|CG| गोधन न्याय योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म | लाभ व पात्रता

गोधन न्याय योजना ऑनलाइन आवेदन | Chattisgarh Godhan Nyay Scheme Application Form | छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना रजिस्ट्रेशन | CG Godhan Nyay Scheme Status |

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा किसानो को आय के अतिरिक्त अवसर प्रदान करने के लिए छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना नाम से एक नयी योजना की शुरुआत की है। इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा पशुपालक किसानो से उनके दूधिया पशु के गोबर को खरीदने का कार्य किया जायेगा। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से गोधन न्याय योजना 2022 से जुड़ी संपूर्ण जानकारी जैसे उद्देश्य लाभ विशेषताएं पात्रता एवं आवेदन की प्रक्रिया स्पष्ट करने जा रहे हैं। CG Godhan Nyay Scheme से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने हेतु हमारे इस लेख को अंत तक विस्तार पूर्वक पढे।

Table of Contents

Chattisgarh Godhan Nyay Scheme 

छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा इस योजना के अंतर्गत  21 जुलाई 2020 को सरकार पहली बार गोबर खरीदने की शुरुआत करेगी। इस योजना का लाभ छत्तीगढ़ के पशु को पालने वाले किसानो को होगा। छत्तीसगढ़ राज्य के जो इच्छुक नागरिक इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करना चाहते है तो सबसे पहले आवेदक को  इस CG Godhan Nyay Scheme के तहत आवेदन करना होगा।‌ छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा इस योजना को दो चरणों में चलाया जायेगा पहले चरण में 2240 गोशालाओं  को जोड़ा जायेगा उसके बाद कुछ दिन में 2800 गठनों का निर्माण होने के बाद दूसरे चरण में भी गोबर ख़रीदा जायेगा। जैसे की हम सब जानते है गाय का गोबर कई प्रकार के काम में आता है। राज्य सरकार के द्वारा यह गोबर 2 रूपए प्रति कुंटल ख़रीदा जायेगा।

  • छत्तीसगढ़ के किसानों पशुपालन को इस योजना का काफी लाभ पहुंचेगा इससे उनकी आय में वृद्धि भी होगी।
  • गोधन न्याय योजना की शुरुआत छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा 21 जुलाई सन 2020 को शुरू की गई थी।
  • इस योजना के माध्यम से किसानों को पशुपालन को बहुत ज्यादा लाभ पहुंचेगा।
|CG| गोधन न्याय योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म | लाभ व पात्रता

गोधन न्याय योजना के मुख्य तथ्य

इस योजना के मुख्य तथ्य कुछ इस प्रकार हैं:-

योजना का नामगोधन न्याय योजना 2022
किसके द्वारा शुरू की गईमुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा 
योजना का उद्देश्यकिसानों की और पशुपालन हो की आय में वृद्धि आएगी
योजना का लाभछत्तीसगढ़ के किसान और पशु कारणों को इसका बहुत लाभ प्राप्त होगा।
योजना के लाभार्थीगाय पालने वाले पशु पालक
आवेदन शुरू होने की तिथि21 जुलाई 2020
आवेदन की अंतिम तिथि22 सितंबर 2021
श्रेणीछत्तीसगढ़ सरकारी योजनाएं
योजना के चरणइस योजना को दो चरण में चलाया जाएगा
अधिकारी वेबसाइटwww.cgstate.gov.in/ 

गोधन न्याय योजना का मुख्य उद्देश्य

गोधन न्याय योजना के ज़रिये सरकार गाय पालने वाले किसानो की गाय का गोबर खरीदेगी। जिससे पशुपालको की आय में भी वृद्धि होगी और गाय का गोबर भी व्यर्थ नहीं जायेगा। जिसके माध्यम से पशुपालकों की आय में वृद्धि होगी और आय के अतिरिक्त अवसर भी उपलब्ध हो जायेंगे। छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के माध्यम से पशुपालकों की आय में वृद्धि होने से पशुओं को उनके पशुपालन में ही रखा जायेगा, जिससे कि पशुओं को इधर-उधर चरने की भी जरुरत नहीं होगी।

