|Form| सुकन्या समृद्धि योजना 2022: Sukanya Samriddhi Yojana Calculator

सुकन्या समृद्धि योजना ऑनलाइन आवेदन | SSY Interest Rate Calculator | सुकन्या समृद्धि योजना एप्लीकेशन फॉर्म | Sukanya Samriddhi Yojana Tax Benefit | Sukanya Yojana Details |

देश की बालिकाओं का भविष्य उज्जवल बनाने हेतु हमारे प्रिय प्रधानमंत्री जी के द्वारा वर्ष 2015 में सुकन्या समृद्धि योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से कन्याओं के लिए माता-पिता द्वारा राष्ट्रीय बैंक एवं पोस्ट ऑफिस में बचत खाते खुलवाए जाएंगे। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से सुकन्या समृद्धि योजना 2022 से जुड़ी संपूर्ण जानकारी जैसे उद्देश्य लाभ विशेषताएं पात्रता दस्तावेज एवं आवेदन की प्रक्रिया स्पष्ट करने जा रहे हैं। Sukanya Samriddhi Yojana से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने हेतु हमारे इस लेख को विस्तार पूर्वक पढ़ें।

Table of Contents

About Sukanya Samriddhi Yojana

हमारे देश के प्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा समय-समय पर देश की बालिकाओं का भविष्य उज्जवल बनाने के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाएं चलाई जाती है। इसी प्रकार प्रधानमंत्री द्वारा 22 जनवरी 2015 में Sukanya Samriddhi Yojana को आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से माता पिता के द्वारा बेटियों का बचत खाता राष्ट्रीय बैंक एवं पोस्ट ऑफिस में खुलवाया जाएगा। जिसका उपयोग करके माता पिता अपनी बेटी की पढ़ाई वह शादी के लिए पैसा जमा कर सकते हैं।

  • इस योजना के अंतर्गत खुलने वाले बचत खाते की न्यूनतम राशि 250 रुपये है तथा अधिकतम राशि 1.5 लाख रुपये है।
  • इस राशि का उपयोग करके देश के बालिकाएं उच्च शिक्षा भी प्राप्त कर सकती हैं।
  • SSY के अंतर्गत जमा की जाने वाली राशि का उपयोग करके माता-पिता अपनी कन्याओं की शादी भी बिना किसी कठिनाई के कर सकते हैं।
  • Sukanya Samriddhi Yojana Interest Rate पहले 9.1% ब्याज दर उपलब्ध था जिसे अब 8.6% कर दिया गया है।

सुकन्या समृद्धि योजना के मुख्य तथ्य

इस योजना के तहत मुख्य तथ्य कुछ इस प्रकार हैं:-

योजना का नामसुकन्या समृद्धि योजना 2022
किसके द्वारा आरंभ की गईकेंद्र सरकार द्वारा
घोषणा किसके द्वारा की गईप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
आरंभ तिथि22 जनवरी 2015
योजना का उद्देश्यबेटियों को उज्जवल भविष्य प्रदान करना
योजना के लाभबेटियां अपनी उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकेंगी
योजना का विषयबालिकाओं का बचत खाता खुलवाना
बचत खाता कहां खुलवाया जाएगाराष्ट्रीय बैंक एवं पोस्ट ऑफिस
बैंक की न्यूनतम राशि250 रुपये
बैंक की अधिकतम राशि1.5 लाख रुपये
ब्याज दर8.6%
बालिका की आयु10
आवेदन का प्रकारऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट 

Kanya Sumangala Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य

जैसे कि हम सब जानते हैं कमजोर आर्थिक स्थिति होने के कारण हमारे देश में कन्या आगे की पढ़ाई नहीं कर पाती हैं और उनके माता-पिता के पास उनके विवाह योग्य पैसे भी उपलब्ध नहीं होते हैं इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना को आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से माता-पिता द्वारा बालिकाओं के बचत खाते खुलवाए जाएंगे। इन खातों का उपयोग करके देश के माता पिता अपनी बेटी के लिए कुछ पैसा जमा कर सकेंगे।

  • इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि लड़कियों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ाया जा सके।
  • शिक्षा संपूर्ण होने के बाद उनके विवाह के लिए पैसों की कमी ना आए।
  • Sukanya Samriddhi Yojana के माध्यम से बचत खाते में जमा हुई राशि का उपयोग करके बेटियां आगे की शिक्षा प्राप्त कर सकेंगी।
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य है कि बालिकाओं को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाया जा सके।
  • ना केवल बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनाया जाएगा बल्कि लड़कियों की भ्रूण हत्याओं को भी समाप्त किया जा सकेगा।
सुकन्या समृद्धि योजना Interest Rate Calculator

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत किए गए कुछ महत्वपूर्ण बदलाव

इस योजना के तहत किए गए कुछ महत्वपूर्ण बदलाव इस प्रकार है:-

  • विभिन्न बैंकों द्वारा गलती से अधिक राशि या गलत राशि खाता धारक के अकाउंट में क्रेडिट होने पर राशि वापस नहीं ली जाएगी।
  • खाताधारकों को अब हर वर्ष के ब्याज को वित्तीय वर्ष के अंत में ही एक बार क्रेडिट किया जाएगा।
  • पहले इस योजना के तहत बेटी 10 वर्ष की आयु के बाद अपने खाते को ऑपरेट कर सकते थे परंतु अब न्यूनतम वर्ष को बढ़ाकर 18 वर्ष कर दिया गया है।
  • इस योजना का लाभ पहले केवल परिवार की तो बेटियों को ही प्रदान किया जाता था परंतु अब तीसरे बेटे को भी सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ प्राप्त होगा।
  • अगर बेटी किसी खतरनाक बीमारी से जूझ रही है तो ऐसे में सुकन्या समृद्धि का खाता बंद किया जाएगा और राशि मुहैया कराई जाएगी।
  • पहले इस योजना के तहत डिफॉल्ट अकाउंट पर पुराने रेट लागू किए जाते थे परंतु अब खाते के मैच्योर होने तक जमा राशि पर लागू इंटरेस्ट लोगों को मिलता रहेगा।

