|Rajasthan| इंदिरा रसोई योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, फॉर्म, लाभ व पात्रता

राजस्थान इंदिरा रसोई योजना ऑनलाइन आवेदन | Indira Rasoi Yojana Registration | इंदिरा रसोई योजना एप्लीकेशन फॉर्म | Rajasthan Indira Rasoi Yojana Apply |

राजस्थान के गरीब या निर्धन नागरिकों को कम दामों पर पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराने हेतु मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा इंद्र रसोई योजना का शुभारंभ 26 जून 2020 को किया गया। इस योजना के माध्यम से राज्य के गरीब और निर्धन लोगों को कम दामों पर भोजन मुहैया कराया जाएगा ताकि उन्हें भूखे पेट ना सोना पड़े। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से इंदिरा रसोई योजना 2022 से जुड़ी संपूर्ण जानकारी जैसे उद्देश्य लाभ विशेषताएं पात्रता एवं आवेदन की प्रक्रिया स्पष्ट करने जा रहे हैं। Indira Rasoi Yojana से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने हेतु हमारे इस लेख को अंत तक विस्तार पूर्वक पढे।

Indira Rasoi Yojana 2022

इस योजना की शुरूआत राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 26 जून 2020 को की गई है। इस योजना के माध्यम से राज्य के गरीब और निर्धन लोगों को सस्ते दरों पर भोजन मुहैया कराया जाएगा। सरकार द्वारा Indira Rasoi Yojana को आरंभ करने का मुख्य लक्ष्य है कि उन सभी लोगों को खाने की व्यवस्था दी जा सके जिन्हें गरीबी के कारण भूखे पेट सोना पड़ता है। इन सभी गरीब परिवारों को सरकार द्वारा कुल 5 से 10 रुपये मैं पौष्टिक भोजन मुहैया कराया जाएगा। एवं भोजन के साथ साथ लोगों को बैठने की व्यवस्था भी दी जाएगी। इस योजना के माध्यम से राज्य के गरीब नागरिकों को अब भूखे पेट सोना नहीं पड़ेगा उन्हें कम दामों पर पोष्टिक भोजन प्रदान किया जाएगा।

  • इस योजना के अंतर्गत प्रति वर्ष 100 करोड का बजट निर्धारित किया गया है।
  • इंदिरा रसोई योजना की शुरुआत अशोक गहलोत जी के द्वारा गरीब लोगों की सहायता करने के लिए की गई है।
  • प्रत्येक गरीब परिवार में भोजन 8 और ₹12 प्रति दिया जाएगा।
इंदिरा रसोई योजना 2022

इंदिरा रसोई योजना के मुख्य तथ्य

इस योजना के मुख्य तथ्य निम्नलिखित हैं:-

योजना का नामराजस्थान इंदिरा रसोई योजना 2022
किसके द्वारा शुरू की गईमुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा 
योजना का उद्देश्यराज्य के नागरिक को शुद्ध एवं पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराना है
योजना के लाभगरीब नागरिकों को भूखा नहीं रहना पड़ेगा
योजना के लाभार्थीराजस्थान के नागरिक
शुरू होने की तिथि26 जून 2020
योजना का बजट100 करोड रुपये प्रति वर्ष
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन या ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइटClick Here

इंदिरा रसोई योजना का उद्देश्य

जैसे के हम सभी जानते हैं कि आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण काफी लोगों को भूखे पेट सोना पड़ता है और ऐसे में भुखमरी के कारण लोगों की मृत्यु हो जाती है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए राजस्थान सरकार द्वारा इंदिरा रसोई योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि गरीब लोगों को कम दामों पर पौष्टिक भोजन मुहैया कराया जा सके। ताकि हर गरीब परिवार को भोजन कम पैसों में मिल सके और लोग अपना पेट भर सके हर किसी को भोजन 8 और 12 रुपये प्रति प्लेट मिला करेगा इसका भी एक निश्चित समय तय हुआ वह है सुबह 8:30 बजे से लेकर 1:00 बजे तक और शाम में 5:00 से 8:00 बजे तक भोजन प्राप्त कराया जाएगा।

  • इस योजना के अंतर्गत हर साल 100 रुपये करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।
  • Indira Rasoi Yojana के अंतर्गत अब कोई भी गरीब व्यक्ति भूखे पेट नहीं सोएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत अब हर गरीब व्यक्ति कम पैसों में अपना भोजन कर पाएगा।

