|UP| भाग्यलक्ष्मी योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म लाभ व पात्रता

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना ऑनलाइन आवेदन | UP Bhagya Laxmi Yojana Online Registration | भाग्यलक्ष्मी योजना एप्लीकेशन फॉर्म लाभ व पात्रता | Apply Online Bhagya Laxmi Yojana |

उत्तर प्रदेश राज्य से लिंग अनुपात को खत्म करने एवं गरीब परिवार की लड़कियों को आर्थिक सहायता प्रदान करने हेतु राज्य सरकार द्वारा भाग्यलक्ष्मी योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से कन्या भ्रूण हत्या जैसे अपराधों को रोका जाएगा एवं लड़कियों को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाया जाएगा। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से भाग्यलक्ष्मी योजना 2022 से जुड़ी संपूर्ण जानकारी जैसे उद्देश्य लाभ विशेषताएं पात्रता एवं आवेदन की प्रक्रिया स्पष्ट करने जा रहे हैं। UP Bhagya Laxmi Yojana से संबंधित जानकारी प्राप्त करने हेतु हमारे इस लेख को विस्तार पूर्वक पढ़ें।

UP Bhagya Laxmi Yojana

इस योजना की शुरूआत उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गरीब परिवार की बेटियों को उनके जन्म होने पर आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए की गई है। इस योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा बेटी के जन्म होने पर 50,000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करेंगी एवं बेटी की मां को 5100 रुपये प्रोत्साहन राशि के रूप में प्रदान किए जाएंगे। UP Bhagya Laxmi Yojana के तहत मिलने वाली धनराशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में हस्तांतरित की जाएगी। ना केवल जन्म होने पर बल्कि बालिका के छठी कक्षा में आ जाने पर उसके माता-पिता को 3,000 रुपये, आठवीं कक्षा में आ जाने पर 5,000 रुपये, दसवीं कक्षा में आने पर 7,000 रुपये एवं 12वीं कक्षा में आने पर 8,000 रुपये की धनराशि मुहैया कराई जाएगी। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि राज्य से लिंग अनुपात को कम किया जा सके।

  • साथ ही साथ इस योजना के तहत यदि लड़की 21 वर्ष की आयु प्राप्त करती है तो लड़की के माता-पिता को 200000 रुपये की धनराशि इतनी सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य की बेटियां आत्मनिर्भर व सशक्त बनेगी एवं उन्हें किसी भी प्रकार की कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा ‌
  • यदि आप भी भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको जल्द से जल्द इस योजना के तहत आवेदन करना होगा।

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के मुख्य तथ्य

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के मुख्य तथ्य कुछ इस प्रकार:-

योजना का नामयूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2022
किसके द्वारा शुरू की गईउत्तर प्रदेश सरकार द्वारा
योजना के लाभार्थीराज्य की बालिकाएं
विभागमहिला और बाल विकास विभाग
योजना का उद्देश्यबालिकाओं को आर्थिक सहायता प्रदान करना
जन्म लेने पर आर्थिक सहायता50,000 रुपये
छठी कक्षा में प्रवेश पर6,000 रुपये
आठवीं कक्षा में प्रवेश पर5,000 रुपये
दसवीं कक्षा में प्रवेश पर7,000 रुपये
12वीं कक्षा में प्रवेश पर8,000 रुपये
21 वर्ष की आयु होने पर2 लाख रुपये
आवेदन की प्रक्रियाऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइटmahilakalyan.up.nic.in

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना का उद्देश्य

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण निजी क्षेत्र में बेटियों को पहले ही मार दिया जाता है। और इस कारण देश से लड़कियों की संख्या कम हो रही है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से लिंगानुपात के कारण होने वाली लड़कियों की भ्रूण हत्या को रोका जाएगा। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि राज्य की लड़कियों को जीवन प्रदान किया जाए और लड़कियों को लेकर लोगों की नकारात्मक सोच को खत्म किया जा सके।

  • इस योजना के माध्यम से बेटियों के जीवन स्तर में काफी सुधार पैदा होगा एवं वह अपनी पढ़ाई भी अच्छे से कर सकेंगे।
  • उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत लड़की के जन्म से लेकर उनकी पढ़ाई तक के लिए सहायता राशि उपलब्ध कराई जाएगी।
  • साथ ही साथ सरकार द्वारा उनके विभाग के समय विशेष ध्यान दिया जाएगा ताकि उन्हें किसी भी प्रकार की आर्थिक तंगी का सामना ना करना पड़े।