मध्यप्रदेश में 23 लाख सुकन्या खाते खोले गए

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी के द्वारा शनिवार यानी 23 जनवरी 2022 को बताया गया कि सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अब तक राज्य में 23 लाख खाते खोले जा चुके हैं। इससे बड़ी संख्या को हासिल करने का मुख्य लक्ष्य है कि राज्य की बेटियों के लिए पैसों की बचत की जा सके ताकि वह अपने आगे की शिक्षा आसानी से प्राप्त कर सके और बिना किसी आर्थिक तंगी के अपना विवाह कर सकें। केंद्र सरकार द्वारा बेटियों को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाने हेतु इस योजना को शुरू किए हुए 7 वर्ष पूरे हो चुके हैं। मुख्यमंत्री जी द्वारा बताया गया है कि इन 7 सालों में लगभग 22 लाख 94000 खाते अब तक खोले गए हैं

डाक विभाग द्वारा 28 फरवरी तक चलाया जाएगा महा अभियान

जैसलमेर मैं डाक विभाग द्वारा प्रत्येक बेटी को बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ मिशन के तहत सुकन्या खाता मोहिया कराने हेतु एक महा अभियान का संचालन किया गया था। इस महाअभियान के तहत जिले के प्रत्येक बेटी का खाता सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खोला जाएगा। डाक विभाग द्वारा इस महाअभियान को 28 फरवरी तक चलाने के निर्देश दिए गए हैं। डाक अधीक्षक उधर से जो द्वारा बताया गया है कि जैसलमेर जिले में अभी तक लगभग 16000 से ज्यादा बालिकाओं के सुकन्या खाता खुलवाए जा चुके हैं। इन खातों में जमा धनराशि के माध्यम से बेटियां अपनी शिक्षा करियर और विवाह आसानी से कर सकेंगी।

नए साल मैं भी बनी रहेंगी 7.6% तक की ब्याज दरें

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि देश की बालिकाओं का भविष्य उज्जवल बनाने हेतु केंद्र सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना का शुभारंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से बालिकाओं का भविष्य उज्जवल बनाने के लिए उन्हें बचत खाता राष्ट्रीय बैंक एवं पोस्ट ऑफिस में खुलवाया जाता है। पहले इस योजना के तहत 7.6% तक की ब्याज दरें निर्धारित की गई थी। जिन्हें सरकार द्वारा वर्ष 2022 में भी जारी रखने का निर्णय लिया गया है। अब सभी बालिकाओं को वर्ष 2022 के जनवरी से मार्च तक तिमाही में उतना ही ब्याज मिलता रहेगा जो अक्टूबर दिसंबर 2021 तक प्राप्त हुआ था।

डाक विभाग द्वारा 2.26 करोड़ सुकन्या खाते खोले गए

केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2015 में शुरू की गई सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बेटियों के खाते खोले जाते हैं। इन खातों के माध्यम से बेटियों की शादी एवं पढ़ाई के लिए पैसा जमा किया जाता है। आंकड़ों के अनुसार अक्टूबर 2021 तक डाक विभाग द्वारा लगभग 2.26 करोड़ सुकन्या खाता खोले गए हैं। साथ ही साथ यह भी बताया गया है कि केवल डाकघर के माध्यम से खाता खोलने की संख्या 86% है। इन सभी खातों में पोस्ट ऑफिस के माध्यम से लगभग 80,509.29 करोड रुपए जमा किए गए हैं। इसी के साथ ही साथ सरकारी एवं निजी बैंक भी सुकन्या समृद्धि योजना की के तहत खाता खोलने की इजाजत देते हैं।

19535 गांवों को संपूर्ण सुकन्या ग्राम घोषित किया गया

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि सरकार ने लड़कियों को अधिकतम लाभ सुनिश्चित करने के लिए सुकन्या समृद्धि योजना के सफल कार्यान्वयन के लिए कई प्रभावी कदम उठाए हैं। केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने बताया कि सुकन्या समृद्धि योजना का उचित ऑडियो वीडियो इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया प्रचार किया जा रहा है। और साथ ही साथ डाक विभाग द्वारा जनता की जानकारी के लिए समय-समय पर खाता खोलने के अभियान भी शुरू किए जा रहे हैं। इस प्रक्रिया के माध्यम से लगभग राज्य के 19535 गांवों को संपूर्ण सुकन्या ग्राम घोषित किया गया है। साथ ही साथ इस अभियान में कम से कम 5 गांव को संपूर्ण सुकन्या ग्राम के रूप में चिन्हित किया गया। ‌

सवा महीने में आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने खोले 16,000 से अधिक खाते

इलाहाबाद डिवीजन को समृद्धि भवन बनाने हेतु एक पहला कदम उठाया गया। जिसके तहत आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओ द्वारा लगभग सवा माह में 16000 से अधिक सुकन्या समृद्धि खाते खोले गए हैं। पहले डाक कर्मियों की ओर से 3 वर्ष में केवल 15341 खाते खोले गए थे। परंतु हाल ही में हुए विशेष अभियान के तहत इलाहाबाद डिवीजन उत्तर प्रदेश के 46 डिवीज़ो में से दूसरे नंबर पर रहा है। वर्ष 2018 से लेकर वर्ष 2020 तक लगभग 15341 खाते खोले जा चुके हैं। सूत्रों के अनुसार खाता खोलने की औसत लगभग 5100 खाता पाई जा रही है। सुकन्या समृद्धि योजना का खाता खोलने में आंगनवाड़ी की कार्यकर्ताओं का एक बेहतर सहयोग प्राप्त हुआ है। 

