प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन फॉर्म, लाभ व पात्रता

प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना ऑनलाइन आवेदन | Pradhan Mantri Samekit Shiksha Yojana Apply | प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना रजिस्ट्रेशन | PM Samekit Shiksha Yojana Application Form |

हमारे देश भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा विकलांग बच्चों को उनके घर पर ही शिक्षा उपलब्ध कराई जाएगी। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से‌ प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना 2022 से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे की योजना का उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज़, आवेदन की प्रक्रिया स्पष्ट करने जा रहे हैं। Pradhan Mantri Samekit Shiksha Yojana 2022 से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको हमारा आर्टिकल अंत तक विस्तार पूर्वक पढ़ना होगा।

Table of Contents

Pradhan Mantri Samekit Shiksha Yojana 

इस योजना का शुभारंभ भारत सरकार द्वारा किया गया है। Pradhan Mantri Samekit Shiksha Yojana के अंतर्गत बच्चों को घर पर ही शिक्षा दी जाएगी। शिक्षक स्वयं बच्चों के घर जाकर उन्हें शिक्षक उपलब्ध कराएंगे एवं उनका शिक्षण प्रशिक्षण करेंगे। इस योजना को खास तौर पर देश के विकलांग बच्चों के लिए शुरू किया गया है। जो बच्चे शारीरिक रूप से असमर्थ हैं एवं स्कूल नहीं जा पाते हैं उनको शिक्षण प्रशिक्षण उनके घर पर ही मुहैया कराया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत विकलांग बच्चों को घर पर शिक्षा के साथ-साथ और भी कई सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से बच्चों को शिक्षा सामग्री भी निशुल्क उपलब्ध जाएगी साथ ही साथ प्रत्येक बच्चे को हर वह चीज उपलब्ध कराई जाएगी जो शिक्षा के लिए आवश्यक है।

  • प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना को खास तौर पर विकलांग बच्चों के लिए शुरू किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से बच्चों को 35 सो रुपये की शिक्षण सामग्री भी मुहैया कराई जाएगी।
  • इच्छुक लाभार्थी जल्द से जल्द इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना आवेदन कर सकते हैं।
प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना 2022

प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना के मुख्य तथ्य

इस योजना के मुख्य तथ्य निम्नलिखित हैं:-

योजना का नामप्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना
किसके द्वारा शुरू की गईभारत सरकार द्वारा
प्रधानमंत्रीश्री नरेंद्र मोदी जी
योजना का उद्देश्यदिव्यांग बच्चों को घर पर शिक्षा मुहैया कराना
योजना का लाभबच्चों को घर बैठे शिक्षा प्राप्त होगी
योजना के लाभार्थीविकलांग बच्चे
ब्रेल शिक्षण सामग्री का मूल्य2 हजार रुपये
शिक्षण सामग्री का मूल्य3500 रुपये
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइटhttps://www.pmindia.gov.in/en/

प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना का उद्देश्य

जैसा कि हम सब जानते हैं कि हमारा भारत एक विकासशील देश है हमारे भारत में प्रत्येक छात्र को शिक्षा प्रदान की जा सके इसके लिए सरकार द्वारा बहुत सारी योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। वे छात्र जो शारीरिक रूप से असमर्थ है एवं स्कूल नहीं जा पाते वह अपनी इस समस्या के कारण शिक्षा से वंचित हो जाते हैं। इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा PM Samekit Shiksha Yojana को शुरू किया गया है जिसके माध्यम से विकलांग बच्चों को अब उनके घर पर ही शिक्षा प्राप्त हो जाएगी उन्हें स्वयं स्कूल नहीं जाना पड़ेगा बल्कि उनके घर कुछ शिक्षक आकर उन्हें शिक्षा प्रदान करेंगे। इस योजना के माध्यम से हमारे देश के छात्र एवं हमारे देश का बहुत विकास होगा।

  • प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना को शुरू करने का मुख्य लक्ष्य देश के प्रत्येक छात्र को शिक्षा मुहैया कराना है चाहे वह विकलांग क्यों ना हो।
  • इस योजना के माध्यम से उन छात्रों को जो दृष्टि से विकलांग है ब्रेल शिक्षण सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी।
  • प्रशिक्षण सामग्री का मूल्य 2 हजार रुपये तक होगा जो की निशुल्क उन छात्रों को उपलब्ध कराई जाएगी।

