|Sampatti Card| स्वामित्व योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन | संपत्ति कार्ड डाउनलोड

Apply PM Swamitva Yojana at svamitva.nic.in | स्वामित्व योजना ऑनलाइन आवेदन | Online Registration Property Card 2022 | संपत्ति कार्ड डाउनलोड | Download Sampatti Card |

भारत को डिजिटलीकरण की ओर ले जाने हेतु हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 24 अप्रैल 2020 को स्वामित्व योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्र के व्यक्तियों की संपत्ति अभिलेख का पूरा ब्यौरा ऑनलाइन दर्ज कराया जाएगा। और प्रॉपर्टी मालिकों को ऑनलाइन संपत्ति कार्ड (Sampatti Card) उपलब्ध कराए जाएंगे। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से स्वामित्व योजना 2022 से जुड़ी पूरी जानकारी जैसे उद्देश्य लाभ विशेषताएं दस्तावेज एवं आवेदन की प्रक्रिया स्पष्ट करने जा रहे हैं। Swamitva Yojana से जुड़ी संपूर्ण जानकारी प्राप्त करने हेतु हमारे इस लेख को विस्तार पूर्वक पढ़ें।

Table of Contents

About Swamitva Yojana

हमारे देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 24 अप्रैल 2020 को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से स्वामित्व योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से लोगों को उनकी संपत्ति का पूरा ब्यौरा ऑनलाइन उपलब्ध कराया जाएगा। इसके बाद राज्य सरकारों द्वारा सभी व्यक्तियों को संपत्ति कार्ड का फिजिकल वितरण करवाया जाएगा। Swamitva Yojana के अंतर्गत राजस्व विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्र के लोगों की जमीन का रिकॉर्ड एकत्रित करना शुरू कर दिया गया है। प्रधानमंत्री जी के द्वारा देश के लगभग एक लाख प्रॉपर्टी धारकों को एस एम एस के माध्यम से एक लिंक भेजा जाएगा। जिसका उपयोग करके लोग अपना प्रॉपर्टी कार्ड डाउनलोड कर सकेंगे।

  • अब गांव के लोग इस योजना के माध्यम से बैंक से लोन लेने में सक्षम रहेंगे।
  • Swamitva Yojana के अंतर्गत प्रधानमंत्री जी के द्वारा 11 अक्टूबर 2020 मैं हरियाणा के 221 उत्तर प्रदेश के 346, महाराष्ट्र के 100, मध्यप्रदेश के 44, उत्तराखंड के 50 और कर्नाटक के 2 गांव के नागरिकों को जमीन के मालिकाना हक के कागज सौंपें गए।
  • इस योजना के माध्यम से विवादित जमीनों के मसलों कभी निपटारा किया जाएगा।

उत्तर प्रदेश के 2 लाख लाभार्थियों को प्राप्त होगा एक लिंक

हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 23 दिसंबर 2021 को स्वामित्व योजना को उत्तर प्रदेश के काशी जिले में आरंभ किया गया है। और साथ ही साथ सरकार द्वारा प्रदेश भर के लगभग 2 लाख लाभार्थियों के पास एक लिंक भेजा जाएगा। इस लिंक में लोगों को एक प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा जो वह अपने फोन में खोल सकते हैं। यह प्रमाण पत्र उनकी जमीन का प्रमाण पत्र होगा जिस पर लोग क्लिक कर डाउनलोड भी कर सकते हैं। साथ ही साथ सरकार द्वारा यह भी बताया गया है कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 6 लाभार्थियों को घरौनी प्रमाण पत्र भी मुहैया कराया जाएगा।

उत्तर प्रदेश के वर्षों पुराने मकानों को अभिलेखों में दर्ज किया जाएगा

केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के माध्यम से लोगों को स्वामित्व देने का कार्य किया जा रहा है। हाल ही में ही सरकार द्वारा बताया गया है कि इस योजना के तहत क्षेत्र में बने वर्षों पुराने मकानों को सरकार द्वारा अभिलेखों से जोड़ा जाएगा। इस योजना के माध्यम से लोग अपनी संपत्ति के स्वयं ही मालिक बनेंगे। साथ ही साथ इस योजना के माध्यम से गांव की आबादी और प्रत्येक घर के सीमा का नक्शा बनाया जाएगा। इस नक्शे की जरूरत पड़ने पर ग्रामीण अपने घरों को बैंक में बंधक बनाकर ऋण प्राप्त करने में सक्षम रहेंगे।