  • इस योजना के माध्यम से आय में वृद्धि होने से गायों को सही तरहा का चारा प्राप्त होगा।
  • पशुओ के साथ होने वाले हादसो पर Godhan Nyay Scheme के ज़रिये रोक भी लग जाएगी।
  • राज्य में किसानो और पशुपालन करने वालों को राज्य सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने गोधन न्याय योजना के तहत जारी किए 10.24 करोड़ रुपये

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुक्रवार को गोधन न्याय योजना के तहत पशुपालन करने वाले ग्रामीण गठान और गठान समितियों से जुड़ी महिला समूह को 10.24 करोड़ रुपये ऑनलाइन जारी किए गए हैं। इस शुभ अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा बताया गया कि इस योजना का लाभ राज्य के ज्यादा से ज्यादा किसानों को मुहैया कराया जाता है ताकि वह गोबर का सही उपयोग कर अपनी आर्थिक स्थिति को सुधार सकें। किसानों द्वारा यह गोबर राज्य सरकार को लगभग 2 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से दिया जाता है। इससे ना केवल वातावरण में सुधार आता है बल्कि किसानों की आय में भी वृद्धि होती है।

गोधन न्याय योजना गणतंत्र दिवस के झांकी मैं होगी शामिल

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा बताया गया कि गणतंत्र दिवस परेड की झांकी गोधन न्याय योजना से प्रेरित है। इस योजना के माध्यम से गाय का गोबर 2 रुपये प्रति किलो की दर से खरीदा जाता है और विभिन्न उत्पादकों को बनाने में उपयोग किया जाता है। सरकार द्वारा इस योजना को आरंभ करने का मुख्य लक्ष्य है कि राज्य की लाखों महिलाओं को रोजगार प्राप्त हो सके ताकि वह अपना भरण-पोषण आसानी से कर सकें। और साथ ही साथ गाय के गोबर का एक अच्छा उपयोग किया जाए और अन्यथा गंदगी फैलने से रोकी जा सके।

मुख्यमंत्री द्वारा 5 करोड़ रुपये की राशि जारी की गई

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा गोधन न्याय योजना के तहत पशुपालकों और महिला समूह और गठान समितियों से जुड़े लोगों को 5 करोड़ 37 लाख रुपये की धनराशि सीधे बैंक खातों में हस्तांतरित की गई। साथ ही साथ बताया गया है कि एक पखवाड़े में क्रय गोबर के एवज मैं 2 करोड रुपये, गौठान समितियों को 1 करोड़ रुपये और महिला समूहों को 89 लाख रुपये के लाभांश राशि हस्तांतरित की गई है। मुख्यमंत्री जी द्वारा कहा गया है कि इस योजना को एक मिशन मोड में संचालित किया गया है ताकि सारी घोटालों में महिलाओं को डिमांड के आधार पर प्रोडक्ट कराया जा सके।

गोधन योजना राजपथ गणतंत्र दिवस समारोह का हिस्सा बनेगी

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के द्वारा शुरू की गई छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना गांव और गौतम के सबसे बड़े और मुख्य समारोह की शान बनेगी। इस बार राजपथ में होने वाले गणतंत्र दिवस के परेड समारोह का हिस्सा इस योजना को बनाया जाएगा। साथ ही साथ यह भी बताया गया कि देश के सभी राज्यों में से केवल 12 राज्यों में राजपथ पर झांकी के प्रदर्शन का अवसर प्राप्त होगा। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना का उद्देश्य है कि स्थानीय स्तर पर रोजगार के वैकल्पिक साधन उपलब्ध कराई जा सके ताकि देश भर में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत किया जाए।