सुकन्या समृद्धि योजना

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना 2022

बेटियों को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाने के उद्देश्य से शुरू की गई यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत उन्हें लाभ पहुंचाने के लिए आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाती है। इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के बाद राज्य की बेटियां एक अच्छा जीवन व्यतीत कर पाती हैं। उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत केवल बीपीएल परिवार के तहत आने वाली लड़कियों को ही शामिल किया गया है। राज्य की वह सभी बेटियां जिनकी वार्षिक आय 2 लाख से कम है उन्हें इस योजना के तहत लाभान्वित किया जाएगा। साथ ही साथ इस योजना के माध्यम से राज्य की लड़कियां अपनी पढ़ाई पूरी करने में सक्षम रहेंगे।

  • यदि आप भी इसी योजना के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो आपको जल्द से जल्द इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना होगा।
  • इस योजना के तहत आवेदन पत्र प्राप्त करने के बाद आप अपने नजदीकी महिला कल्याण विभाग के कार्यालय में जमा कर सकते हैं।

भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत वित्तीय धनराशि

इस योजना के तहत प्रदान की जाने वाली वित्तीय धनराशि कुछ इस प्रकार है:-

कक्षाएंवित्तीय धनराशि
छठी कक्षा3,000 रुपये
आठवीं कक्षा5,000 रुपये
दसवीं कक्षा7,000 रुपये
बारवीं कक्षा8,000 रुपये

Benefits Of UP Bhagya Laxmi Yojana

सरकार द्वारा आरंभ की गई यूपी भाग्यलक्ष्मी के लाभ इस प्रकार हैं:-

  • इस योजना का लाभ बीपीएल परिवार एवं आर्थिक रूप से कमजोर ‌ बेटियों को प्रदान किया जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत बेटी के जन्म होने पर 50,000 रुपये की धनराशि सीधे उनके बैंक खाते में जमा की जाएगी एवं मां को प्रोत्साहित करने हेतु उन्हें 5100 रुपये की आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत यदि बालिका छठी कक्षा में प्रवेश लेती है तो उसे 3,000 रुपये की आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाएगी।
  • लड़की के आठवीं कक्षा में प्रवेश लेने पर 5,000 रुपये से लाभान्वित किया जाएगा।
  • यदि बालिका दसवीं कक्षा में पहुंच जाती है तो उसे 7,000 रुपये की धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान की जाएगी।
  • एवं 12वीं कक्षा में प्रवेश लेने पर बालिकाओं को 8,000 रुपये का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • यदि कोई बालिका 21 वर्ष की उम्र तक पहुंच जाती है तो ऐसे में इस योजना के तहत उसके माता-पिता को 2 लाख रुपये की एकमुश्त धनराशि से लाभान्वित किया जाएगा।
  • एक परिवार के केवल दो बालिकाओं को ही इस योजना से लाभान्वित किया जाएगा।
  • UP Bhagya Laxmi Yojana के तहत शिक्षा बालिकाओं को केवल सरकारी शिक्षण संस्थान में ही प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य की बेटियां आत्मनिर्भर व सशक्त बनेगी।
  • भाग्यलक्ष्मी योजना को आरंभ करने का मुख्य लक्ष्य है के यूपी राज्य से लिंग अनुपात को कम किया जाए।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत विशेषताएं