सरकार द्वारा प्रति थाली अनुदान बढ़ाया गया

राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा इंदिरा रसोई योजना के तहत प्रति थाली का अनुदान बढ़ाया गया। पहले प्रति थाली अनुदान केवल 12 रुपये था जिसे अब बढ़ाकर 17 रुपये करने का निर्णय लिया गया है। मुख्यमंत्री जी के द्वारा बताया गया है कि इस निर्णय के माध्यम से दृष्टिगत इंद्र रसोई के संचालन में सुगमता आएगी और जरूरतमंद लोगों को निरंतर गुणवत्ता युक्त एवं पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। सरकार द्वारा इस योजना पर प्रति वर्ष 27.63 करोड रुपये का खर्च किया जाता है। इस निर्णय के माध्यम से गरीब वंचित वर्ग श्रमिक रिक्शा चालक सहित जरूरतमंद लोगों को पौष्टिक आहार प्राप्त होगा।

राजस्थान इंदिरा रसोई योजना का शुभारंभ

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के द्वारा इंदिरा गांधी की जयंती के मौके पर 26 जून 2020 को इंदिरा रसोई योजना को प्रारंभ किया गया था। पहले यह योजना अन्नपूर्णा योजना के नाम से चलाई जाती थी लेकिन बाद में इसका नाम परिवर्तित कर दिया गया। इस योजना के माध्यम से महज 8 रुपये में गरीबों को पोष्टिक आहार दिया जाता है। Indira Rasoi Yojana में राज्य सरकार के द्वारा 213 नगर निकायों में 358 इंदिरा रसोई संचालित की जा रही है। इसके माध्यम से एक करोड़ 34 लाख लोगों को प्रतिदिन लाभान्वित करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।राज्य सरकार के द्वारा इसका वार्षिक बजट 100 करोड तय किया गया है। यह राजस्थान सरकार की सबसे बड़ी योजनाओं में से एक है।

कोविड-19 मरीजों को मिलेगा फ्री भोजन 

कोविड-19 की दूसरी लहर के प्रकोप देखते हुए अब राज्य सरकार द्वारा कोविड-19 संक्रमित को निशुल्क इंदिरा रसोई भोजन मुहैया कराया जाएगा।शनिवार को मंत्री शांति धारीवाल ने इसकी घोषणा की। उन्होंने बताया कि प्रदेशभर के अस्पताल, आईसोलेशन सेंटर और कोविड केयर सेन्टर में उपचाराधीन कोरोना संक्रमितों को इन्दिरा रसोई से नि:शुल्क भोजन मिलेगा। जिला प्रशासन और चिकित्सालयों में मांग ‘पर यह व्यवस्था कौ गई है। Rajasthan Indira Rasoi Yojana में जरूरत के अनुसार नए काउंटर खोलने के लिए जिला कलेक्टर को शक्तियां दी गई। अस्पतालों में काउंटर खुलने से कोविड संक्रमितों के साथ-साथ उनके परिजन और अस्पताल के कर्मचारी भी योजना का लाभ ले सकेंगे। इसके साथ ही योजना के तहत की स्थानों पर लोगों के ठहरने की भी व्यवस्था की गई है।

लोगों को प्राप्त होने वाले भोजन का समय

इंदिरा रसोई योजना के तहत भोजन का समय प्रातः 8:30 बजे से मध्यान्ह 1:00 बजे तक व रात्रिकालीन भोजन शाम 5:00 बजे से 8:00 बजे तक खिलाया जाएगा। थाली में मुख्यतः 100 ग्राम दाल, 100 ग्राम सब्जी, 250 ग्राम चपाती एवं आचार दिया जाता है।इस तरह दो बार जरूरतमंद लोगों को खाना दिया जाएगा ताकि वो भूखे ना सोएशहर के प्रमुख स्थानों पर यह योजना चलाई जाएगी जैसे कि रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और सबसे ज्यादा प्राथमिकता अस्पतालों को दी जाएगई। इंदिरा रसोई योजना के कार्यान्वयन में स्थानीय गैर सरकारी संस्थाओं NGO की मदद लेगी।

Official Launch Of Indira Rasoi Yojana 

इंदिरा रसोई योजना की शुरुआत मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा पौष्टिक भोजन की कमी को देखते हुए और कोई भी भूखा ना रह सके इसलिए इंदिरा रसोई योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना में बांग्लादेश के निर्माण के पीछे का कारण उन्होंने हरित क्रांति लाई 1974 के दौरान पोकरन न में परमाणु परीक्षण किया। इंदिरा रसोई योजना जल्द ही शुरू की जाएगी।मुख्यमंत्री ने अपने निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य स्तरीय कोविड-19 जागरूकता कार्यक्रम के वर्चुअल लॉन्चिंग को संबोधित करते हुए इसका उल्लेख किया।