3.93 करोड रुपये की राशि जारी की गई

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के द्वारा पशुपालक किसानों को लाभ मुहैया कराने हेतु छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा पशुपालकों से गोबर खरीदा जाएगा ताकि उनकी आर्थिक तंगी में सुधार लाया जा सके। राज्य सरकार द्वारा पशुपालकों से लगभग 2 रुपये प्रति क्विंटल गोबर खरीदा जाएगा। हाल ही में ही छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री जी के द्वारा गौठान मैप ऐप की शुरुआत करने के लिए लगभग 3.93 करोड रुपये की राशि जारी की गई है। इस धनराशि का उपयोग करके अब जल्द से जल्द राज्य में गठान मैप एप की शुरुआत की जाएगी।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना से बिजली का उत्पादन किया जाएगा

इस योजना की शुरुआत छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बोधन जी के द्वारा 22 सितंबर सन 2021 को शुरू की गई थी। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा गोधन न्याय योजना के अंतर्गत खरीदे गए गोबर से बिजली बनाने का कार्य किया जाएगा। जिससे लोगों को काफी आसानी होगी। उन्होंने बताया कि एक यूनिट गाय के गोबर से 85 क्यूबिक मीटर गैस का उत्पादन होगा। इस तरह एक क्यूबिक मीटर गाय के गोबर से 1.8 किलोवॉट बिजली प्रतिघंटा पैदा होगी। इस तरह एक यूनिट में 153 किलोवॉट बिजली प्रति घंटा पैदा होगी। इस तरह तीन गौथनों में लगे यूनिट्स से करीब 460 किलोवॉट यूनिट बिजली प्रति घंटा पैदा होगी। इस योजना को पिछले 1 साल में 50 लाख क्विंटल गोबर की खरीदी की गई है।

  • इस गोबर का उपयोग बिजली बनाने के लिए किया जाएगा सरकार ने इस फैसले से रोजगार को अवसर प्रदान किया जाएगा।
  • सरकार द्वारा 100 करोड़ रुपए से अधिक की गोबर खरीदी की जा चुकी है।
  • CG Godhan Nyay Scheme में गोबर का इस्तेमाल वर्मी कंपोस्ट बनाने के लिए भी किया जाता है। जिससे कि किसानों को लाभ पहुंचता है एवं जैविक खेती को बढ़ावा मिलता है। 
  • इसके अलावा गौठानो में वर्मी कंपोस्ट बनाने के काम संलगन तथा अन्य आर्थिक गतिविधियों में काम कर रहे 9000 से अधिक स्व सहायता समूह की 64000 महिलाओं को रोजगार प्राप्त होता है।

अब तक हुई 96 करोड़ रुपये की गोबर की खरीद

इस योजना के माध्यम से कृषकों को अनेक प्रकार के फायदा उपलब्ध हो रहे हैं। इस योजना के माध्यम से ना सिर्फ ग्रामवासी एवं पशुपालकों के कमाई में वृद्धि हुई है बल्कि वर्मी कंपोस्ट और सुपर कंपोस्ट के इस्तेमाल से काव्य की गुणवत्ता में भी सुधार आया है और खेती की कीमत में कमी आई है। अब तक छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के माध्यम से 96 करोड़ रुपए की खरीद किसानों व पशुपालकों से की जा चुकी है। इसके अलावा इस योजना के माध्यम से महिला स्व सहायता समूह से जुड़ी तकरीबन 80000 स्त्रियों को रोजगार प्राप्त हुई है। गौठान से एवं स्व सहायता समूह से जुड़ी स्त्रियों को 27.78 करोड़ रुपए की पूंजी छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के माध्यम से उपलब्ध हुई है।

  • खरीद की पूंजी का वितरण 10 जुलाई 2021 को किया गया है। 
  • इस मौके पर यह भी जानकारी वितरण की गई कि राज्य में अभी 5590 गौठान गतिशील हैं और 9950 गौठान का संरचना की अनुमति सरकार द्वारा वितरण की जा चुकी है।
  • इन गौठान के माध्यम से 3,06,770 क्विंटल वर्मी कंपोस्ट का उत्पाद किया गया है। उसमे 1 लाख 44,320 क्विंटल वर्मी कंपोस्ट की खरीद की गई है ।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना की सफलता