जरूरी कागजात नहीं होने पर भी मिलेगा मालिकाना हक


जैसे कि हम सभी जानते हैं कि केंद्र सरकार द्वारा समय-समय पर कई कल्याणकारी योजनाओं को आरंभ किया जाता है। इसी प्रकार 24 अप्रैल 2021 को पीएम स्वामित्व योजना को आरंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से देश के ग्रामीण लोगों को जमीन का मालिकाना हक प्राप्त होगा। परंतु हाल ही में ही सरकार द्वारा घोषणा की गई है कि जिनके पास अपनी जमीन के जरूरी कागजात उपलब्ध नहीं होंगे उन्हें भी सरकार द्वारा मालिकाना हक मुहैया कराया जाएगा। और साथ ही साथ सरकार द्वारा ऐसे लोगों की जमीनों को रिकॉर्ड में लाया जाएगा। सरकार द्वारा इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि सामाजिक और आर्थिक सशक्तिकरण और आत्मनिर्भर भारत को बढ़ावा दिया जाए।

मध्य प्रदेश के 1.71 लाख लाभार्थियों को बंटे ई प्रॉपर्टी कार्ड

6 अक्टूबर 2021 को एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा मध्यप्रदेश में स्वामित्व योजना के तहत 1.71 लाख लाभार्थियों को ई प्रॉपर्टी कार्ड बांटे गए। इस शुभ अवसर के दौरान प्रधानमंत्री जी के द्वारा लाभार्थियों के साथ संवाद भी किया गया। साथ ही साथ पीएम मोदी द्वारा बताया गया कि वह जमाना हम पीछे छोड़ आए हैं जहां एक एक चीज पाने के लिए लोगों को सरकारी कार्यालय के चक्कर काटने पड़ते थे। अब लोगों को ही प्रॉपर्टी कार्ड खुद डिजी लॉकर के माध्यम से मूहैया  कराए जाएंगे।

20 साल तक के पुराने किराएदार 30 सितंबर तक कर सकते हैं आवेदन

जैसे कि आप सभी जानते हैं लोगों को नगर निगम की संपत्ति पर मालिकाना हक प्रदान करने हेतु प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा स्वामित्व योजना का शुभारंभ किया गया है। स्वामित्व योजना के तहत हरियाणा के 20 साल पुराने किराएदार अब नगर निगम की संपत्ति पर मालिकाना हक जताने के लिए 30 सितंबर तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। पहले इस योजना के तहत आवेदन की प्रक्रिया 31 जुलाई 2021 थी परंतु इसे अब बढ़ाकर 30 सितंबर 2021 कर दिया गया है। वह सभी व्यक्ति जो 1 जनवरी 2000 से पहले से किसी संपत्ति में रह रहे हैं उन्हें 31 दिसंबर 2020 तक 20 साल पूरे हो जाएंगे। 

  • 20 साल पुराने किराएदार भी आसानी से इस योजना के तहत 30 सितंबर तक आवेदन करने में सक्षम रहेंगे।
  • वह सभी व्यक्ति जो 50 साल से ऐसी प्रॉपर्टी पर कहां पर है उन्हें कलेक्ट्रेट पर 50% छूट दी जाएगी। 

रजिस्ट्री के लिए गांव में लगेंगे कैंप

1 सितंबर को भी समीक्षा बैठक के दौरान स्वामित्व योजना के बारे में अधिकारियों द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। अधिकारियों द्वारा कहा गया है कि इस योजना को प्राथमिकता दी जाए और पूरी तरीके से लोगों को स्वामित्व योजना लाभ मुहैया कराया जाए। इसके लिए सभी लोगों को 2 दिनों में अपने अपने खंडों से संबंधित गांवों में विशेष कैंप लगाने होंगे। सरकार द्वारा इस योजना के तहत लगभग 1-1 हजार रजिस्ट्री कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस लक्ष्य को जारी करने का मुख्य उद्देश्य है कि लोगों को इस योजना का पूरा लाभ प्राप्त हो सके।

15 सितंबर तक होंगे स्वामित्व योजना के कार्य पूर्ण


एसीएस द्वारा कहा गया है कि इस योजना के कार्यों में तेजी लाई जाए और 15 सितंबर 2021 तक सारे कार्य पूर्ण किए जाएं। साथ ही साथ अतिरिक्त मुख्य सचिव द्वारा मॉडर्न रिकॉर्ड रूम के अंतर्गत राजस्व रिकॉर्ड को तुरंत सत्यापन कराने के निर्देश जारी किए गए हैं। उपायुक्त द्वारा बताया गया है कि जिले के लगभग 260 गांवों में रजिस्ट्री का कार्य पूरा हो चुका है। अब तक देखा जाए तो स्वामित्व योजना के तहत लगभग 6823 रजिस्ट्री हो चुकी है और सर्वे ऑफ इंडिया के द्वारा नक्शा दुरुस्त किया जा रहा है। यह जानकारी एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दी गई जिसमें रितेश कॉल बीआरओ प्रमोद चहल तहसीलदार बीडीपीओ नरेंद्र कुमार संदीप भारद्वाज नायब तहसीलदार बलराज जाखड़ भजन दास विकास कुमार आदि शामिल थे।