भाग्यलक्ष्मी योजना से संबंधित विशेषताएं निम्नलिखित है:-

Step-1st
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य की गरीब बालिकाओं को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए शुरू की गई है।
  • इस योजना के माध्यम से बालिकाओं को उनके जन्म से लेकर पढ़ाई पूरी करने तक आर्थिक सहायता मुहैया कराई जाएगी।
  • इस योजना को आरंभ करने का मुख्य लक्ष्य है कि राज्य से लड़कियों की भ्रूण हत्या को खत्म किया जा सके ताकि राज्य की लड़कियां आत्मनिर्भर व सशक्त बने।
  • UP Bhagya Laxmi Yojana के तहत बालिका के जन्म होने पर 50,000 रुपये की धनराशि मुहैया कराई जाएगी एवं बालिका को जन्म देने वाली मां को 5,100 रुपये आर्थिक सहायता के रूप में मुहैया कराए जाएंगे।
  • इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि धनराशि प्राप्त कर राज्य की बालिकाएं अपना जीवन स्तर ऊपर उठाएं।
  • इस योजना के तहत बेटियों को उनके कक्षा 6 में एडमिशन प्राप्त करने पर 3,000 रुपये मुहैया कराए जाएंगे।
  • यदि बालिका आठवीं कक्षा में प्रवेश लेती है तो ऐसी स्थिति में उसे 5,000 रुपये उपलब्ध कराए जाएंगे।
  • एवं दसवीं कक्षा में प्रवेश लेने पर इस योजना के तहत बालिका को 7,000 रुपये आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान किए जाएंगे।
  • यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत यदि बालिका 12वीं कक्षा में प्रवेश लेती है तो उसे 8,000 रुपये उपलब्ध कराए जाएंगे।
Step-2nd
  • सरकार द्वारा इस योजना के तहत लड़की के 21 वर्ष की आयु पूर्ण करने पर 2 लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है की आर्थिक सहायता प्राप्त कर बेटियों के जीवन में सुधार पैदा हो।
  • राज्य की बेटियां अब आत्मनिर्भर एवं सशक्त रहेंगे उन्हें किसी भी प्रकार की आर्थिक तंगी का सामना नहीं करना पड़ेगा।
  • इस योजना के तहत बालिकाओं को शिक्षा केवल सरकारी शिक्षण संस्थान में ही प्रदान की जाएगी।
  • यदि आप भी Bhagya Laxmi Yojana के तहत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको अपने नजदीकी आंगनवाड़ी केंद्र या महिला कल्याण विभाग कार्यालय में जाना होगा।

Eligibility Criteria Under Bhagya Lakshmi Yojana

इस योजना के तहत आवेदन करने हेतु आपको निम्नलिखित पात्रता को पूरा करना होगा:-

  • आवेदक उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक के परिवार की वार्षिक आय 2 लाख रुपये से कम होनी चाहिए।
  • Bhagya Lakshmi Yojana के तहत लड़की की शादी 18 वर्ष से कम उम्र में नहीं होनी चाहिए।
  • जन्म होने पर जन्म प्रमाण पत्र के लिए 1 वर्ष तक नामांकन किया जा सकता है।
  • परिवार 31 मार्च 2006 के बाद गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहा हो तभी बालिका इस योजना के पात्र हैं।
  • बच्चे का स्वास्थ्य विभाग से रोग प्रत्याशी करना आवश्यक है।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत महत्वपूर्ण दस्तावेज

आवेदन करने हेतु आपको नीचे दिए गए दस्तावेजों का उपयोग करना होगा:-

  • आधार कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता पासबुक
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना ऑनलाइन आवेदन

राज्य के जो इच्छुक बालिकाएं इस योजना के तहत आवेदन करना चाहती हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना ऑनलाइन आवेदन
उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना ऑनलाइन आवेदन form pdf
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने पीडीएफ फाइल खुल कर आएगी
  • इस फाइल में आपको आवेदन पत्र प्राप्त होगा।
  • आप को आवेदन पत्र का प्रिंट आउट निकालना है।
  • प्रिंटआउट प्राप्त करने के बाद इसमें पूछी गई सभी जानकारी आपको ध्यान पूर्वक दर्ज करनी है।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद अपने सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अटैच करना है।
  • दस्तावेज अटैच करने के बाद आपको आवेदन पत्र अपने नजदीकी आंगनवाड़ी केंद्र या महिला कल्याण विभाग के कार्यालय में जमा कर देना है।
  • अधिकारी द्वारा आपके फार्म का सत्यापन किया जाएगा।
  • सफलतापूर्वक सत्यापन के बाद आपको इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

संपर्क करें

यदि आपको इस योजना से संबंधित कोई भी कठिनाई या मन में कोई भी प्रश्न आता है तो आप नीचे दिए गए तरीके से संपर्क विवरण को खोज सकते हैं:-

  • संपर्क करने हेतु  आपको महिला एवं बाल विकास विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होंगे खुलकर आएगा
  • इस होम पेज पर आपको संपर्क करें के विकल्प पर क्लिक करना है।
भाग्यलक्ष्मी योजना Contact Information
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा
  • इस पेज पर आपको संपर्क विवरण प्राप्त हो जाएगा।
  • आप संपर्क विवरण का उपयोग कर अपनी समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते हैं।

Leave a Comment