इस योजना की कामयाबी की उल्लेख पूरे देश में की जा रही है। छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के माध्यम से उपलब्ध हुए गोबर से 15 मार्च 2021 तक 118611 क्विंटल खाद का उत्पाद किया गया है। इसमें से 83900 क्विंटल खाद अब तक बेची जा चुकी है। अब तक इस योजना के माध्यम से स्टेट के तकरीबन 162497 पशुपालकों को फायदा पहुंचा है। इन 162497 पशुपालकों में से 70299 भूमिहीन पशुपालन थे। इस योजना के कुल लाभार्थियों में से 44.55% लाभार्थी स्त्री है। अब तक Godhan Nyay Yojana के माध्यम से 44 लाख क्विंटल गोबर पशुपालकों से खरीदा जा चुका है। सरकार द्वारा गोबर खरीद का धन सीधे पशुपालकों के खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से भेजा जाता है। 

|CG| गोधन न्याय योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म | लाभ व पात्रता

15th & 16th Installment Of Godhan Nyay Yojana

इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा गोबर की खरीद की जाती है। इस गोबर को खाद बनाकर गौथन के माध्यम से मंडी में बेचा जाता है। किसानों को गोबर बेचने पर सरकार द्वारा खरीद शुल्क का भुगतान किया जाता है। यह भुगतान लाभार्थियों के खाते में किया जाता है। 21 मार्च 2021 को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा 15वीं एवं 16वीं किस्त की राशि किसानों के खाते में पहुंचा दी गई है। 15 वी एवं 16वी किस्त के माध्यम से लाभार्थियों के खाते में कुल 7 करोड़ 75 लाख रुपए ट्रांसफर किए गए हैं। 15वीं किस्त की राशि 3 करोड़ 75 लाख रुपए थी और 16वी किस्त की रकम 3 करोड़ 80 लाख रुपए थी।

गोधन न्याय योजना के तहत वितरित राशि

सरकार के द्वारा इस योजना को 20 जुलाई 2020 छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के द्वारा शुरु की गई थी। इस योजना के अंतर्गत सरकार के द्वारा उचित दामों पर गोबर ख़रीदा जायेगा। साथ ही सरकार इस गोबर गठन से वर्मी कंपोस्ट का निर्माण किया जाता है। CG Godhan Nyay Scheme के अंतर्गत 10 जुलाई 2021 को 11:30 बजे राज्य के मुख्यमत्री के द्वारा एक क्लिक के माध्यम से लाभार्थियों के सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी। मुख्यमंत्री जी द्वारा 2 करोड़ 45 लाख रुपए राशि महिला स्व सहायता समूह एवं गौठान समितियों किये जायेंगे साथ ही  62 लाख 18 हजार रुपए बाकि के गोबर पशुपालन डाटा को प्रदान किये जायेंगे।

लाभार्थियों के खातों में 27वीं किस्त का हुआ वितरण

इस योजना की शुरूआत 8 सितंबर 2021 को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत लाभार्थियों के खातों में 27वीं किस्त का वितरण किया गया। इस शुभ अवसर पर मुख्यमंत्री जी द्वारा पशुपालकों को बधाई देते हुए बताया गया कि Godhan Nyay Scheme Chhattisgarh के तहत पहली बार लगभग 100 करोड़ से अधिक राशि का वितरण किया गया। इस योजना के तहत अब तक किस करोड़ 42 लाख रुपए तथा गोठान समितियों को 32 करोड़ से अधिक राशि का भुगतान किया जा चुका है।