स्वामित्व योजना के तहत ड्रोन फ्लाइंग का कार्य पूर्ण हुआ

झज्जर जिले में ग्रामीण लोगों को उनकी संपत्ति का मालिकाना हक दिलाने के लिए सरकार द्वारा विभिन्न प्रयास किए जाते हैं। एवं इसके साथ-साथ उनकी संपत्ति के दस्तावेज सौंपने एवं दावे आपत्तियों को लेकर भी काफी समाधान लोगों को प्रदान किए गए हैं। परंतु साथ-साथ झज्जर जिले के डीसी द्वारा बताया गया है कि लगभग 247 गांव में स्वामित्व योजना के तहत ड्रोन फ्लाइंग का कार्य पूर्ण हो चुका है। अब तक 21 गांव में 1387 रजिस्ट्री प्राप्त हो चुकी है और उनकी ज़मीन के मूल दस्तावेज प्रदान किए जा चुके हैं। आगे सरकार द्वारा इस पर कड़ी मेहनत करने के निर्देश जारी किए गए हैं।

  • राज्य सरकार द्वारा कहा गया है कि 15 अगस्त तक कम से कम 70 गांव में 3163 रजिस्ट्री का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • जल्द ही बचे हुए गांव में ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को उनकी जमीन का मालिकाना हक दिलाने का प्रयास पूरा किया जाएगा।

सरकारी योजनाओं की सूची

About Swamitva Scheme

गांव में किया गया ड्रोन के द्वारा सर्वे

केंद्र सरकार द्वारा आरंभ की गई स्वामित्व योजना के अंतर्गत ड्रोन सर्वे को शुरू कर दिया गया है। अब हर जिले में पटवारियों द्वारा ड्रोन कैमरे की मदद से सर्वे के नक्शे तैयार किए जा रहे हैं। इन नक्शों के तैयार होने के बाद मालिकों को प्रॉपर्टी कार्ड भी मुहैया कराए जाएंगे। ड्रोन के माध्यम से स्वामित्व योजना के तहत प्रत्येक गांव के नक्शे तैयार किए गए हैं। अब इन नक्शों का सत्यापन क्षेत्रीय पटवारी द्वारा किया जा रहा है। स्वामित्व योजना के अंतर्गत नक्शों के सत्यापन के बाद जमीन का मकान मालिकों को प्रॉपर्टी कार्ड मुहैया कराए जाएंगे। सरकार द्वारा बताया गया है कि जिस पर गांव में सर्वे किया जाता है उस गांव के ग्रामीण लोगों को पहले से ही सूचना प्रदान की जाती है।

  • ड्रोन द्वारा सर्वे के माध्यम से नक्शे तैयार करने के बाद उन सभी ग्रामीणों को जानकारी प्रदान की जाती है।
  • यदि जिससे ग्रामीण को अपनी आपत्ति दर्ज करनी होती है वह कम से कम 15 दिन या अधिक से अधिक 40 दिन के भीतर अपनी आपत्ति दर्ज कर सकता है।
  • जमीन के कागजात राजस्व विभाग द्वारा आधिकारिक वेबसाइट पर उपलब्ध कराए जाते हैं जिसे व्यक्ति आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं।

स्वामित्व योजना के मुख्य तथ्य

योजना का नामस्वामित्व योजना 2022
किसके द्वारा आरंभ की गईमाननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
आरंभ तिथि24 अप्रैल 2020
योजना के लाभार्थीदेश के नागरिक
योजना का उद्देश्यभारत को डिजिटलीकरण की ओर ले जाना
योजना का लाभलोगों को उनका संपत्ति विवरण ऑनलाइन उपलब्ध कराना
योजना का लक्ष्यलोन लेने में सुविधा प्रदान करना
मंत्रालयपंचायती राज मंत्रालय
योजना का बजट913.43 करोड़ रुपये
कुल लाभार्थी5.41 गांव शामिल
ईमेल आईडी[email protected]
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन आवेदन
आधिकारिक वेबसाइटsvamitva.nic.in

स्वामित्व योजना का उद्देश्य

जैसे कि हम सब जानते हैं कि हमारे देश के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के पास अपनी जमीन का सटीक विवरण ना उपलब्ध होने पर उन्हें काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और ऐसे में वह लोन प्राप्त करने में असमर्थ रहते हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा स्वामित्व योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को अपनी जमीन का सटीक विवरण ऑनलाइन उपलब्ध कराया जाएगा। इसका उपयोग करके नागरिकों को श्रण और अन्य वित्तीय लाभ प्राप्त करने में किसी प्रकार की कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा।

  • इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि भारत को डिजिटलीकरण की ओर ले जाया जा सके।
  • ताकि लोगों को अपनी संपत्ति के बारे में कोई भी जानकारी हासिल करने में किसी प्रकार की कठिनाई का सामना ना करना पड़े।
  • Swamitva Yojana को हमारे माननीय प्रधानमंत्री जी के सपने को सच में बदलने के लिए शुरू किया गया है।
  • अब देश का प्रत्येक व्यक्ति अपनी संपत्ति का विवरण ऑनलाइन प्राप्त कर सकेगा।

बिहार में स्वामित्व योजना का शुभारंभ

सरकार द्वारा आरंभ की गई स्वामित्व योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को उनकी जमीनों का मालिकाना हक प्रदान करने हेतु संपत्ति कार्ड उपलब्ध कराए जाते हैं। अब तक इस योजना का लाभ ग्रामीण क्षेत्र के 2.50 लाख लोगों को उपलब्ध कराया गया है। इसकी सफलता को देखते हुए हमारे प्रधानमंत्री जी के द्वारा अब Swamitva Yojana को बिहार में आरंभ करने का निर्णय लिया गया है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 24 अप्रैल राष्ट्रीय पंचायत दिवस के शुभ अवसर पर इसे बिहार में आरंभ किया जाएगा। अब बिहार के ग्रामीण क्षेत्र के लोग अपनी संपत्ति के मालिकाना हक के लिए संपत्ति कार्ड प्राप्त कर सकेंगे।

  • केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर जी के द्वारा बताया गया कि स्वामित्व योजना को बिहार के साथ-साथ आंध्र प्रदेश कर्नाटक मध्य प्रदेश हरियाणा महाराष्ट्र उत्तराखंड पंजाब उत्तर प्रदेश और राजस्थान में भी आरंभ किया गया है।
  • जिसके तहत लगभग 4.09 लाख ग्रामीण लोगों को इस योजना का लाभ प्राप्त हुआ है।
  • इस शुभ अवसर पर हमारे प्रिय प्रधानमंत्री द्वारा 30 राज्य व संघ राज्यों की 313 चयनित ग्राम पंचायतों को सम्मानित किया गया है।
स्वामित्व योजना

Central Government Scheme

स्वामित्व योजना के अंतर्गत संपत्ति कार्ड

लोगों को उनकी जमीनों का मालिकाना हक दिलाने के उद्देश्य से शुरू की गई स्वामित्व योजना के अंतर्गत लगभग 2.5 लाख नागरिकों को संपत्ति कार्ड प्रदान किए गए हैं। इस योजना को सरकार द्वारा पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर 9 राज्य जैसे मध्य प्रदेश हरियाणा उत्तर प्रदेश उत्तराखंड कर्नाटक आंध्र प्रदेश पंजाब एवं राजस्थान में आरंभ किया गया है। पीएम स्वामित्व योजना के अंतर्गत अब तक 2.50 लाख कार्ड बांटे जा चुके हैं। आगे उम्मीद है कि सरकार द्वारा इस योजना को देश के अन्य राज्यों में भी आरंभ किया जाएगा और धीरे-धीरे पूरे भारत को डिजिटल इंडिया बनाया जा सकेगा।

  • वर्ष 2021 जनवरी तक गांव का ड्रोन सर्वे भी पूर्ण हो चुका है।
  • एवं 1432 गांव में लगभग ढाई लाख Sampatti Card बांटे जा चुके हैं।
  • साथ साथ गांव के 90% विवादित संपत्तियों का निपटारा भी किया जा चुका है।

What Is Swamitva Scheme?

अक्सर सरकारों के पास गांव के लोगों कि जमीन का कोई भी रिकॉर्ड दर्ज नहीं होता है। ऐसे में ग्रामीण क्षेत्र के नागरिकों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। इसलिए हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा स्वामित्व योजना का शुभारंभ किया गया था। इस योजना के अंतर्गत 11 अक्टूबर 2020 को लगभग 763 गांव में लोगों को मालिकाना हक के कागजात प्रदान किए गए। Property Card का उपयोग करके ग्रामीण क्षेत्र के लोग अपनी जमीन पर मालिकाना हक जता सकेंगे एवं उन्हें लोन प्राप्त करने के लिए किसी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा

  • इस योजना के माध्यम से जमीनों पर चल रहे विवादों से भी छुटकारा प्राप्त होगा।
  • इसके साथ-साथ लोगों को मालिकाना हक के कागजात डिजिटल तरीके से प्रदान किए जाएंगे।
|Sampatti Card| स्वामित्व योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन | संपत्ति कार्ड डाउनलोड

पीएम स्वामित्व योजना का बजट

पंचायती राज मंत्रालय द्वारा स्वामित्व योजना 2021-21 के तहत 913.46 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित कर दिया गया है। इस बजट में से लगभग 564 करोड़ रुपये राष्ट्रीय ग्राम राजस्व अभियान के लिए निकाले गए हैं 200 करोड़ रुपये इस योजना के लिए आवंटन किए गए हैं। पिछले वर्ष पीएम स्वामित्व योजना का बजट लगभग 79.65 करोड़ रुपये रुपया था जिसे अब बढ़ाकर 200 करोड़ रुपये कर दिया गया है। पहले इस योजना को केवल देश के 9 राज्यों में ही आरंभ किया गया था परंतु इसके सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के बाद सरकार द्वारा इसे देश के 16 राज्यों में शामिल कर लिया गया है।

  • इस योजना के अंतर्गत लगभग 130 ड्रोन टीम विभिन्न राज्यों के लिए भारतीय सर्वेक्षण विभाग द्वारा तैनात की गई है।
  • एवं 5 मार्च 2021 में 500 ड्रोन की तैनाती की गई है जिससे भारतीय ड्रोन निर्माण को बढ़ावा भी प्राप्त हुआ है।
partner agencies under swamitva scheme

Swamitva Yojana Continuous Operating Reference Station

इस योजना के अंतर्गत जमीन के मैपिंग और जमीन की जानकारी एकत्रित करने हेतु कंटीन्यूअस ऑपरेटिंग रेफरेंस स्टेशन विभिन्न राज्य जैसे राजस्थान पंजाब हरियाणा और मध्य प्रदेश में स्थापित किए गए हैं। स्टेशनों की संख्या लगभग 210 है परंतु सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है कि 2022 तक लगभग पूरे देश में Swamitva Yojana Continuous Operating Reference Station स्थापित किए जाएंगे। इन स्टेशनों के माध्यम से राज्य के लोग अपनी जमीन से जुड़े पूरे विवरण की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

  • स्वामित्व योजना के अंतर्गत 5.41 ब्लॉक गांव को शामिल किया गया है जिसके लिए सरकार द्वारा 5.66 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित कर दिया गया है
  • 2022 में इस योजना को 16 राज्य में लांच किया जाएगा जिसके लिए 200 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित करने का निर्णय लिया गया है।

पूर्ण देश में लागू होगी प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना

जैसे कि हम सब जानते हैं 2022 में सरकार द्वारा प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना को देश के कुछ राज्यों में आरंभ किया गया है। परंतु 2021-22 यूनियन बजट पेश करते हुए हमारे वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा घोषणा की गई थी कि PM Swamitva Yojana को पूरे देश में लागू किया जाएगा। इस योजना के पहले चरण में उत्तर प्रदेश के प्रत्येक जिले में 20 गांव का चयन किया गया है। और अब इस योजना के अंतर्गत नागरिकों को संपत्ति कार्ड उपलब्ध कराए जाएंगे। उत्तर प्रदेश और हरियाणा में इस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन की सारी तैयारियां हो चुकी हैं के तहत लगभग 1241 गांव में 1.80 लाख संपत्ति कार्ड उपलब्ध कराए जाएंगे।

  • हरियाणा में भी सरकार द्वारा कई गांवों में सर्वे करने के निर्देश प्रदान किए गए थे जिसके तहत अब ड्रोन सर्वे के माध्यम से गांव में सर्वे किया जा रहा है।
  • इस सर्वे की जिम्मेदारी सरकार द्वारा सर्वे ऑफ इंडिया को सौंपी गई है जिसका पूरा खर्च केंद्र सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।
Survey Process Under Swamitva Yojana

Survey Process Under Swamitva Yojana

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के अंतर्गत राज्यों में सर्वे ड्रोन के माध्यम से किए जाते हैं। इस सर्वे प्रक्रिया को सरकार द्वारा कई चरणों में बांटा गया है। सर्वे के बाद गांव के हर घर की जियो टैगिंग की जाती है एवं हर घर को क्षेत्रफल दर्ज किया जाता है। क्षेत्रफल में दर्ज होने के बाद प्रत्येक घर को यूनिक आईडी उपलब्ध कराई जाती है जिसको उस घर के पते के नाम से भी जाना जाता है। इस प्रकार सर्वे पूरे होता है और संपत्ति की संपूर्ण जानकारी डिजिटल हो जाती है। इस योजना के अंतर्गत आप लोगों को लिखित दस्तावेज भी मुहैया कराए जाएंगे जिसके माध्यम से उन्हें जमीन जायदाद के झगड़ों से छुटकारा प्राप्त होगा।