इंदिरा रसोई योजना तहत गरीबों के लिए 8 रुपये में भोजन

इस योजना में शहरी स्थानीय निकायों के आधार छेत्र में रहने वाले जरूरतमंद लोगों को रियायती दर पर दिन में दो बार पौष्टिक भोजन मुहैया कराया जाएगा। Indira Rasoi Yojana में भोजन के लिए डर को अंतिम रूप दिया गया है। इस योजना के माध्यम से हर नगर पालिका की आवश्यकताओं को स्वाद को ध्यान में रखते हुए कार्य किया जाएगा। इस योजना में दिसंबर 2016 में पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने अन्नपूर्णा रसोई योजना शुरू की थी। यह एक सब्सिडी वाली भोजन योजना थी जिसमें 5 रुपये में नाश्ता और तमिलनाडु के अम्मा कैंटीन की तर्ज पर 8 रुपये में दोपहर का भोजन दिया जाता था।इस योजना का उद्देश्य मजदूरों, रिक्शा चालकों, ऑटो-रिक्शा चालकों, छात्रों, कामकाजी महिलाओं, वरिष्ठ नागरिकों और अन्य लोगों को लाभान्वित करना था। 

  • राज्य सरकार राजस्थान की  को पिछली अन्नपूर्णा रसोई योजना के अद्यतन संस्करण के रूप में शुरू किया गया है।
  • इंदिरा रसोई योजना तहत में कार्यान्वयन उद्देश्य के लिए आईटी का उपयोग इंदिरा रसोई योजना के सुचारू संचालन और निगरानी को सुनिश्चित करने के लिए किया जाएगा। 
  • जिला कलेक्टर की अध्यक्षता वाली एक समिति इस योजना की निगरानी करेगी और सरकार इस योजना पर प्रत्येक वर्ष लगभग 100 करोड़ रुपये खर्च करेगी।
  • इस योजना के समुचित कार्य के लिए NGOs की भागीदारी भी सुनिश्चित की जाएगी।

Benefits Of Indira Rasoi Yojana 

इस योजना के लाभ निम्नलिखित हैं:-

  • इस योजना की शुरूआत राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी के द्वारा आरंभ की गई है
  • राज्य सरकार इस इंद्र रसोई योजना के लिए प्रति वर्ष 100 करोड रुपए खर्च करें जाएंगे।
  • इंदिरा रसोई योजना के अंतर्गत सबसे पहले जयपुर जिले की 12 नगर पालिकाओं में शुरू की जाएगी।
  • इन्दिरा रसोई योजना मे सिर्फ 8 रूपते मे आपको भर पेट खाना मिलता है। 
  • इस योजना का प्रतिदिन 1.34 लाख और प्रतिवर्ष 4.87 करोड़ लोगो को लाभ प्राप्त होगा।
  • राजस्थान के 213 नगर निकाय मे क्षेत्रो मे 358 इन्दिरा रसोई संचालित होगी।
  • Indira Rasoi Yojana में सामान्यत दोपहर का भोजन प्रातः 8:30 बजे से मध्यान्ह 1:00 बजे तक एवं रात्रिकालीन भोजन सांयकाल 5:00 बजे से 8:00 बजे तक उपलब्ध कराया जायेगा।
  • कोविड-19 की दूसरी लहर के प्रकोप को देखते हुए अब राज्य सरकार कोविड-19 संक्रमितों को निशुल्क भोजन उपलब्ध कराएगी।
  • इस योजना में भोजन मैन्यू में मुख्य रूप से प्रति थाली 100 ग्राम दाल, 100 ग्राम सब्जी, 250 ग्राम चपाती एवं अचार सम्मिलित हैं।
  • नगरपालिका की आवश्यकता और स्वाद को ध्यान में रखते हुए कार्य करेगी।
  • इस योजना के माध्यम से नागरिकों को काफी लाभ पहुंचेगा और उनको खाने में कोई भी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।
  • राज्य के नागरिकों को स्वास्थ्य भोजन कराया जाएगा।
  • इस योजना में आवश्यकतानुसार एक्शटेन्शन काउंटर द्वारा भोजन वितरण किया जायेगा।
  • राजस्थान सरकार इंदिरा रसोई योजना के कार्यान्वयन में स्थानीय गैर सरकारी संस्थाओं NGO की मदद लेगी।
  • अगर आप सब इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आप इसकी अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना आवेदन करवा सकते हैं।