  • इस कामयाबी को देखते हुए डाक कर्मियों ने भी अभियान के तहत खाता खोलने का प्रशिक्षण दिया है।
  • बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत इस योजना के माध्यम से राज्य की बेटियों को काफी लाभ प्राप्त हुआ है।

इलाहाबाद डिवीजन में खोले गए खातों की संख्या

इस योजना के तहत इलाहाबाद डिवीजन में खोले गए खातों की संख्या कुछ इस प्रकार है:-

वर्षखाता संख्या
20152103
201612064
20174350
20185029
20193862
20206450

केवल 416 रुपये बचत में दे बेटियों को 65 लाख रुपये


जैसे कि हम सभी जानते हैं कि सुकन्या समृद्धि योजना एक लंबी अवधि की स्कीम है जो आपकी बेटी की पढ़ाई और भविष्य के लिए एक बेहतरीन उपाय है। यदि आप भी एक बेटी के बाप हैं तो इस दिवाली आप इस योजना के तहत केवल 416 रुपये रोजाना जमा कर एक मोटा फंड बना सकते हैं। इस योजना के तहत लोगों को रोजाना केवल 416 रुपये की बचत करनी होगी और आगे चलकर उनकी बेटियों को 65 लाख रुपए की मोटी रकम प्रदान की जाएगी। आपकी बेटी के किस साल होने के बाद उन्हें जितनी रकम चाहिए आप उस हिसाब से कैलकुलेट कर सकते हैं और अपनी बेटियों को एक खुशियों भरी जिंदगी मुहैया करा सकते हैं।

अब बेटों को भी मिलेगा सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ

डाक विभाग द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना को बेटों के नियम भी शुरू कर दिया गया है। इस योजना के माध्यम से 15 वर्ष तक के युवाओं को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। अभिभावकों द्वारा ₹500 प्रति माह बेटों के खातों में जमा किए जाएंगे। जिसके तहत लड़के के 15 वर्ष के होने के बाद उसे 1.57 लाख रुपये की राशि मुहैया कराई जाएगी। लड़कों के लिए खाता खुलवाने के लिए माता-पिता का आधार कार्ड और बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र देना होगा। साथ ही साथ लड़कों के खातों में ₹500 महीना जमा करवाना होगा। गरीब व्यक्ति ₹500 प्रति माह के जगह ₹500 सलाना भी जमा कर सकते हैं। जितनी राशि जमा की जाएगी उसी आधार पर लोगों को ब्याज भी मिलेगा।

डाकियों और कर्मचारियों को 50,000 खाते खोलने का लक्ष्य जारी किया गया

जैसे कि हम सभी जानते हैं सरकार द्वारा चलाई जाने वाली योजनाओं में से सुकन्या समृद्धि योजना एक बहुत ही महत्वकांक्षी योजना है। इस योजना के तहत सरकार द्वारा झांसी मंडल के डाकघरों को 50,000 खाता खोलने का लक्ष्य दिया गया है। केंद्र सरकार द्वारा निर्देश दिए गए हैं कि शाखा डाकघरों को 80, बड़े पोस्ट ऑफिस को 50, छोटे डाकघरों को 20 खाते खोलने होंगे। इस संबंध में अधीक्षक जितेंद्र सिंह द्वारा कहा गया है कि देश की अधिक से अधिक बालिकाओं को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाए। और जल्द से जल्द एक महीने के भीतर ही 50,000 से ज्यादा खाता खोलने का लक्ष्य पूरा किया जाए।

  • इस लक्ष्य की जिम्मेदारी सरकार द्वारा विभाग के सभी कर्मचारियों को सौंपी गई है।
  • अब देश की प्रत्येक बालिका Sukanya Samriddhi Yojana के तहत लाभ उठा सकेंगे।

प्रतापगढ़ जिले के गांव-गांव में प्रदान किया जाएगा सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ

जैसे के हम सभी जानते हैं कि बेटियों का बचत खाता राष्ट्रीय बैंक एवं पोस्ट ऑफिस बैंक में खुलवाने हेतु हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना का शुभारंभ किया गया है। सुकन्या समृद्धि योजना के माध्यम से देश के गरीब लोग अपनी बेटी की पढ़ाई वह शादी के लिए इन बैंकों में पैसा जमा कर पाएंगे। ताकि बेटियों की शादी के समय किसी भी प्रकार की आर्थिक तंगी का सामना ना करना पड़े। प्रतापगढ़ जिले के अधिकारी द्वारा 44 उप डाकघरों को  गांव की प्रत्येक बच्ची इस योजना का लाभ प्रदान करने की घोषणा की गई है।

  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत प्रतापगढ़ जिले के प्रत्येक गांव में डाक विभाग के पोस्टमैन को भेजा जाएगा और इस योजना से जोड़ने के लिए जानकारी प्रदान की जाएगी।
  • कांव-कांव पोस्टमैन को भेजने का मुख्य उद्देश्य है कि प्रतापगढ़ राज्य कि कोई भी बालिका इस योजना से वंचित ना रहे।

डाकघरों में हुआ सुकन्या खाता महामेला

जैसे कि हम सभी जानते हैं केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत देश की बालिकाओं के बचत खाते खोले जाते हैं ताकि उनकी पढ़ाई व शादी के लिए पैसा जमा हो सके। इस योजना के अंतर्गत अब राष्ट्रीय कृत बैंक या फिर पोस्ट ऑफिस में जाकर बालिकाओं का खाता खुलवा सकते हैं। परंतु डाक विभाग द्वारा सभी डाकघरों में 19 व 20 जुलाई को सुकन्या खाता महामेला का आयोजन किया गया था। इस आयोजन के चलते बड़ी संख्या में बालिकाओं के सुकन्या समृद्धि खाता खोले जाएंगे। इस आयोजन के चलते मंडल में करीब 300 खाते खोले गए हैं।