  • इस सर्वे के समय ग्राम पंचायत के सदस्य राजस्व विभाग के अधिकारी गांव के जमीन के मालिक तथा पुलिस टीम मौजूद होती है।
  • यह पूरा सर्वे लोगों के आपसी सहमति से पूरा होता है और सर्वे हो जाने के बाद जमीन पर निशानदेही की जाती है।
  • जमीन के मालिक चूना लगाकर अपने जमीन पर घेरा बना लेता है और इस चीज की तस्वीर भी ले ली जाती है
  • फिर इस निशान का कंप्यूटर के माध्यम से नक्शा तैयार किया जाता है।

स्वामित्व योजना में राज्य सरकार द्वारा बनाए गए नियम

जैसे कि हम सब जानते हैं मालिकाना हक के कागजात राजस्व विभाग द्वारा आधिकारिक वेबसाइट पर जारी कर दिए गए हैं। एवं राज्य सरकारों द्वारा जमीनों के मालिकाना हक के लिए अलग से नए कानून बनाए गए हैं। हरियाणा सरकार द्वारा एक कानून के तहत जमीन की पूरी जवाबदेही ग्राम पंचायत के द्वारा की जाएगी। ऐसी स्थिति में यदि जमीन को लेकर कोई विवाद होता है तो उस विवाद को हल करने की जिम्मेदारी केवल ग्राम पंचायत की ही होगी।

सुल्तानपुर के 653 गांव में आरंभ होगी स्वामित्व योजना

सरकार द्वारा आरंभ की गई स्वामित्व योजना के अंतर्गत राज्य के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को अपनी जमीन का मालिकाना हक प्रदान किया जाता है। अभी तक इस योजना को केवल 10 गांवों में आरंभ किया गया है। इस योजना के दूसरे चरण में सरकार द्वारा 200 गांवों को शामिल किया गया है। पीएम स्वामित्व योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि जमीन के कारण होने वाले विवादों को समाप्त किया जा सके और ड्रोन के मदद से चिन्हित गांव के लोगों को संपत्ति प्रदान की जा सके।

  • इस सर्वे के बाद जमीनों पर होने वाले विवादों को निपटाया जा सकेगा
  • आपत्तियों के निपटने के बाद जमीन का रिपोर्ट राजस्व रिकॉर्ड में दर्ज किया जाएगा।
  • स्वामित्व योजना के माध्यम से अब विवादों में कमी आएगी एवं घर पर नागरिकों को लोन प्रदान किया जाएगा।
  • अब तक इस योजना का कार्य लगभग 653 ग्रामीण इलाकों में शुरू कर दिया गया है जल्द ही देश के बच्चे ग्रामीण क्षेत्रों में भी इस योजना को आरंभ किया जाएगा

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • स्वामित्व योजना को हमारे प्रिय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा 24 अप्रैल 2020 में आरंभ किया गया था।
  • प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि भारत को डिजिटलीकरण बनाया जा सके।
  • इस योजना के माध्यम से लोगों को उनकी जमीन के कागजात डिजिटल रूप में प्रदान किए जाएंगे।
  • सरकार द्वारा इस योजना को देश के लगभग 6 राज्यों में आरंभ कर दिया गया है
  • वर्ष 2024 तक पीएम स्वामित्व योजना को पूरे देश में आरंभ करने का निर्णय लिया गया है
  • इस योजना के अंतर्गत ड्रोन के माध्यम से भूमि की मैपिंग की जाएगी
  • अपनी संपत्ति के कागजात प्राप्त करने के बाद लोगों को लोन लेने में भी किसी प्रकार की कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा
  • इस योजना के माध्यम से देश में भ्रष्टाचार को रोकने में सहायता प्राप्त होगी।
  • प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के माध्यम से संपत्ति नामांकन की प्रक्रिया को सरल बनाया गया है।
  • प्रधानमंत्री द्वारा कहा गया है कि इस योजना के माध्यम से संपदा अधिकारों पर स्पष्ट से सुनिश्चित की जाएगी
  • यदि आप भी Swamitva Yojana के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वहां जाने के बाद आप अपना ऑनलाइन आवेदन करा सकते हैं।
  • एवं घर बैठे ही इंटरनेट के माध्यम से अपने संपत्ति विवरण डाउनलोड कर सकते हैं।
  • इस सुविधा के लिए आपको कहीं बाहर सरकारी कार्यालयों के चक्कर काटने की आवश्यकता भी नहीं पड़ेगी।