शिक्षा के लिए विशेष प्रशिक्षक व फीजियोथेरेपिस्ट किए जाएंगे तैनात

सरकार द्वारा पीएम समेकित शिक्षा योजना को दिव्यांग छात्रों के लिए शुरू किया गया है जो कि शारीरिक रूप से असमर्थ हैं एवं जिसके कारण वह बहुत सारी प्रक्रिया में भाग नहीं ले पाते। शारीरिक रूप से अक्षम होने के कारण वे छात्र स्कूल नहीं जा पाते जिसकी वजह से उनकी शिक्षण नहीं हो पाती इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए सरकार ने इस योजना को शुरू किया है ताकि उन छात्रों को भी शिक्षा का अवसर मिल सके जो कि विकलांग है क्योंकि शिक्षा प्रत्येक छात्र का अधिकार है। सरकार ने इस योजना को खास तौर पर विकलांग छात्रों के लिए शुरू किया है जिससे कि वह घर बैठे शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत विकलांग छात्रों को शिक्षा प्रदान करने के लिए विशेष प्रशिक्षक फिजियोथैरेपिस्ट तैनात किए गए हैं जिससे कि उन बच्चों का शिक्षण प्रशिक्षण उचित रूप से हो सके।

सरकार द्वारा स्वीकृत किए गए 21 लाख रुपये

जैसा कि आप सब जानते हैं कि भारत सरकार द्वारा विकलांग छात्रों की शिक्षा के लिए प्रधानमंत्री समय की शिक्षा योजना को शुरू किया गया है। इसी योजना के अंतर्गत छात्रों को उचित प्रकार से शिक्षा प्रदान की जा सके इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार द्वारा 21 लाख रुपये की राशि को स्वीकृत किया गया है। सरकार द्वारा इस योजना का संचालन सुचारु रुप से हो सके इसीलिए इस राशि को इस योजना के लिए स्वीकृत किया गया है जिससे कि यह योजना सफल हो सके एवं इसका लाभ प्रत्येक छात्र को सफलतापूर्वक पहुंच सके। विकलांग छात्रों को इस योजना का लाभ मिलेगा जिससे कि उनको बहुत विकास होगा एवं बेबी शिक्षित हो सकेंगे अपने पैरों पर खड़े हो सकेंगे।

छात्रों को प्रदान की जाएगी 3500 रुपये की शिक्षण सामग्री

इस योजना के अंतर्गत विकलांग छात्रों को शिक्षा प्रदान की जाएगी साथ ही साथ सरकार द्वारा उन छात्रों को बहुत सी सुविधाएं भी प्रदान की जाएंगी। सरकार द्वारा विकलांग छात्रों को शिक्षा सामग्री भी दी जाएगी जिससे कि उन्हें शिक्षा करते वक्त किसी भी कठिनाई का सामना ना करना पड़े। यह शिक्षण सामग्री 35 सो रुपये की होगी। सरकार द्वारा इस शिक्षण सामग्री की एक सूची तैयार कर ली गई है जिससे कि यह मदद मिलेगी कि उस सूची में जो भी सामान होगा वह तो खरीद ही लिया जाएगा यदि उसके अलावा भी किसी वस्तु की आवश्यकता पड़ती है तो उसको भी खरीदा जा सकता है। यह योजना विकलांग छात्रों के लिए एक बहुत सफल योजना है इससे उन्हें बहुत लाभ मिलेगा एवं बहुत अच्छी शिक्षा भी प्राप्त होगी।

प्रत्येक जिले के लिए तैयार किया जाएगा सामग्री का रजिस्टर

सरकार द्वारा इस योजना के तहत विकलांग छात्रों को शिक्षण सामग्री प्रदान की जाएगी जिससे कि वह सरलता पूर्वक अपने शिक्षक कर सकें एवं उन्हें किसी कठिनाई का सामना ना करना पड़े। किस शिक्षण सामग्री में सभी प्रकार की चीजें उपलब्ध की जा सके इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए सरकार ने निश्चय किया है कि शिक्षण सामग्री के लिए प्रत्येक जिले में एक रजिस्टर तैयार किया जाएगा जिसमें इन शिक्षण सामग्रीओं की सूची होगी। इस सूची से यह सहायता होगी कि सरकार द्वारा यह निश्चित कर लिया जाएगा प्रत्येक छात्र को सभी प्रकार की वस्तुएं उपलब्ध की जा सके। इस रजिस्टर को प्रत्येक जिले के लिए तैयार करना अनिवार्य है जिलों में शिक्षण सामग्री की सूची को तैयार करना एवं शिक्षण सामग्री को वितरित करने का कार्य नोडल ऑफिसर की देखरेख में किया जाएगा।