  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत बालिकाओं के खाता खोलने में प्रधान डाकघर सबसे आगे रहा है।
  • इस शुभ अवसर के दौरान डाक अधीक्षक इंद्रकुमार लिल्हारे, सहायक अध्यक्ष श्रवण कुमार उत्तरी, विवेक तिवारी दक्षिणी, प्रधान डाकघर पोस्ट मास्टर विजय कुमार त्रिपाठी, समेत राम अवतार वर्मा, अवनीश कुमार राठौर, ठाकुर हरी प्रताप सिंह, हेमंत द्विवेदी तथा अभिषेक द्विवेदी आदि शामिल थे।

सुकन्या समृद्धि खातों में डिजिटल अकाउंट का उपयोग कर पैसा जमा

सरकार द्वारा शुरू की गई सुकन्या समृद्धि योजना के माध्यम से बेटी की शिक्षा एवं विवाह के लिए बचत खाते में पैसा जमा किया जा सकेगा। इस पैसे का उपयोग कर देश की बालिकाओं को अपने खर्चे के लिए किसी दूसरे पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा। पहले सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत बचत खाते में पैसे जमा करने के लिए पोस्ट ऑफिस जाने की आवश्यकता पड़ती थी ऐसे में लोगों को काफी कठिनाइयों का भी सामना करना पड़ता था तथा उनका समय भी बर्बाद होता था। परंतु भारतीय डाकघर द्वारा डिजिटल अकाउंट लॉन्च कर दिया गया है।

  • डिजिटल अकाउंट के माध्यम से सुकन्या समृद्धि खाते में पैसा ऑनलाइन जमा किया जाएगा।
  • इसके लिए माता-पिता और को पोस्ट ऑफिस जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी
  • वह घर बैठे ही मोबाइल का उपयोग करके पैसा जमा कर सकते हैं।
  • यदि आप भी Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत अपना अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो आपके पास आधार कार्ड तथा पैन कार्ड उपलब्ध होना अनिवार्य है।
  • यह डिजिटल अकाउंट केवल 1 साल के लिए ही वैध है

Central Government Scheme

सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ कितनी बेटियों को मिलेगा

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा शुरू की गई सुकन्या समृद्धि योजना का लाभ केवल एक परिवार की दो बेटियों को ही प्रदान किया जाएगा। यदि किसी परिवार में दो से अधिक बेटियां हैं तो Sukanya Samriddhi Yojana का लाभ केवल एक परिवार की दो बेटियां ही उठा सकती हैं। परंतु किसी परिवार में जुड़वा बेटी है तो इस योजना का लाभ उन्हें अलग-अलग प्रदान किया जाएगा

  • इस योजना के अंतर्गत व सभी माता-पिता अपनी बेटियों का खाता खोल सकते हैं जो अपनी बेटी की पढ़ाई व शादी कराना चाहते हैं।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए लड़कियों की आयु 10 वर्ष होनी चाहिए।
  • सुकन्या समृद्धि योजना को सरकार द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के अभियान के लिए ही शुरू किया गया है।

Sukanya Samriddhi Yojana Calculator

जैसे कि हम सब जानते हैं सरकार द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत 2015 में की गई थी। इस योजना के अंतर्गत अभिभावक द्वारा अपनी बालिकाओं के बैंक खाते वाणिज्यिक बैंक या पोस्ट ऑफिस में खुलवाए जाएंगे। एवं इन खातों पर ब्याज दर सरकार द्वारा 8.4% निर्धारित की गई है। यदि आप भी इस योजना के अंतर्गत निवेश राशि को जानना चाहते हैं तो आपको Sukanya Samriddhi Yojana Calculator का उपयोग करना होगा। इस कैलकुलेटर का उपयोग कर आप सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अपनी राशि के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

  • इस कैलकुलेटर का उपयोग करके आप अपनी मैच्योरिटी वर्ष की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
  • जिससे आपको अपनी राशि निकालने मैं किसी प्रकार की किसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

सुकन्या समृद्धि कैलकुलेटर का उपयोग कौन कर सकता है

सुकन्या समृद्धि कैलकुलेटर का उपयोग करने हेतु बालिकाओं को निम्नलिखित शर्तों को पूरा करना होगा

  • बालिका एक भारतीय निवासी होनी अनिवार्य है।
  • उम्मीदवार की आयु 10 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • एवं एक परिवार की केवल 2 बालिकाएं ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं।

SSY केलकुलेटर के लाभ

इस योजना के अंतर्गत उपलब्ध कैलकुलेटर के लाभ कुछ इस प्रकार हैं

  • इस कैलकुलेटर का उपयोग करके आप अपने खाते की परिपक्वता का वर्ष देख सकते हैं ‌
  • आपका खाता परिपक्व होने के बाद आपको मिलने वाली राशि प्रदान की जाएगी।
  • SSY कैलकुलेटर आपको निवेश पोर्टफोलियो को प्रभावी ढंग से योजना बनाने में मदद करता है ‌