गोधन न्याय योजना के अंतर्गत 11वीं एवं 12वीं किस्त

मुख्यमंत्री श्री बघेल जी के द्वारा निवास कार्यालय में आयोजित एक समारोह के दौरान छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत ग्यारहवीं एवं बारहवीं किस्त ट्रांसफर करने का निर्णय लिया गया। तथा सरकार द्वारा 16 दिसंबर से 31 दिसंबर के बीच गोबर खरीदने वाले विक्रेताओं को 11वीं किस्त के रूप में 4.50 करोड रुपए ट्रांसफर किए। तथा 1 जनवरी से 15 जनवरी के बीच गोबर खरीदने वाले विक्रेताओं को 12वीं किस्त के रूप में 3.08 करोड रुपए हस्तांतरित किए।

  • आपको बता दें अब तक गोधनिया योजना के अंतर्गत लगभग 71.72 करोड रुपए का भुगतान किया गया है।
  • कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री बघेल जी के द्वारा कहा गया कि
  • छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के अंतर्गत कुल लाभार्थी में से 57000 से अधिक भूमिहीन किसान हैं
  • और इस योजना से इन भूमिहीन किसानों की आय का एक स्रोत बन गया है
  • अब तक 35.86 लाख क्विंटल गोबर खरीदा जा चुका है
  • जिससे हमारे किसानों की आय में काफी वृद्धि हुई है।
गोधन न्याय योजना

छत्तीसगढ़ गौधन योजना पृष्ठभूमि

राज्य में लागू होने वाले पदार्थ के रूप में प्रभावी होते हैं जैसे कि नरवा, गुरवा। गोशालाओं का निर्माण भी किया गया है। अब तक राज्य के 2200 लड़ाकू विमानों का निर्माण किया गया है और आने वाले समय में 5000 और अंतरिक्ष में गोशालाओं का निर्माण किया गया है। छत्तीसगढ़ गौधन अधिकार योजना  राज्य की आर्थिक और आर्थिक मदद के लिए उपयोगी है। छत्तीसगढ़ गौधन योजना के माध्यम से काम करने के बाद भी ऐसा ही होगा। इस योजना के लागू होने के बाद, आप इसे बेहतर बना सकते हैं।

  • राज्य देश का पहला सदस्य राज्य राज्य। सुराजी गांव की योजना के माध्यम से गोशालाओं का निर्माण किया गया और इन गोशालाओं के माध्यम से गोधन योजना को लागू किया गया। महिला सहायता समूह ने व्यक्तिगत रूप से आंतरिक कार्य को आंतरिक रूप से संलग्न किया है।
  • करें द्वारा सरकार  छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना  को चरणबद्ध तरीके से गौशालाओं का निर्माण कर के विस्तृत किया जाएगा। 11,630 ग्राम पंचायतों के 2000 गांवों में गोशालाओं का निर्माण किया गया।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के अंतर्गत लाभ की राशि का वितरण

सरकार के द्वारा इस योजना को  20 जुलाई 2020 छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के द्वारा शुरु की गई थी। इस योजना के अंतर्गत सरकार के द्वारा उचित दामों पर गोबर ख़रीदा जायेगा। साथ ही सरकार इस गोबर गठन से वर्मी कंपोस्ट का निर्माण किया जाता है। CG Godhan Nyay Scheme के अंतर्गत 10 जुलाई 2021 को 11:30 बजे राज्य के मुख्यमत्री के द्वारा एक क्लिक के माध्यम से लाभार्थियों के सीधे बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी। मुख्यमंत्री जी द्वारा 2 करोड़ 45 लाख रुपए राशि महिला स्व सहायता समूह एवं गौठान समितियों किये जायेंगे साथ ही  62 लाख 18 हजार रुपए बाकि के गोबर पशुपालन डाटा को प्रदान किये जायेंगे।