नोडल शिक्षकों की देखरेख में होगा वितरण कार्य

जो शिक्षण सामग्री छात्रों को प्रदान की जाएगी वह 35 सो रुपये की होगी। सरकार द्वारा इस शिक्षण सामग्री में वे सभी वस्तुएं छात्रों को प्रदान की जाएंगी जिन की आवश्यकता उन्हें शिक्षा के लिए पड़ेगी। शिक्षण सामग्री से उन्हें बहुत लाभ मिलेगा एवं आसानी से अपनी पढ़ाई कर सकेंगे एवं उन्हें किसी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा। शिक्षण सामग्री का वितरण ठीक प्रकार से हो जाए एवं प्रत्येक विकलांग छात्रों को इस सामग्री का लाभ मिल सके इसलिए सरकार ने निश्चय किया है कि मॉडल शिक्षकों की देखरेख में यह वितरण कार्य किया जाएगा। नोडल शिक्षक यह निश्चय करेंगे के प्रत्येक छात्र को शिक्षण सामग्री प्राप्त हो सके।

दृष्टि दिव्यांग छात्रों को मुहैया कराई जाएगी दृष्टि दिव्यांग किट

जैसा कि आप सब जानते हैं कि हमारे देश में बहुत से छात्र ऐसे हैं जो की दृष्टि से दिव्यांग है। इस कारण वे शिक्षा भी नहीं कर पाते एवं अशिक्षित रह जाते हैं सरकार द्वारा इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना के अंतर्गत दृष्टि दिव्यांग छात्रों को दृष्टि दिव्यांग केटीआरएन स्टेशनरी प्रदान की जाएगी। यह स्टेशनरी 2 हजार रुपये की होगी। इस सामग्री के अंतर्गत वे सभी चीजें होंगी जिससे कि ऋषि दिव्यांग छात्र सरलता पूर्वक अपनी पढ़ाई कर लेंगे। सरकार द्वारा इस स्टेशनरी के अंतर्गत ब्रेल स्क्रिप्ट दी जाएगी जिससे की दृष्टि दिव्यांग छात्र आसानी से शिक्षा ग्रहण कर सकेंगे।

ब्रेल स्टेशनरी के लिए सरकार द्वारा स्वीकृत किए गए 78.48 लाख रुपये

जैसा कि आप सब जानते हैं कि प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा विकलांग छात्रों को शिक्षण सामग्री तो प्रदान की जाएगी साथ ही साथ से छात्रवृत्ति दिव्यांग है उन्हें दृष्टि दिव्य किट या ब्रेल स्टेशनरी भी प्रदान की जाएगी। ब्रेल स्टेशनरी के लिए सरकार द्वारा 78.48 लाख रुपये स्वीकृत किए गए हैं। इन रुपयों का इस्तेमाल करके सरकार द्वारा प्रत्येक दृष्टि दिव्यांग छात्रों को दृष्टि दिव्य किट मुहैया कराई जाएगी जिससे कि वह सरलता पूर्वक अपनी पढ़ाई पूरी कर सके एवं‌ उन्हें किसी भी प्रकार से कमतर महसूस ना हो। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा दृष्टि दिव्यांग छात्रों को बहुत से लाभ दिए जाएंगे जिससे कि उनका विकास होगा और हमारे देश का भी विकास होगा।