स्वामित्व योजना ऑनलाइन आवेदन

देश के जो इच्छुक लाभार्थी प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है

  • स्वामित्व योजना के अंतर्गत आवेदन करवाने हेतु आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है |
स्वामित्व योजना ऑनलाइन आवेदन
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको New Registration के विकल्प पर क्लिक करना है
  • क्लिक करते ही आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आएगा
  • इस फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारी आपको ध्यानपूर्वक दर्ज करनी है
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना है
  • इस प्रकार आप स्वामित्व योजना के अंतर्गत आवेदन कर पाएंगे

Login at svamitva.nic.in

  • लॉगिन करने हेतु आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Login के विकल्प पर क्लिक करना है
Swamitva Yojana at svamitva.nic.in
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने लॉगइन फॉर्म खुलकर आएगा
  • इस पेज पर पूछी गई सभी जानकारी जैसे Username, Password तथा Captcha Code दर्ज करना है।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Login के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आप लॉगिन कर पाएंगे

संपत्ति कार्ड डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • स्वामित्व योजना के अंतर्गत प्रधानमंत्री द्वारा 100000 प्रॉपर्टी मालिकों को एक एसएमएस भेजा जाएगा |
  • मालिकों को उस एसएमएस को ओपन करने की आवश्यकता पड़ेगी
  • एसएमएस खोलने के बाद आपको एक लिंक प्राप्त होगी
  • आपको उस लिंक पर क्लिक करना है
  • लिंक पर क्लिक करने के बाद प्रॉपर्टी कार्ड आपके डिवाइस में डाउनलोड हो जाएगा
  • इसके बाद राज्य सरकारों द्वारा सभी नागरिकों को संपत्ति कार्ड प्रदान किया जाएगा

स्वामित्व योजना ब्राउज़र्स और फ्लायर्स डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • ब्राउज़र और फ्लायर्स डाउनलोड करने हेतु आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Brochures/Flyers के विकल्प पर क्लिक करना है |
स्वामित्व योजना ब्राउज़र्स और फ्लायर्स डाउनलोड करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • इस पेज पर आपको विभिन्न प्रकार के ब्राउज़र और फ्लावर्स प्राप्त होंगे
  • आप इन्हें डाउनलोड के बटन पर क्लिक करके डाउनलोड भी कर सकते हैं।

स्वामित्व योजना गाइडलाइंस डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • गाइडलाइंस डाउनलोड करने हेतु आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Guidelines के विकल्प पर क्लिक करना है
स्वामित्व योजना गाइडलाइंस डाउनलोड करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक पीडीएफ फाइल खुल कर आएगी
  • इस फाइल में आप संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं
  • तथा इसे डाउनलोड के बटन पर क्लिक करके डाउनलोड भी कर सकते हैं
स्वामित्व योजना गाइडलाइंस डाउनलोड करने की प्रक्रिया

स्वामित्व योजना प्रॉपर्टी कार्ड डिस्ट्रीब्यूटेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

  • प्रॉपर्टी कार्ड डिस्ट्रीब्यूटेड रिपोर्ट देखने हेतु आपको आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Reports के सेक्शन में देखना है
  • यहां आपको Property Card Distributed के विकल्प पर क्लिक करना है
स्वामित्व योजना प्रॉपर्टी कार्ड डिस्ट्रीब्यूटेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • इस पेज पर आपके सामने राज्य की सूची खुलकर आएगी
  • यहां आपको अपने राज्य का चयन करना है
  • राज्य का चयन करने के बाद आपके सामने तहसील की सूची खुलकर आएगी
  • आपको अपने तहसील का चयन करना है
  • तहसील का चयन करने के बाद आपके सामने विलेज लिस्ट खुलकर आएगी
  • आपको अपने विलेज का चयन करना है
  • चयन करने के बाद आपके सामने संबंधित जानकारी खुलकर आ जाएगी

फाइनल मैप जेनरेटेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

  • फाइनल मैच जेनरेटेड रिपोर्ट देखने हेतु आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Reports के सेक्शन में देखना है
  • यहां आपको Final Map Generated Details के विकल्प पर क्लिक करना है
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा
  • इस पेज पर आपको राज्य का चयन करना है
  • राज्य का चयन करने के बाद आपको तहसील का चयन करना है
  • तहसील का चयन करने के बाद आपको विलेज का चयन करना है
  • इस प्रकार आपके सामने संबंधित जानकारी खुलकर आ जाएगी।

स्वामित्व योजना डाटा प्रोसेसिंग कंप्लीटेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