सुकन्या समृद्धि योजना कैलकुलेटर कार्य करने की प्रक्रिया

सरकार द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत प्रति वर्ष 8.5% की ब्याज दर प्रदान की जाती है। एवं इसके अंतर्गत राशि की परिपक्वता अवधि 21 वर्ष है। तथा इस योजना को 14 वर्ष तक जीवित रखने के लिए व्यक्तियों को वर्ष में कम से कम एक योगदान करना अनिवार्य है। यदि किसी व्यक्ति द्वारा इस योजना के अंतर्गत 21 वर्ष में योगदान नहीं किया गया है मौजूदा ब्याज पर कमाई जारी रखी जाएगी। इसलिए अंतिम राशि की गणना योगदान और अर्जित ब्याज के आधार पर की जाएगी। सुकन्या समृद्धि कैलकुलेटर का उपयोग करने के लिए निम्न सूत्र का उपयोग किया जाता है जो कि इस प्रकार है

ए= पी (1 आर/एन)^ एनटी

  • जहां
  • ए- चक्रवृद्धि ब्याज के नाम से जाना जाता है
  • पी- को मूल राशि के नाम से जाना जाता है
  • आर- को ब्याज की दर के नाम से जाना जाता है
  • एन- मतलब 1 वर्ष में ब्याज योगियों की संख्या
  • पी- को वर्षों की संख्या के नाम से जाना जाता है

Sukanya Samriddhi Yojana Account Transfer

यदि आपका खाता सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत एक पोस्ट ऑफिस में खोला गया है तो आप उस अकाउंट को दूसरे पोस्ट ऑफिस में भी ट्रांसफर कर सकते हैं यदि बैंक में खोला गया है तो आप एक बैंक से दूसरे बैंक में इसको ट्रांसफर कर सकते हैं। Sukanya Samriddhi Yojana Account Transfer करने हेतु प्रक्रिया को फॉलो करें

  • सबसे पहले आपको अपने सभी केवाईसी दस्तावेजों और अपडेटेड पासबुक को लेकर नजदीकी बैंक या डाकघर में जाना होगा।
  • वहां जाने के बाद आपको अपने सभी दस्तावेज़ जमा करने होंगे ‌
  • तथा अपने सभी दस्तावेज जमा करने के बाद आपको बैंक या पोस्ट ऑफिस में सूचना देनी होगी के आपको अपना खाता ट्रांसफर करना है
  • इसके पश्चात मैनेजर आपका खाता पोस्ट ऑफिस बैंक में बंद कर देगा और ट्रांसफर रिक्वेस्ट आपको प्रदान कर देगा
  • इस ट्रांसफर रिक्वेस्ट को लेकर आपको नए पोस्ट ऑफिस या बैंक में जाना होगा
  • वहां सभी दस्तावेज जमा करने होंगे दस्तावेजों के साथ केवाईसी दस्तावेजों को भी वही जमा कर देना होगा
  • इस प्रकार आपको नई पासबुक दी जाएगी और आपका खाता नए पोस्ट ऑफिस या बैंक में खुल जाएगा।

लोन सुविधा सुकन्या समृद्धि योजना

सरकार द्वारा चलाई जाने वाली अन्य योजनाओं के अंतर्गत लोगों को लोन सुविधाएं भी उपलब्ध कराई जाती है परंतु बात सुकन्या समृद्धि योजना की जाए तो यह अन्य पीपीएफ योजना के तहत नहीं है जिसके अंतर्गत लोन प्रदान किया जा सके। अगर बालिका 18 वर्ष की हो जाती है तो आप इस योजना के अंतर्गत खुले जाने वाले खातों में से अभिभावकों द्वारा निकासी कर सकते हैं। परंतु इस योजना के अंतर्गत की जाने वाली निकासी केवल 50 परसेंट ही की जा सकती है बाकी की निकासी बालिकाओं की बेहतरी के लिए ही की जाएगी।

  • SSY के अंतर्गत बालिका के 18 वर्ष पूर्ण होने के बाद अभिभावक 50 परसेंट की राशि निकाल सकता है।
  • बाकी के 50 परसेंट या तो बालिका की शादी पर ही निकाले जाएंगे
  • या बालिका को उच्च शिक्षा प्रदान करने के लिए निकाले जाएंगे

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाता रिओपन प्रक्रिया

सुकन्या समृद्धि योजना को भारत सरकार द्वारा बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत शुरू किया गया है। इस योजना के अंतर्गत बालिका की 10 वर्ष की आयु से पहले पहले बालिकाओं की शादी एवं उच्च शिक्षा के लिए खुलवाया जाता है। यह योजना बालिकाओं का भविष्य उज्जवल करने के लिए शुरू की गई है। Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत खातों को एक्टिवेट रखने के लिए प्रति वर्ष 250 रुपये के राशि मेंटेन रखना अनिवार्य है। यदि किसी वर्ष आप यह राशि जमा नहीं करवाते हैं तो आपका अकाउंट बंद हो जाता है। अगर आपका सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट इसी कारण बन हुआ है तो सुकन्या समृद्धि खाता रिओपन कराने हेतु नीचे दिए गए निम्नलिखित चरणों का पालन करें

  • अकाउंट रिओपन कराने के लिए आपको बैंक या पोस्ट ऑफिस में जाना होगा
  • वहां पहुंचने के बाद आपको अकाउंट चालू करवाने के फॉर्म को भरना होगा और बकाया राशि का भुगतान करना होगा
  • यदि आपने 2 वर्ष से राशि का भुगतान नहीं किया है तो आपको 2 वर्ष की राशि का भुगतान करना होगा और साथ में 50 रुपये प्रतिवर्ष की पेनल्टी भी जमा करनी होगी।
  • फॉर्म भरने के बाद राशि और शाम को आपको उसी पोस्ट ऑफिस या बैंक में जमा कर देना होगा
  • इस प्रकार आपका अकाउंट रिओपन हो जाएगा।

सुकन्या समृद्धि योजना के महत्वपूर्ण बदलाव

सरकार द्वारा शुरू की गई सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किए गए हैं जो कि इस प्रकार है