Central Government Scheme

इंदिरा रसोई योजना की विशेषताएं

राज्य सरकार द्वारा की गई इस योजना की विशेषताएं कुछ इस प्रकार दे रखे हैं:-

  • इस योजना की शुरुआत राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी द्वारा आरंभ की गई है।
  • लाभार्थी को 8 रूपये में शुद्ध ताजा एवं पोष्टिक भोजन।
  • इस योजना को अंतर्गत सम्मानपूर्वक एक स्थान पर बैठाकर भोजन व्यवस्था।
  • इंदिरा रसोई योजना राजस्थान में राज्य सरकार द्वारा 12 रूपये प्रति थाली अनुदान।
  • इस योजना हेतु प्रतिवर्ष 100 करोड रूपये का प्रावधान।
  • इस योजना में प्रतिदिन 1.34 लाख व्यक्ति एवं प्रतिवर्ष 4.87 करोड़ लोगां को लाभान्वित करने का लक्ष्य। आवश्यकता के अनुरूप इसे और बढ़ाया जा सकता है।
  • स्थानीय संस्थाओं के सेवाभाव एवं सहयोग से रसोईयों का संचालन
  • भोजन मेन्यू में मुख्य रूप से प्रति थाली 100 ग्राम दाल, 100 ग्राम सब्जी, 250 ग्राम चपाती एवं आचार सम्मिलित है।
  • विकेन्द्रित स्वरूप जिला स्तरीय समिति को आवश्यकतानुरूप स्थान, मैन्यू व भोजन समय के चयन की स्वतंत्रता
  • इस योजना में रियल-टाइम ऑनलाइन मोनेटरिंग एस.एम.एस गेटवे से लाभार्थी को सूचना एवं फिडबैक सुविधा।
  • प्रत्येक रसोई संचालन करने के लिए एकमुश्त 5 लाख रुपये आधारभूत एवं 3 लाख रुपये प्रतिवर्ष आवर्ती व्यय का प्रावधान।
  • इस योजना में राज्य/जिला स्तरीय समिति द्वारा निरीक्षण व गुणवत्ता जाँच।
  • कोरोना महामारी के बचाव हेतु रसोईयों पर आवश्यक प्रावधान।
  • Rajasthan Indira Rasoi Yojana में सामान्यत दोपहर का भोजन प्रातः 8:30 बजे से मध्यान्ह 1:00 बजे तक एवं रात्रिकालीन भोजन सांयकाल 5:00 बजे से 8:00 बजे तक उपलब्ध कराया जायेगा।
  • इस योजना में आवश्यकतानुसार एक्शटेन्शन काउंटर द्वारा भोजन वितरण किया जायेगा।
  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आप इसकी अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना आवेदन करवा सकते हैं।

इंदिरा रसोई योजना के तहत पात्रता

वह सभी व्यक्ति को इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं तो उन्हें नीचे दिए गए पात्रता मानदंड को पूरा करना होगा:-

  • इच्छुक लाभार्थी को राजस्थान का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • इस योजना का लाभ राजस्थान राज्य के कोई भी नागरिक ले सकते हैं।
  • कम दामों पर दो वक्त का खाना उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत इच्छुक लाभार्थी को शुद्ध तथा पौष्टिक अचार उपलब्ध करवाया जाएगा।

Important Documents

इंदिरा रसोई योजना में आवेदन करने के लिए जरूरी दस्तावेज़ कुछ इस प्रकार हैं:-

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • पहचान पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आवेदक का पता
  • आवेदक का मोबाइल नंबर

इंदिरा रसोई योजना 2022 के तहत आवेदन की प्रक्रिया

राज्य के वह सभी इच्छुक लाभार्थी जो इंदिरा रसोई योजना  के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं। उन्हें अभी कुछ समय का इंतजार करना होगा क्योंकि राजस्थान सरकार द्वारा अभी सिर्फ इस योजना की घोषणा की गई है अभी इसकी आवेदन की प्रक्रिया जारी नहीं की गई है। जैसे ही इस योजना के आवेदन की प्रक्रिया जारी की जाएगी वैसे ही हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से आवेदन की प्रक्रिया स्पष्ट करेंगे। यदि आपको इस योजना से संबंधित कोई भी कठिनाई है मन में कोई भी प्रश्न आता है तो आप हम से नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते।

Rajasthan Govt Scheme

Leave a Comment