement
कोविड-19 वैक्सीनेशन पेमेंट देखने की प्रक्रिया
कोविड-19 वैक्सीनेशन पेमेंट देखने की प्रक्रिया
  • आपको अपनी आवश्यकता अनुसार इच्छुक विकल्प का चयन करना है।
  • चयन करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा।
  • यहां आपको सीबीसीआईडी एवं ऑर्डर आईडी दर्ज करनी है।
  • दर्ज करने के बाद आपको सर्च के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद पेमेंट डीटेल्स आपकी स्क्रीन पर आ जाएंगी।
  • यहां आपको अपनी कैटेगरी का चयन करना है।
  • चयन करने के बाद आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार संबंधित जानकारी आपके सामने आ जाएगी।

डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया

वह व्यक्ति जो डैशबोर्ड देखना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • डैशबोर्ड देखने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको डैशबोर्ड के सेक्शन में देखना है।
  • अब आपके सामने दो विकल्प खुल कर आएंगे जैसे
  • PM-JAY Public Dashboard
  • PM-JAY Hospital Performance Dashboard
  • आपको अपने आवश्यकतानुसार इच्छुक विकल्प का चयन करना है।
  • चयन करने के बाद आपके सामने डैशबोर्ड खुलकर आ जाएगा।

PM-JAY ग्रीवेंस स्टेटस चेक करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो ग्रीवेंस स्टेटस चेक करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • ग्रीवेंस स्टेटस चेक करने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Menu सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Grievance Portal के विकल्प पर क्लिक करना है
  • क्लिक करते ही आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा
  • इस पेज पर आपको Track Your Grievance के विकल्प पर क्लिक करना है
PM-JAY ग्रीवेंस स्टेटस चेक करने की प्रक्रिया
  • इस प्रकार आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • आपको अपना UGN Number दर्ज करना है
  • दर्ज करने के बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आपके सामने ग्रीवेंस स्टेटस खुलकर आ जाएगा

एंपेनल्ड अस्पताल ढूंढने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो एंपेनल्ड अस्पताल ढूंढना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • एंपेनल्ड अस्पताल ढूंढने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Find Hospital के विकल्प पर क्लिक करना है
एंपेनल्ड अस्पताल ढूंढने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपसे पूछे गए सभी जानकारी जैसे State, District, Hospital Type, Speciality, Hospital Name, Empanelment Type तथा Captcha Code दर्ज करना है।
  • संपूर्ण जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Search के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आपके सामने एंपेनल्ड हॉस्पिटल की सूची खुलकर आ जाएगी

हेल्थ बेनिफिट पैकेज देखने की प्रक्रिया

वह व्यक्ति जो हेल्थ बेनिफिट पैकेज देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • हेल्थ बेनिफिट पैकेट देखने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होमपेज खुलकर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Health Benefit Packages के विकल्प पर क्लिक करना है।
हेल्थ बेनिफिट पैकेज देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको विभिन्न प्रकार के हेल्थ बेनिफिट पैकेज प्राप्त होंगे।
  • आप अपनी आवश्यकता अनुसार हेल्थ बेनिफिट पैकेज के विकल्प पर क्लिक कर सकते हैं।
  • क्लिक करते ही आपके सामने पीडीएफ फाइल खुल कर आएगी।
  • इसमें आप संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • तथा इसे डाउनलोड करने हैं तो डाउनलोड के बटन पर क्लिक कर सकते हैं।
हेल्थ बेनिफिट पैकेज देखने की प्रक्रिया

जन औषधि केंद्र ढूंढने की प्रक्रिया

देश के जो व्यक्ति जन औषधि केंद्र ढूंढना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • जन औषधि केंद्र ढूंढने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होमपेज खुलकर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Jan Aushadhi Kendra के विकल्प पर क्लिक करना है।
जन औषधि केंद्र ढूंढने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको दो विकल्प दिखाई देंगे
  • इन विकल्पों में से आपको List Of Jan Aushadhi Kendra के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने पीडीएफ फाइल खुलकर आएगी
  • इस फाइल में आप संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • एवं डाउनलोड के बटन पर क्लिक करके डाउनलोड भी कर सकते हैं।

PM-JAY फीडबैक दर्ज करने की प्रक्रिया

देश वह सभी व्यक्ति जो फीडबैक दर्ज करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • फीडबैक दर्ज करने हेतु आपको आयुष्मान भारत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Menu के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको Feedback के विकल्प पर क्लिक करना है
PM-JAY फीडबैक दर्ज करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने फीडबैक फॉर्म खुलकर आएगा
  • इस फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे Name, Email, Mobile Number, Remarks, Category तथा Captcha Code दर्ज करना है
  • संपूर्ण जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Request For OTP के बटन पर क्लिक करना है
  • आपके मोबाइल पर प्राप्त ओटीपी खाली बॉक्स में दर्ज करना है
  • दर्ज करने के बाद आप फिर दर्ज कर पाएंगे

Helpline Number

निम्नलिखित दिए गए हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से आप संपर्क करने में सक्षम रहेंगे:-

  • Toll Free Call Centre Number- 14555/ 1800-111-1565
  • Address:- 3rd, 7th, 9th Floor/ Tower-B Jeevan Bharati Building, Connaught Place, New Delhi- 110001

Read Related Scheme & Get Benefits:-

Leave a Comment