डिफॉल्ट अकाउंट पर अधिक ब्याज

इस योजना के अंतर्गत यदि कोई व्यक्ति सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में 250 रुपये की राशि प्रतिवर्ष जमा नहीं कर पाता है तो उस अकाउंट को डिफॉल्ट अकाउंट माना जाएगा। और इस डिफॉल्ट अकाउंट में जमा राशि पर वही एड्रेस दिया जाएगा जो Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत तय की गई है

प्रीमेच्योर अकाउंट क्लोज में बदलाव

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत यदि किसी बच्चे की मृत्यु हो जाती है तो उस अकाउंट परिपक्वता से पहले ही बंद किया जा सकता है। और इसके साथ साथ यदि बच्चे किसी जानलेवा बीमारी से जूझ रही है तो ऐसी स्थिति में भी बैंक अकाउंट को परिपक्वता होने से पहले ही बंद किया जा सकता है

अकाउंट का संचालन

नए नियमों के अनुसार यदि किसी बच्ची के नाम पर अकाउंट है तो जब तक वह बालिका 18 साल की नहीं हो जाती है तो तब तक खाते का संचालन बच्चे के हाथ में नहीं दिया जा सकता। पहले संचलन की आयु 10 साल थी परंतु सरकार द्वारा इसे बढ़ाकर 18 साल का कर दिया गया है ‌

दो बच्चों से अधिक का खाता

Sukanya Samriddhi Yojana के नए नियमों के अनुसार यदि किसी को अपने परिवार में से एक से अधिक बच्ची का अकाउंट खुलवाना है तो उसे अलग दस्तावेज जमा कराने होंगे तथा बेटी के बर्थ सर्टिफिकेट के साथ हलफनामा भी प्रदान करना होगा

अन्य महत्वपूर्ण बदलाव

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत कुछ प्रवधानों को जोड़े गए हैं तथा कुछ प्रावधानों को हटाया गया है जिनकी जानकारी अभी सरकार द्वारा स्पष्ट नहीं की गई है जैसे हैं इन शब्दों के बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से प्रदान करेंगे।

(SSY) सुकन्या समृद्धि योजना 2022

इस योजना के अंतर्गत खाते को बालिका के 18 वर्ष या 21 वर्ष के होने तक ही चलाया जा सकता है। सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत यदि कन्या 18 वर्ष की हो जाती है तो वह अपने पढ़ाई के लिए 50% की निकासी कर सकती है।

  • 18 वर्ष के होने के बाद 50% की राशि प्राप्त करने से बालिका अपनी उच्च शिक्षा प्राप्त कर सकती है।
  • इसको अपनी उच्च शिक्षा के लिए किसी दूसरे पर निर्भर रहने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।
  • SSY के अंतर्गत राशि का उपयोग करके वह अपने पैरों पर खड़ी हो सकती है।
  • यदि बालिका 21 वर्ष की हो जाती है तो वह अपनी शादी के लिए पूरी धनराशि निकाल सकती है।
  • 21 वर्ष उम्र में निकालने वाली धनराशि के साथ एजेंसी द्वारा भुगतान की गई ब्याज धनराशि भी शामिल होगी
  • जो केवल बालिका के 21 वर्ष पूर्ण होने पर ही प्रदान की जाती है।

सुकन्या समृद्धि योजना धनराशि जमा करने की प्रक्रिया

  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत धनराशि कैश डिमांड ड्राफ्ट से जमा कर सकते हैं
  • यह पोस्ट ऑफिस या बैंक में कोर बैंकिंग सिस्टम के माध्यम से भी आप इलेक्ट्रॉनिक मोड से जमा कर सकते हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना खाता खोलने की आयु

  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत 0 से लेकर 10 साल की आयु तक बेटी का खाता खुलवा सकते हैं।
  • यदि किसी बेटी की आयु 10 वर्ष से ज्यादा है तो उसका कन्या समृद्धि खाता नहीं खुल पाया जा सकता
  • अकाउंट का संचालन 18 वर्ष से पहले पहले बेटी के माता-पिता या अभिभावक के पास ही होता है।

सुकन्या समृद्धि योजना परिपक्वता और आंशिक निकासी

अगर आप भी यह समझते हैं कि सुकन्या समृद्धि खाता 21 वर्ष के होने के साथ परिपक्व हो जाता है तो यह पूर्ण रूप से गलत है। सुकन्या समृद्धि खाते की परिपक्वता का लड़की के उम्र से कोई लेना देना नहीं है। खाताधारक केवल तभी पूरी राशि निकाल सकता है जब लड़की की आयु 21 वर्ष की हो जाती है तथा उसके विवाह के लिए तैयारी की जा रही होती है।

  • संपूर्ण निकासी करने के बाद खाता परिपक्वता हो जाता है तथा वह बंद कर दिया जाता है
  • यदि किसी खाता धारक की मृत्यु हो जाती है तो उसके खाते को बंद करने के लिए सक्षम प्राधिकारी द्वारा जारी किया गया मृत्यु प्रमाण पत्र की आवश्यकता पड़ती है।
  • उसके बाद शेष को अभिभावक को जमा कर दिया जाता है और खाता बंद कर दिया जाता है

मैच्योरिटी से पहले सुकन्या समृद्धि खाता बंद होने की स्थितियां

मैच्योरिटी से पहले सुकन्या समृद्धि खाता बंद करने की स्थितियां कुछ इस प्रकार है

  • अगर किसी खाता धारक की मृत्यु हो जाती है तो सुकन्या समृद्धि योजना खाता बंद करवाया जा सकता है। (इस स्थिति में मृत्यु प्रमाण पत्र दिखाना अनिवार्य है)
  • इस योजना के अंतर्गत खाता 5 साल के बाद किसी भी कारणवश बंद कराया जा सकता है। ( इस स्थिति में सेविंग बैंक अकाउंट के हिसाब से ब्याज दर मिलेगा)
  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत खाते में से 50% धनराशि बेटी की पढ़ाई के लिए भी निकाली जा सकती है
  • परंतु बेटी की पढ़ाई के लिए निकासी केवल बेटी के 18 वर्ष के होने के बाद ही निकाली जा सकती है