Benefits Of Pradhan Mantri Samekit Shiksha Yojana

इस योजना के लाभ निम्नलिखित हैं:-

  • प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा इस योजना को शुरू किया गया है।
  • Pradhan Mantri Samekit Shiksha Yojana गंभीर रूप से दिव्यांग बच्चों को अब घर पर पढ़ाई का अवसर प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा बच्चों को घर पर ही शिक्षा प्रदान की जाएगी।
  • सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से‌ विकलांग बच्चों को बहुत सी सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।
  • इस योजना के अंतर्गत बच्चों को शिक्षा के लिए शिक्षण सामग्री भी उपलब्ध कराई जाएगी।
  • जो शिक्षण सामग्री इस योजना के अंतर्गत प्रदान की जाएगी उसका मूल्य 35 सो रुपये होगा।
  • केंद्र सरकार ने समेकित शिक्षा योजना के अंतर्गत इस‌‌ वर्ष होम बेस्ड एजुकेशन के माध्यम से तीन करोड़ 21 लाख रुपये स्वीकृत किया है।
  • जिलों में इसके लिए विशेष प्रशिक्षक व फीजियोथेरेपिस्ट तैनात किए जाएंगे जो कि ऐसे बच्चों के घर जाकर उनको शिक्षण व प्रशिक्षण देंगे।
  • बेसिक शिक्षा विभाग ने शिक्षण सामग्री की सूची भी जारी की है, ताकि उसी के अनुरूप या अन्य सामान खरीदा जा सके।
  • होम बेस्ड एजुकेशन का लाभ उन बच्चों को ही मिल सकेगा जो दिव्यांगता के कारण विद्यालय आने में असमर्थ हैं।

प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना की विशेषताएं

इस योजना की विशेषताएं निम्नलिखित है:-

  • इस योजना को भारत सरकार द्वारा विकलांग बच्चों के लिए शुरू किया गया है।
  • सरकार द्वारा इस योजना को शुरू करने का मुख्य लक्ष्य विकलांग छात्रों को शिक्षा मुहैया कराना है।
  • इस योजना के तहत विकलांग छात्रों को उनके घर पर ही शिक्षा प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।
  • Pradhan Mantri Samekit Shiksha Yojana के अंतर्गत शिक्षक स्वयं छात्रों के घर पर जाएंगे एवं उनको शिक्षा देंगे।
  • भारत सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से छात्रों को शिक्षण सामग्री प्रदान की जाएगी।
  • सामग्री के लिए हर जिले में रजिस्टर बनेगा, उसमें बालक-बालिकावार दी जाने वाली सामग्री दर्ज होगी।
  • सरकार द्वारा बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देश है कि इसका वितरण नोडल शिक्षकों की देखरेख में होना अनिवार्य है।
  • प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना के माध्यम से दृष्टि दिव्यांग छात्रों को ब्रेल स्टेशनरी व अल्प दृष्टि दिव्यांग किट प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत अल्प दृष्टि दिव्य किट प्रदान करने हेतु सरकार द्वारा 78.48 लाख की राशि को स्वीकृत किया गया है।
  • इच्छुक लाभार्थियों को जल्द से जल्द इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना आवेदन करवाना चाहिए।
  • इस योजना के आरंभ होने से हमारे देश में साक्षरता अनुपात बढ़ेगा।

प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना की पात्रता

वह सभी व्यक्ति को इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं तो उन्हें नीचे दिए गए पात्रता मानदंड को पूरा करना होगा:-

  • लाभार्थी भारत राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • लाभार्थी गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करता हो।
  • सरकार द्वारा तय किए गए मापदंडों के अनुसार ही आपको योजना का लाभ मिलेगा।
  • लाभार्थी के पास सभी मुख्य दस्तावेज होना अनिवार्य है।
  • केवल विकलांग छात्र ही इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं।

Important Documents

प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना के अंतर्गत आवेदन करने हेतु मुख्य दस्तावेज निम्नलिखित है:-

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना 2022 के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति‌ ‌जो प्रधानमंत्री समेकित शिक्षा योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं उन्हें अभी कुछ समय का इंतजार करना होगा क्योंकि सरकार द्वारा अभी सिर्फ इस योजना की घोषणा की गई है अभी इसकी आवेदन की प्रक्रिया जारी नहीं की गई है। जैसे ही इसकी आवेदन की प्रक्रिया जारी की जाएंगी वैसी ही हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से आवेदन की प्रक्रिया स्पष्ट करेंगे। यदि आपके मन में फिर भी कोई प्रश्न आता है तो आप हम से नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते हैं आप का कमेंट हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण होगा।

Leave a Comment