गोधन न्याय योजना के लाभ

इस योजना में लाभ इस प्रकार दे रखे हैं:-

  • सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को 21 जुलाई 2020 से शुरू की गई है ।
  • गांवों में पशुधन के विकास के लिए गौठानों का निर्माण किया गया है।
  • राज्य के 2200 गांवों में गौठानों का निर्माण हो चुका है और 2800 गांवों में गौठानों का निर्माण किया जा रहा है।
  • आने वाले दो-तीन महीने में लगभग 5 हजार गांवों में गौठान बन जाएंगे।
  • गौठानों को कमाई के केन्द्र के रूप में तैयार किया जा रहा है।
  • यहां बड़ी मात्रा में केंचुआ खाद यानी वर्मी कम्पोस्ट तयैरा किया जाएगा और इस काम को महिला स्व-सहायता समूहों के माध्यम से किया जाएगा।
  • Godhan Nyay Scheme सरकार किसानों से गाय का गोबर खरीदेगी।
  • गोबर खरीदने की एक कीमत तय की जाएगी|
  • इस योजना से गाय पालन को बढ़ावा मिलने के साथ किसानों की आमदनी में भी इजाफा होगा।
  • इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा पशु पालक के गायों का गोबर को 2 रुपए प्रतिकिलो दर से खरीदा जाएगा ।
  • सरकार द्वारा इस योजना को ज्यादा से ज्यादा गांवों एवं शहरों क्षेत्र में ही शुरू किया जाएगा जिससे इन लोगों को काफी लाभ पहुंचेगा।

Features Of CG Godhan Nyay Yojana

इस योजना की विशेषताएं निम्नलिखित दे रखे हैं:-

  • इस योजना का लाभ छत्तीसगढ़ राज्य के पशुपालन या किसानों को ही प्रदान किया जाएगा।
  • Godhan Nyay Scheme Chhattisgarh के माध्यम से छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को 21 जुलाई 2020 से शुरू की गई है ।
  • इस योजना के तहत पशुपालकों से खरीदे जाने वाले गोबर का इस्तेमाल कंपोस्ट खाद बनाने में किया जाएगा।
  • छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के अंतर्गत पशु पालक किसानों से उनकी दूधिया पशुओं के गोबर को खरीदने का कार्य किया जाएगा।
  • इससे पशुपालक तथा किसानों की आय में वृद्धि होगी।
  • गोधनिया योजना के तहत राज्य के किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।
  • इस योजना को ज्यादा से ज्यादा गांवों और शहरों में चलाया जाएगा
  • गोधन न्याय योजना को दो चरणों में चलाया जाएगा पहले चरण में राज्य के 2240 गौशाला को जोड़ा जाएगा तथा दूसरे चरण में गोबर खरीदा जाएगा।
  • इस योजना का लाभ छत्तीसगढ़ राज्य में किसान एवं पशुपालकों को इस योजना का लाभ दिया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत पशुपालको एवं किसानों की आय में वृद्धि होगी।
  • गांव एवं शहरों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना की पात्रता 

इस योजना में पात्रता निम्नलिखित है:- 

  • आवेदक छत्तीसगढ़ राज्य का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के तहत केवल राज्य के गाय पशुपालको को ही पात्र माना जायेगा।
  • बड़े जमींदारों व्यापारियों को उनकी समृद्धता के आधार पर इस योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा।
  • पशुओ से सम्बंधित जानकारी के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

Important Documents Of CG Godhan Nyay Scheme Apply

इस योजना के तहत आवश्यक दस्तावेज कुछ इस प्रकार हैं:-

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • आवेदक का पता
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पशुओं से संबंधित जानकारी
  • पासपोर्ट साइज फोटो

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया

राज्य के वह सभी लाभार्थी जो इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करवाने के लिए आपको गूगल ऐप स्टार के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • गूगल एप्स ट के ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपको सर्च बार में Chattisgarh Godhan Nyay Yojana लिखना होगा और फिर सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा।
छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया
  • सर्च के बटन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना एप्लीकेशन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • इन सबके बाद छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना कौन डाउनलोड करने के लिए इनस्टॉल के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना में आवेदन के लिए ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एप्लीकेशन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • सभी महत्वपूर्ण जानकारी भरनी होगी जैसे कि आवेदक का पता नाम मोबाइल नंबर आधार कार्ड नंबर आदि।
  • इस फॉर्म में सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • यह सब करने के बाद आपका आवेदन इसमें आसानी से हो जाएगा।

Leave a Comment