  • डाटा प्रोसेसिंग कंप्लीटेड रिपोर्ट देखने हेतु आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Reports के सेक्शन में देखना है
  • यहां आपको Data Processing Completed विकल्प पर क्लिक करना है
स्वामित्व योजना डाटा प्रोसेसिंग कंप्लीटेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • इस पेज पर आपको अपने राज्य का चयन करना है
  • राज्य का चयन करने के बाद आपको डिस्ट्रिक्ट का चयन करना है
  • डिस्ट्रिक्ट का चयन करने के बाद आपको तहसील का चयन करना है
  • तहसील का चयन करने के बाद आपको विलेज का चयन करना है
  • इस प्रकार आपके सामने डाटा प्रोसेसिंग रिपोर्ट खुलकर आ जाएगी

चुना मार्किंग कंप्लीटेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

  • चूना मार्किंग कंप्लीटेड रिपोर्ट देखने हेतु आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Reports के सेक्शन में देखना है
  • यहां आपको Chunna Marking Completed के विकल्प पर क्लिक करना है
चुना मार्किंग कंप्लीटेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • इस पेज पर आपको राज्य का चयन करना है
  • राज्य का चयन करने के बाद आपको डिस्टिक का चयन करना है
  • डिस्टिक का चयन करने के बाद आपको तहसील का चयन करना है
  • इस प्रकार आपके सामने संबंधित जानकारी खुलकर आ जाएगी।

प्रॉपर्टी कार्ड प्रीपेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

  • प्रॉपर्टी कार्ड प्रीपेड रिपोर्ट देखने हेतु आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Reports के सेक्शन में देखना है
  • यहां आपको Property Card Prepared विकल्प पर क्लिक करना है
प्रॉपर्टी कार्ड प्रीपेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • इस पेज पर आपको राज्य का चयन करना है
  • राज्य का चयन करने के बाद आपको डिस्टिक का चयन करना है
  • डिस्टिक का चयन करने के बाद आपको तहसील का चयन करना है
  • इस प्रकार आपके सामने संबंधित जानकारी खुलकर आ जाएगी।

स्वामित्व योजना इंक्वायरी प्रोसेस कंप्लीटेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

  • इंक्वायरी प्रोसेस कंप्लीटेड रिपोर्ट देखने हेतु आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Reports के सेक्शन में देखना है
  • यहां आपको Enquiry Process Completed के विकल्प पर क्लिक करना है
स्वामित्व योजना इंक्वायरी प्रोसेस कंप्लीटेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • इस पेज पर आपको राज्य का चयन करना है
  • राज्य का चयन करने के बाद आपको डिस्टिक का चयन करना है
  • डिस्टिक का चयन करने के बाद आपको तहसील का चयन करना है
  • इस प्रकार आपके सामने संबंधित जानकारी खुलकर आ जाएगी।

स्वामित्व योजना ड्रोन सर्वे कंप्लीटेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

  • ड्रोन सर्वे कंप्लीटेड रिपोर्ट देखने हेतु आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Reports के सेक्शन में देखना है
  • यहां आपको Drone Survey Completed के विकल्प पर क्लिक करना है
स्वामित्व योजना ड्रोन सर्वे कंप्लीटेड रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • इस पेज पर आपको राज्य का चयन करना है
  • राज्य का चयन करने के बाद आपको डिस्टिक का चयन करना है
  • डिस्टिक का चयन करने के बाद आपको तहसील का चयन करना है
  • इस प्रकार आपके सामने संबंधित जानकारी खुलकर आ जाएगी।

स्वामित्व योजना डाटा एंट्री स्टेटस फॉर ड्रोन रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

  • डाटा एंट्री स्टेटस फॉर ड्रोन रिपोर्ट देखने हेतु आपको स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट पर जाते ही आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको Reports के सेक्शन में देखना है
  • यहां आपको Data Entry Status For Drone Report के विकल्प पर क्लिक करना है
स्वामित्व योजना डाटा एंट्री स्टेटस फॉर ड्रोन रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • इस पेज पर आपको राज्य का चयन करना है
  • राज्य का चयन करने के बाद आपको डिस्टिक का चयन करना है
  • डिस्टिक का चयन करने के बाद आपको तहसील का चयन करना है
  • इस प्रकार आपके सामने संबंधित जानकारी खुलकर आ जाएगी।

Contact Information

हमने आपको अपने इस लेख के माध्यम से स्वामित्व योजना से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्रदान कर दी है। यदि आपको इस योजना से संबंधित किसी भी प्रकार की कठिनाई का सामना करना पड़ता है या मन में कोई भी प्रश्न आता है। तो आप नीचे दिए गए ईमेल पर संपर्क कर सकते हैं। आपको अपनी समस्या का समाधान प्राप्त हो जाएगा।

Leave a Comment