Sukanya Samriddhi Yojana Tax Benefit

  • आयकर अधिनियम के तहत इस योजना के अंतर्गत सभी निवेश कर कटौती के लाभ पात्र हैं। SSY की और अधिकतम 1.5 लाख की कर कटौती स्वीकार है।
  • इसके तहत ब्याज जमा होता है जिससे वार्षिक आधार पर जमा किया जाता है।
  • टैक्स छूट का दावा केवल लड़की के माता-पिता या कानूनी अभिभावक द्वारा ही किया जा सकता है

SSY के अंतर्गत अधिकृत बैंक

सुकन्या समृद्धि के अंतर्गत खाता खोलने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा 28 अधिकृत बैंक निम्नलिखित है

  • बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB)
  • स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (SBP)
  • स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (SBM)
  • इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB)
  • भारतीय बैंक
  • पंजाब नेशनल बैंक (PNB)
  • आईडीबीआई बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • सिंडीकेट बैंक
  • स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर (SBBJ)
  • स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर (SBT
  • इलाहाबाद बैंक
  • भारतीय स्टेट बैंक (SBI)
  • ऐक्सिस बैंक
  • आंध्रा बैंक
  • बैंक ऑफ महाराष्ट्र (BOM)
  • बैंक ऑफ इंडिया (BOI)
  • कॉर्पोरेशन बैंक
  • सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (CBI)
  • केनरा बैंक
  • देना बैंक
  • ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC)
  • स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (SBH)
  • पंजाब एंड सिंध बैंक (PSB)
  • यूनियन बैंक ऑफ इंडिया
  • यूको बैंक
  • यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया
  • विजय बैंक

सुकन्या समृद्धि योजना के लाभ एवं विशेषताएं

इस योजना के तहत लाभ एवं विशेषताएं कुछ इस प्रकार है:-

  • सुकन्या समृद्धि योजना को हमारे प्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा शुरू किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से देश की 10 से कम वर्ष की आयु वाली लड़कियों को प्रदान किया जाएगा
  • इस योजना के माध्यम से माता-पिता द्वारा बालिकाओं का बचत खाता राष्ट्रीय एवं बैंकों में खुलवाया जाएगा।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत बालिकाओं का बैंक खाता केवल अभिभावक ही खोल सकते हैं जब तक बालिका 10 वर्ष की नहीं हो जाती है।
  • इस योजना के अंतर्गत खोले गए खाते में जमा करने की न्यूनतम राशि 250 रुपये प्रतिवर्ष है।
  • तथा खोलें गए खाते में अधिकतम राशि 1.5 लाख रुपये है।
  • SSY को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि देश के बच्चों का भविष्य उज्जवल बन सके।
  • योजना के अंतर्गत प्रदान की जाने वाली धनराशि से लड़कियों की शादी में कोई कठिनाई नहीं आएगी तथा वह अपनी उच्च शिक्षा भी प्राप्त कर सकेंगी।
  • योजना लड़की और उनके माता-पिता एवं अभिभावकों के लिए भी एक कल्याणकारी योजना।
  • एक परिवार के केवल दो लड़कियां हैं इस योजना के अंतर्गत खाता खुलवा सकती हैं।

सुकन्या समृद्धि योजना में आवेदन के लिए पात्रता एवं दस्तावेज़

इस योजना के तहत पात्रता एवं महत्वपूर्ण दस्तावेज निम्नलिखित है:-

  • इस योजना के लिए बालिका की आयु 10 वर्ष से कम होनी चाहिए
  • आधार कार्ड
  • बच्चे के माता पिता की तस्वीर
  • बालिका का जन्म प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • माता-पिता या अभिभावक का पैन कार्ड राशन कार्ड ड्राइविंग लाइसेंस

सुकन्या समृद्धि योजना के नियम व शर्तें

निवेश की नियम व शर्तें

  • कन्या समृद्धि खाता खुलवाने के लिए बालिका की आयु 10 वर्ष की होनी चाहिए
  • एक लड़की के लिए केवल एक ही खाता खोला जा सकता है।
  • एक परिवार की केवल दो बेटियां ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं
  • अगर एक परिवार में जुड़वा यह ट्रिपलेट बेटियों का जन्म होता है तो उस स्थिति में दो बेटियां का ही खाता खोला जा सकता है।
  • बालिका के 18 वर्ष होने तक खाता धारक का अभिभावक द्वारा संचालित किया जाता है

न्यूनतम एवं अधिकतम राशि कि नियम व शर्तें

  • न्यूनतम 250 रुपये मैं खाता खोला जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को प्रतिवर्ष इस राशि का निवेश करना होगा।
  • यदि इस न्यूनतम राशि का निवेश नहीं किया गया तो खाते को डिफॉल्ट कर दिया जाएगा
  • अगर खाता डिफॉल्ट हो गया है तो उस स्थिति में लाभार्थी को 250 रुपये के साथ 50 रुपये पति बस पलटी का भुगतान करना होगा।
  • Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत अधिकतम 1.5 लाख का निवेश किया जा सकता है।
  • इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने पर अभिभावक को फॉर्म 1 बेटी का प्रमाण पत्र और अभिभावक का पैन कार्ड और आधार नंबर जमा करना होगा
  • इस योजना के अंतर्गत खाता खोलने पर 15 साल तक निवेश किया जा सकता है

परिपक्वता कर लाभ एवं ब्याज दरें के नियम व शर्तें

  • योजना के अंतर्गत खुलने वाला खाता 21 साल बाद या बालिका के विवाह के बाद खाता परिपक्व हो सकता है
  • सरकार द्वारा हर 3 महीने में आधार पर इंटरेस्ट रेट की अधिसूचना दी जाएगी जो कि 7.6% है।
  • Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत ब्याज राशि वित्तीय वर्ष में जमा की जाएगी
  • सेक्शन 80 सी के तहत इस योजना के अंतर्गत किए गए निवेश कर मुक्त है

खाते की प्रीमेच्योर क्लोज के नियम व शर्तें

  • सुकन्या समृद्धि का खाता खुलने के 5 साल बाद बंद कराया जा सकता है
  • अगर बालिका की मृत्यु हो जाती है तो इस स्थिति में खाता बंद करवाया जा सकता है
  • यदि बालिका को जानलेवा रोग होता है तो इस स्थिति में भी खाता बंद कराया जा सकता है
  • खाता धारक के अभिभावक की मृत्यु की स्थिति में खाता बंद करवाया जा सकता है

पैसे निकालने के नियम व शर्तें

  • Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत पिछले वित्तीय वर्ष के अंत में उपलब्ध शेष राशि का अधिकतम 50% ही निकाला जा सकता है।
  • यह निकासी के बल बालिका के 18 वर्ष की आयु पूरी होने पर या फिर दसवीं कक्षा उत्तीर्ण होने निकाली जा सकती है

Sukanya Samriddhi Yojana Online Application Form

Sukanya Samriddhi Yojana के अंतर्गत बचत खाता खुलवाने हेतु नीचे दिए गए चरणों का पालन करें

Sukanya Samriddhi Yojana Form Download
  • फॉर्म को डाउनलोड करने के बाद आपको इसमें सभी जानकारी दर्ज करनी होगी
  • जानकारियां दर्ज करने के बाद आपको अपने सभी दस्तावेज अटैच करने होंगे।
  • यह आवेदन फॉर्म आपको वंचित बैंक ऑफ पोस्ट ऑफिस में दस्तावेजों के साथ जमा कर देना होगा
  • इस प्रकार अवकाश सुकन्या समृद्धि योजना खाता खुल जाएगा

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अकाउंट बैलेंस चेक करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो अकाउंट बैलेंस चेक करना चाहते हैं उन्हें निम्नलिखित चरणों का पालन करना है:-

  • सुकन्या समृद्धि अकाउंट बैलेंस चेक करने हेतु आपको अपने बैंक लॉगिन क्रैडेंशियल्स प्रदान करना होगा ‌
  • लॉगिन क्रैडेंशियल्स की सुविधाएं सभी बैंकों द्वारा प्रदान नहीं की जाती है यह केवल कुछ बैंक ही प्रदान करते हैं
  • लॉगिन क्रैडेंशियल्स प्राप्त करने के बाद आपको इंटरनेट बैंकिंग पोर्टल पर लॉगिन करना होगा
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • यहां आपको कंफर्म बैलेंस के विकल्प पर क्लिक करना होगा
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने सुकन्या समृद्धि अकाउंट की राशि खुलकर आ जाएगी
  • इस प्रकार ऑफ सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत अकाउंट बैलेंस चेक कर सकते हैं

डिफॉल्ट खाते को रिवाइव करने की प्रक्रिया

यदि किसी कारणवश आप सुकन्या समृद्धि खाते मैं न्यूनतम राशि का निवेश नहीं कर पाते हैं तो आपको अपना खाता रिवाइव कराने की आवश्यकता पड़ेगी। डिफॉल्ट खाते को रिवाइव करने के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन करें

  • डिफॉल्ट खाते को रिवाइव करने हेतु आपको बैंक में न्यूनतम निवेश जमा करना होगा
  • 250 रुपये के न्यूनतम निवेश के साथ आपको 50 रुपये प्रतिवर्ष पेनल्टी कभी भुगतान करना होगा।
  • इस भुगतान के बाद आपका खाता रिवाइव कर दिया जाएगा |

सुकन्या समृद्धि योजना 2022 की ब्याज दरें

इस योजना के तहत ब्याज की दरें कुछ इस प्रकार है:-

Financial YearInterest  rate
From April 1, 20149.1%
From April 1, 20159.2%
From April 1, 2016 -June 30, 20168.6%
From July 1, 2016-September 30, 20168.6%
From October 1, 2016-December 31, 20168.5%
From January 1, 2018 – March 31, 20188.3%
From April 1, 2018 -June 30, 20188.1%
From July 1, 2018 -September 30, 20188.1%
From October 1, 2018 – December 31, 20188.5%
From July 1, 20168.4%

सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत ब्याज तय करने की प्रक्रिया

इस योजना के तहत ब्याज तय करने की प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है:-

  • इस योजना के अंतर्गत खाते को पोस्ट ऑफिस या फिर किसी भी बैंक में खुलवाया जा सकता है।
  • ब्याज की गणना करने का तरीका सरकार द्वारा निर्धारित किया गया है।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के अंतर्गत निवेश करने पर लोगों को 7.6% ब्याज का भुगतान किया जाता है।
  • इस योजना के अंतर्गत पांचवें दिन की क्लोजिंग और महीने के बीच में खाते में सबसे कम बैलेंस के आधार पर ब्याज कैलकुलेट किया जाता है।
  • सरकार द्वारा प्रतिवर्ष ब्याज की दरें बदली जाती है।
  • प्रतिवर्ष के अंत में ही लोगों को खाते में ब्याज की राशि मुहैया कराई जाती है।
  • इस योजना के तहत की जाने वाली डिपॉजिट पर सेक्शन 80c के अंतर्गत डिडक्शन भी प्रदान किया जाता है।

Leave a Comment